होम /न्यूज /दुनिया /रूस ने घातक हाइपरसोनिक मिसाइल जिरकॉन का किया सफल परीक्षण, यूक्रेन ने पश्चिम देशों से मांगी मदद

रूस ने घातक हाइपरसोनिक मिसाइल जिरकॉन का किया सफल परीक्षण, यूक्रेन ने पश्चिम देशों से मांगी मदद

पिछले महीने रूस ने सरमत मिसाइल का सफल परीक्षण किया था. (फाइल फोटो)

पिछले महीने रूस ने सरमत मिसाइल का सफल परीक्षण किया था. (फाइल फोटो)

Russia ukraine War, Russia Hypersonic Missile Zircon: यूक्रेन पर रूस के हमले को तीन महीने से अधिक का वक्त बीत गया है ले ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध (Russia Ukraine War) को तीन महीने से ज्यादा का समय बीत चुका है. युद्ध को लेकर दोनो ही देश अपने अपने दावे कर रहे हैं. यूक्रेन से युद्ध के बीच रूस ने शनिवार को घातक हाइपरसोनिक मिसाइल जिरकॉन (Hypersonic Missile Zircon) का सफल परीक्षण किया है. यह जानकारी समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने दी. एजेंसी ने रूसी रक्षा मंत्रालय के संचार का हवाला देते हुए कहा कि इस हाइपरसोनिक मिसाइल को बैरेंट्स से दागा गया था और इसने सफेद सागर में एक लक्ष्य को सटीक निशाना बनाया.

एजेंसी के मुताबिक जिरकॉन के टॉर्गेट के लिए जिस लक्ष्य को निशाना बनाया गया था उसकी कुल दूरी 1स016 किलोमीटर थी. इससे पहले के परीक्षणों में रूस ने जिरकॉन मिसाइल से एक पानी के अंदर मौजूद पनडुब्बी को मार गिराने का भी दावा किया है. रूस ने जिरकॉन मिसाइल को आधुनिक प्रणाली का हथियार करार दिया है.

यूक्रेन के कई शहर खंडहर में तब्दील
यूक्रेन पर रूस के हमले को तीन महीने से अधिक का वक्त बीत गया है लेकिन अब भी पुतिन यूक्रेन के खिलाफ कार्रवाई को लेकर सख्त नजर आ रहे हैं. रूस के हमले में यूक्रेन को भारी नुकसान पहुंचा है. उसका व्यापार मार्ग पूरी तरह से तबाह हो गया है. कई बड़े शहर पूरी तरह से खंडहर में तब्दील हो गए हैं जबकि अब तक 4000 से अधिक लोगों के मारे जाने की संभावना है.

मार्च में रूस ने यूक्रेन के अधिकांश शहरों पर हमला बोल दिया था लेकिन अब लड़ाई सिर्फ दो शहरों पर ही सिमट गई है. सिविएरोडोनेट्सक और लिसिचन्स्क – लुहान्स्क दो ऐसे शहर हैं यूक्रेन के जहां दोनों देशों की सेनाएं आमने सामने हैं और लगतार इन दोनों ही देशों में बमबारी हो रही है. रूस की मिसाइलों का खतरा बढ़ता देख यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने पश्चिम देशों से कीव को भारी हथियार उपलब्ध कराने की मांग की है.

बता दें कि इससे पहले पिछले महीने ही रूस ने दावा किया था कि उसने यूक्रेन पर दो बार किंजल हाइपरसोनिक मिसाइल दागी थी. रूस के हथियारी बेड़े में हाल ही में किंजल मिसाइल को जोड़ा गया और रूस ने यूक्रेन पर इनका प्रयोग भी कर डाला. किंजल मिसाइल की मारक क्षमता 1500 किमी से लेकर 2000 किलोमीटर तक है. रूस के बेड़े में शामिल यह मिसाइल काफी विनाशखारी हथियार है.

रूस पिछले कुछ समय से तेजी से मिसाइलों का परीक्षण कर रहा है. जिरकॉन से पहले पिछले महीने रूस ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम अंतर महाद्वीपीय मिसाइल सरमत का भी परीक्षण किया था. रूस की सरमत मिसाइल संयुक्त राज्य अमेरिका तक 10 वारहेड ले जाने में सक्षम है.

Tags: Russia ukraine war, Ukraine, Vladimir Putin

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें