होम /न्यूज /दुनिया /

रूस ने यूक्रेन के S-300 एयर डिफेंस सिस्टम को बनाया निशाना, अमेरिका ने कहा- जंग में मॉस्को को मिली बढ़त

रूस ने यूक्रेन के S-300 एयर डिफेंस सिस्टम को बनाया निशाना, अमेरिका ने कहा- जंग में मॉस्को को मिली बढ़त

रूस मारियुपोल बंदरगाह को पूरी तरह से घेर लिया है. (फाइल फोटो)

रूस मारियुपोल बंदरगाह को पूरी तरह से घेर लिया है. (फाइल फोटो)

Russia escalate attack on Ukraine: रूस ने एक बार फिर से यूक्रेन पर हमला तेज कर दिया है. रविवार को उसने यूक्रेन के एक बड़े शहर डीनिप्रो के हवाई अड्डे को निशाना बनाया. दूसरी तरफ खारकीव और मारियुपोल को पूरी तरह से अपनी गिरफ्त में ले लिया है. इस बीच वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा है कि यूक्रेन के उपर रूसी हमले को रोकना यूरोप के सभी लोकतांत्रिक देशों के लिए जरूरी है क्योंकि पुतिन का लक्ष्य पूरा यूरोप है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध 47वें दिन में पहुंच गया है लेकिन अब भी तनाव खत्म होने के कोई आसार नहीं हैं. रूस ने खारकीव और मारियुपोल को पूरी तरह से घेराबंदी कर रखी है. इस बीच यूक्रेन के एक बड़े शहर डीनिप्रो के गवर्नर ने कहा है कि रविवार को रूस ने यहां के हवाई अड्डे पर दो बार मिसाइल हमले किए. यूक्रेनी सैन्य कमान ने कहा कि रूसी सेना ने यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव पर भी गोलाबारी जारी रखे हुआ है. वहीं पिछले छह सप्ताह से प्रमुख दक्षिणी बंदरगाह शहर मारियुपोल को घेर कर रखा हुआ है. इधर रूसी रक्षा मंत्रालय ने भी दावा किया कि यूक्रेन की वायु रक्षा प्रणाली एस 300 मिसाइल को दो स्थानों पर अपनी मिसाइल से निशाना बनाया.

इसके अलावा समुद्र से प्रक्षेपित क्रूज मिसाइलों ने निप्रो क्षेत्र में एक यूक्रेनी इकाई के मुख्यालय को नष्ट कर दिया है. इसी से यह समझा जा सकता है कि रूस ने किस तरह यूक्रेन पर हमला तेज कर दिया है. वहीं, अमेरिकी रक्षा विभाग ने कहा कि यूक्रेन के खिलाफ अपने युद्ध में अगले चरण के लिए रूस को काफी बढ़त मिली है.

हमले को रोकना लोकतांत्रिक देशों की सुरक्षा के लिए जरूरी

दूसरी ओर, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि रूस अपनी आक्रामकता के जरिए पूरे यूरोप को निशाना बना रहा है. उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि यूक्रेन पर रूसी आक्रमण को रोकना सभी लोकतांत्रिक देशों की सुरक्षा के लिए जरूरी है. जेलेंस्की ने शनिवार देर रात राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि रूसी हमला केवल यूक्रेन तक सीमित रहने के इरादे से नहीं किया गया’ और ‘पूरा यूरोप रूस का लक्ष्य है. उन्होंने कहा, ‘इसलिए यह केवल सभी लोकतांत्रिक देशों का ही नहीं, बल्कि यूरोप की सभी ताकतों का नैतिक कर्तव्य है कि वे शांति के लिए यूक्रेन की इच्छा का समर्थन करें. दरअसल यह हर सभ्य देश के लिए रक्षा की रणनीति है.

जेलेंस्की ने जॉनसन को दिया धन्यवाद
कई यूरोपीय नेताओं ने युद्धगस्त राष्ट्र यूक्रेन के साथ एकजुटता दिखाने के प्रयास किए हैं. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अचानव कीव पहुंच गए और वहां की सड़कों पर वोलोदिमीर के साथ वॉक भी किए. जेलेंस्की ने यूक्रेन की राजधानी कीव की यात्रा करने के लिए ब्रिटेन और ऑस्ट्रिया के नेताओं को धन्यवाद दिया. उन्होंने वैश्विक स्तर पर निधि जुटाने के कार्यक्रम के लिए यूरोपीय आयोग अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन को भी धन्यवाद दिया. इस कार्यक्रम से यूक्रेनी नागरिकों की मदद के लिए 10 अरब यूरो से अधिक जुटाए गए. जेलेंस्की ने रूसी तेल और गैस पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के अपने आह्वान को दोहराया.

रेलवे स्टेशन पर हमले के लिए रूस युद्ध अपराध का दोषी
जेलेंस्की ने पूर्वी यूक्रेन के क्रामातोर्स्क में एक रेलवे स्टेशन पर हुए हमले को रूसी सेना के युद्ध अपराध का ताजा उदाहरण बताया और कहा कि इसे देखने के बाद पश्चिमी देशों को यूक्रेन की मदद करने के लिए और कदम उठाने चाहिए. रेलवे स्टेशन पर हुए हमले में 52 लोगों की मौत हो गई है और 100 से अधिक लोग घायल हो गए. इस बीच, रूस ने इस हमले की जिम्मेदारी लेने से इनकार किया है और हमले का दोष मास्को पर मढ़ने के लिए यूक्रेन की सेना पर यह हमला करने का आरोप लगाया है.

Tags: Russia, Ukraine

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर