रूस में कोरोना वायरस से 101 डॉक्टर्स की मौत, पुतिन ने कहा- गुजर गया बुरा वक़्त

रूस में कोरोना वायरस से 101 डॉक्टर्स की मौत, पुतिन ने कहा- गुजर गया बुरा वक़्त
पुतिन ने कहा- कोरोना का सबसे बुरा दौर गुजर गया है.

रूस (Russia) की सरकार ने माना है कि 101 से ज्यादा मेडिकल कर्मियों की कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से मौत हो गयी है. हालांकि डॉक्टर्स की सबसे बड़ी संस्था ने 300 मेडिकल कर्मियों की एक लिस्ट बनायी है जिनकी संक्रमण से मौत हुई है. इस लिस्ट में 100 से ज्यादा डॉक्टर्स के नाम हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मॉस्को. रूस (Russia) में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने कोहराम मचाया हुआ है. रूस में संक्रमण के 360,000 से अधिक मामले हैं और 3,807 लोगों की मौत हो चुकी है. रूस की सरकार ने माना है कि 101 से ज्यादा मेडिकल कर्मियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो गयी है. हालांकि डॉक्टर्स की सबसे बड़ी संस्था ने 300 मेडिकल कर्मियों की एक लिस्ट बनायी है जिनकी संक्रमण से मौत हुई है. इस लिस्ट में 100 से ज्यादा डॉक्टर्स के नाम हैं. उधर रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन (Vladimir Putin)  ने कहा है कि देश में कोरोना संक्रमण का सबसे बुरा दौर गुजर चुका है और जल्द ही मामले कम होने लगेंगे.

अमेरिका और ब्राजील के बाद रूस दुनिया का तीसरा देश है जो कोविड-19 से सबसे अधिक प्रभावित है. देश में कम मृत्यु दर ने विशेषज्ञों के बीच संदेह पैदा कर दिया है कि उनका मानना है कि अधिकारियों ने आंकड़ों में हेरफेर किया है और राजनीतिक कारणों से मरने वाले लोगों की असल संख्या छुपाई है. रूस के अधिकारियों ने मंगलवार को इन आरोपों को खारिज कर दिया और दलील दी कि कम मृत्यु दर इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए उठाए प्रभावी कदमों को दर्शाती है.

24 जून को होगी विक्ट्री डे परेड
पुतिन ने मंगलवार को ऐलान किया कि 9 मई हो आयोजित होने वाली 'विक्ट्री डे परेड' अब 24 जून को आयोजित की जाएगी. पुतिन ने कहा कि कोरोना संक्रमण का सबसे बुरा दौर गुजर गया है और हमें इसका जश्न मनाना चाहिए. ये विक्ट्री डे परेड सोवियत रूस की नाज़ी जर्मनी पर विजय के तौर पर मनाई जाती है. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान साल 1945 में इसी दिन नाजी जर्मनी ने रूस के सामने घुटने टेक दिए थे. पुतिन ने कहा कि इस साल हम कोरोना पर विक्ट्री का जश्न मनाएंगे. पुतिन ने इस जश्न की तैयारी के आदेश भी जारी कर दिए हैं.



आमतौर पर रूस में विजय दिवस के मौक़े पर मॉस्को के रेड स्क्वेयर पर जवान, पूर्व सैनिक, ऐतिहासिक रेड आर्मी के वाहन और आधुनिक सैन्य साज़ो-सामान देखने को मिलते हैं. इन सबके बजाय रूस ने क्रेमलिन के ऊपर से सैन्य वायु यान की उड़ान और माल्यार्पण समारोह आयोजित किया था. अब राष्ट्रपति पुतिन ने अपने रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने निर्देश दिए हैं कि वो अगले महीने इस समारोह की तैयारी करें. उन्होंने अपने मंत्री से मंगलवार को कहा, “हम इसे 24 जून को करेंगे, उस दिन जब 1945 में दिग्गज विजेताओं की परेड हुई थी.” विजय दिवस समारोह पूर्व सोवियत देशों के लिए ख़ास मौक़ा होता है, द्वितीय विश्व युद्ध में इसमें सभी देशों के 2.6 करोड़ लोग मारे गए थे.



 

ये भी पढ़ें: 

सामने आई WHO और चीन की मिलीभगत, चीनी प्रेसिडेंट की पत्नी WHO में अहम पद पर

कश्मीर में पकड़ाया पाकिस्तानी जासूस कबूतर, जानिए कैसे कराई जाती है इनसे जासूसी

रिजर्व बैंक से तिगुना सोना है मंदिरों के पास, क्या कोरोना से निपटने के लिए काफी होगा इतना सोना?
First published: May 27, 2020, 1:23 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading