अपना शहर चुनें

States

ईरान के पक्ष में सामने आया रूस, कहा- अशांति फैलाने के लिए कराई गई वैज्ञानिक की हत्या

वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़रीज़ादेह की हत्या के मामले में रूस ने ईरान का पक्ष लिया. (फोटो- AP)
वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़रीज़ादेह की हत्या के मामले में रूस ने ईरान का पक्ष लिया. (फोटो- AP)

Mohsen Fakhrizadeh Murder: रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लैवरोव (Russian Foreign Minister Sergei Lavrov) ने कहा, "हम वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़रीज़ादेह की हत्या की निंदा करते हैं. हम इसे एक उकसाने वाली आतंकवादी हरकत और क्षेत्र में अशांति फैलाने की कोशिश के तौर पर देखते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2020, 1:21 PM IST
  • Share this:
मॉस्को/तेहरान. ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़रीज़ादेह की हत्या (Mohsen Fakhrizadeh Muredr) के मामले में रूस (Russia) ने खुलकर ईरान (Iran) का पक्ष लिया है. रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लैवरोव (Russian Foreign Minister Sergei Lavrov) ने कहा है कि रूस ईरानी परमाणु वैज्ञानिक की हत्या इस क्षेत्र में अशांति फैलाने के मकसद से की गयी है. सर्गेई ने ईरान और रूस को 'दुनिया के न्यू वर्ल्ड ऑर्डर' में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले "दो अहम देश" बताया है.

ईरान के सरकारी टीवी नेटवर्क वन को दिए इंटरव्यू में सर्गेई लैवरोव ने कहा, "हम वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़रीज़ादेह की हत्या की निंदा करते हैं. हम इसे एक उकसाने वाली आतंकवादी हरकत और क्षेत्र में अशांति फैलाने की कोशिश के तौर पर देखते हैं. ये विदेशी सरकारों की दखल का भी मुद्दा है.' उन्होंने 3 जनवरी को हुई लेफ्टिनेंट जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का भी जिक्र किया और कहा कि, "ये किसी भी देश के लिए अस्वीकार्य है." कुद्स फ़ोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या इराक़ में अमेरिकी ड्रोन हमले में हुई थी. अमरीका ने उन्हें और उनकी क़ुद्स फ़ोर्स को सैकड़ों अमरीकी नागरिकों की मौत का ज़िम्मेदार क़रार देते हुए 'आतंकवादी' घोषित कर रखा था.

रूस और ईरान को बताया अहम सहयोगी
इंटरव्यू में एक जगह पर वो ईरान और रूस के बीच सहयोग की बात पर ज़ोर देते हैं. वो कहते हैं, "ईरान के साथ हमारा आपसी सहयोग जिस स्तर पर है वैसा किसी भी देश के साथ नहीं है. कोरोना महामारी के वक्त भी हमारा आपसी व्यापार बढ़ा है, कम नहीं हुआ है." उन्होंने यह भी बताया कि ईरान के साथ 2019 में 20 फ़ीसद व्यापार बढ़ा तो महामारी के दौरान इसमें और आठ फ़ीसद की बढ़ोत्तरी हुई है. उन्होंने ज़ोर दे कर कहा कि ईरान और यूरेशिया के बीच 2019 में हुए व्यापार समझौतों ने ईरान को बड़े बाज़ार के लिए अवसर मुहैया कराए.
सर्गेई लैवरोव ने 2015 में परमाणु समझौते से हटने के लिए अमेरिका की आलोचना की, साथ ही मुक्त व्यापार में डॉलर को हटाने की अहमियत पर भी ज़ोर दिया है. ईरान की बैंकिंग सेक्टर पर पाबंदियाँ लगी हुई हैं और इसकी वजह से वो विदेशों के साथ व्यापार में डॉलर का इस्तेमाल नहीं कर सकता है. ईरान की राजधानी तेहरान से सटे शहर अबसार्ड में बंदूकधारियों ने घात लगाकर हमला कर देश के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़रीज़ादेह की हत्या कर दी गई थी. ईरान के नेताओं ने इस हत्या के लिए इसराइल को दोषी ठहराया है और कहा कि इसका बदला लिया जाएगा.



सैटेलाइट गन से की गयी हत्या
बता दें कि परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की हत्या को लेकर इस्लामिक रेवलूशन गार्ड्स कॉर्प्स (IRGC) के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल रमजान शरीफ ने सनसनीखेज दावा किया था. शरीफ का कहना है कि मोहसिन की हत्या सैटलाइट से कंट्रोल किए गए हथियार से की गई थी. फखरीजादेह देश के परमाणु कार्यक्रम के पीछे सबसे बड़ी ताकत माने जाते थे.

रिपोर्ट्स के मुताबिक फखरीजादेह की हत्या रिमोट-कंट्रोल हथियार से की गई थी. यह उनसे 150 मीटर दूर खड़ी गाड़ी में लगा था. इस बात की पुष्टि बाद में की गई थी कि घटनास्थल पर कोई और शख्स मौजूद नहीं था. शरीफ ने कहा है कि हत्या को अडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट से अंजाम दिया गया जिसे सैटलाइट से कंट्रोल किया जा रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज