रूस: जेल में सजा काट रहे विपक्षी नेता नवलनी की हालात बिगड़ी, वकील ने दी जानकारी

नवलनी को जेल में भेजे जाने का आदेश दिए जाने से अंतरराष्ट्रीय समुदाय में रूस की निन्दा की जा रही है. (फोटो साभारः न्यूज18 इंग्लिश)

नवलनी को जेल में भेजे जाने का आदेश दिए जाने से अंतरराष्ट्रीय समुदाय में रूस की निन्दा की जा रही है. (फोटो साभारः न्यूज18 इंग्लिश)

Russia latest news: वकील ओल्गा वोल्कोवा ने कहा कि हाल के दिनों में नवलनी की स्वास्थ्य स्थिति काफी खराब हो गई है. उन्होंने कहा, वह (नवलनी) पीठ और दाहिने पैर में दर्द की समस्या का सामना कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 2:00 AM IST
  • Share this:
मॉस्को. रूस (Russia) के विपक्षी नेता एलेक्सेई नवलनी (Alexei Navalny) के वकील ने गुरुवार को कहा कि जेल में उनके मुवक्किल की स्वास्थ्य स्थिति बिगड़ गई है और वह पीठ तथा पैरों में दर्द की समस्या का सामना कर रहे हैं. वकील ओल्गा वोल्कोवा ने कहा कि हाल के दिनों में नवलनी की स्वास्थ्य स्थिति काफी खराब हो गई है.

उन्होंने कहा, वह (नवलनी) पीठ और दाहिने पैर में दर्द की समस्या का सामना कर रहे हैं. वह अपने दाहिने पैर के निचले हिस्से में संवेदनशून्यता महसूस कर रहे हैं. नवलनी को जेल में भेजे जाने का आदेश दिए जाने से अंतरराष्ट्रीय समुदाय में रूस की निन्दा की जा रही है. बोरेल ने मॉस्को में लैवरोव के साथ बैठक से पहले कहा, निश्चित तौर पर, हमारे संबंध तनाव से गुजर रहे हैं और नवलनी का मामला हमारे संबंधों में एक निम्न बिन्दु है. भ्रष्टाचार रोधी जांच जांचकर्ता एवं रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आलोचक नवलनी को जर्मनी से रूस लौटने के बाद पिछले महीने गिरफ्तार कर लिया गया था.

पांच महीने तक जर्मनी में थे नवलनी
नवलनी ने नर्व एजेंट विष हमले के बाद उपचार के लिए पांच महीने जर्मनी में गुजारे थे. उनका आरोप है कि उनपर विष हमला करने में क्रेमलिन का हाथ है, जिसे रूसी अधिकारी खारिज करते रहे हैं. बोरेल ने बैठक के बाद कहा कि उन्होंने नवलनी को जेल में डाले जाने तथा उनकी तरफ से प्रदर्शन करनेवाले हजारों लोगों को गिरफ्तार किए जाने पर लैवरोव को अपनी चिंताओं से अवगत कराया.
ये भी पढ़ेंः- डेनमार्कः एस्ट्राजेनेका कोरोना वैक्‍सीन पर लगी रोक 3 हफ्तों तक और बढ़ी, जानें वजह



यूरोपीय संघ के अधिकारी ने यह भी कहा कि उन्होंने लैवरोव को नवलनी की रिहाई तथा उनपर अगस्त में हुए विष हमले की जांच के लिए यूरोपीय संघ के समर्थन से भी अवगत कराया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज