Home /News /world /

रूस ने बताया- इस साल मिल जाएगा भारत को S-400 मिसाइल सिस्टम

रूस ने बताया- इस साल मिल जाएगा भारत को S-400 मिसाइल सिस्टम

पुतिन का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब इस सौदे को लेकर अमेरिका की तरफ से चेतावनी दी जा रही है. (फाइल फोटो)

पुतिन का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब इस सौदे को लेकर अमेरिका की तरफ से चेतावनी दी जा रही है. (फाइल फोटो)

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (BRICS Summit) के इतर व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने कहा, जब एस-400 की आपूर्ति की बात आती है तो सब कुछ तय योजना के मुताबिक होगा. हर हाल में 2023 तक इस प्रणाली की आपूर्ति भारत को कर दी जाएगी.

    ब्रासीलिया. रूसी राष्ट्रपति (Russian president) व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने कहा कि रूस (Russia) की भारत को सतह से हवा में मार करने वाली ‘एस-400 मिसाइल सिस्टम की आपूर्ति तय कार्यक्रम के मुताबिक करने की योजना है.

    भारत ने 2015 में सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल सिस्टम ‘एस-400 ‘ट्रिम्फ’ को हासिल करने की इच्छा जाहिर की थी. राष्ट्रपति पुतिन के पिछले साल हुए भारत दौरे के दौरान 5.43 अरब अमेरिकी डालर के इस करार पर दस्तखत किए गए थे. रूस की आधिकारिक समाचार एजेंसी ताश ने पुतिन को उद्धृत करते हुए कहा, ‘भारतीय समकक्ष (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) ने किसी भी चीज में तेजी लाने को नहीं कहा क्योंकि सब कुछ ठीक चल रहा है.’

    विरोधियों से निपटने के कानून के तहत भारत पर प्रतिबंध लगाने की दी चेतावनी
    रूस के साथ ‘एस-400’ सौदे का अमेरिका विरोध कर रहा है और ट्रंप प्रशासन ने धमकी दी थी कि वह रूस से हथियार और सैन्य सामग्री हासिल करने वाले राष्ट्रों पर पाबंदी लगाएगा. अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों ने भारत को चेताया था कि अमेरिका के विरोधियों से निपटने के कानून (सीएएटीएसए) के तहत एस-400 सौदे को लेकर उस पर प्रतिबंध लग सकता है. यह कानून रूस, ईरान और उत्तर कोरिया से रक्षा खरीद पर रोक लगाता है.

    यूएस को बता चुका है भारत, रद्द नहीं की जाएगी रूस से मिसाइल सिस्टम की खरीद
    भारत ने हालांकि अमेरिका को बता दिया था कि रूसी ‘एस-400 वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम’ की खरीद को रद्द करने का उसका कोई इरादा नहीं है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जून में अपने अमेरिकी समकक्ष माइक पोम्पियो को दिल्ली में बताया था कि दूसरे देशों से लेन देन करते समय भारत अपने राष्ट्रीय हितों को ध्यान में रखेगा.

    2023 तक हर हाल में भारत को मिल जाएगी मिसाइल सिस्टम
    एस-400 लंबी दूरी की अत्याधुनिक वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम है जो 2007 से रूस में सेवा में है. एस-400 400 किलोमीटर की दूरी और 30 किलोमीटर की ऊंचाई तक लक्ष्य पर निशाना साध सकती है. अधिकारी ने कहा, अनुबंध के क्रियान्वयन की शर्तें सबको पता हैं, 2023 तक हर हाल में इस प्रणाली की भारत को आपूर्ति की जानी है.

    ये भी पढे़ं - 

    चिन्मयानंद मामला: सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश पर लगाई रोक

    BHU के छात्रों का धरना समाप्त, 30 घण्टों के बाद खुला विश्वविद्यालय का मुख्य द्वारundefined

    Tags: America, India russia, Russia, S Jaishankar, Vladimir Putin

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर