कोविड-19 : रूस, भारत को स्पुतनिक-V वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक उपलब्ध कराएगा

कोविड-19 : रूस, भारत को स्पुतनिक-V वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक उपलब्ध कराएगा
रूस कोविड-19 के खिलाफ स्पुतनिक-V वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक उपलब्ध कराएगा

भारत की रेग्यूलेटरी अथॉरिटी की मंजूरी मिलने के बाद रूस COVID-19 (Covid-19) के खिलाफ स्पुतनिक-V वैक्सीन (Sputnik-V vaccine) की 100 मिलियन खुराक भारत की डॉ. रेड्डी की प्रयोगशालाओं को आपूर्ति कराएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2020, 4:56 PM IST
  • Share this:
मास्को. भारत की रेग्यूलेटरी अथॉरिटी की मंजूरी मिलने के बाद रूस COVID-19 (Covid-19) के खिलाफ स्पुतनिक-V वैक्सीन (Sputnik-V vaccine) की 100 मिलियन खुराक भारत की डॉ. रेड्डी की प्रयोगशालाओं को आपूर्ति कराएगा. दरअसल इस महीने रूस ने कोरोना वायरस वैक्सीन स्पुतनिक-V आम नागरिकों के लिए जारी कर दी. रूस इसे जल्द ही क्षेत्रीय आधार पर वैक्सीन की डिलिवरी करने की योजना बना चुका है. इस योजना के तहत रूस स्पूतनिक-V वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक देने को तैयार है. हालांकि भारत की रेग्यूलेटरी की सहमति मिलनी बांकी है. यह रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी.

ट्रायल सफल हुआ तो नवंबर तक भारत में उपलब्ध होगा

'स्पुतनिक-वी' को रूस की गामालेया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर इपीडेमीलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉ़जी और रूस प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) ने विकसित किया है. आरडीआईएफ के सीईओ किरिल दमित्रिव ने बताया कि Sputnik V वैक्सीन एडिनोवायरल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित है और अगर इसका ट्रायल सफल होता है तो यह नवंबर तक भारत में उपलब्ध होगी.







चार अन्य भारतीय कंपनियों के साथ चल रही है बातचीत

आरडीआईएफ की साथ ही चार अन्य भारतीय कंपनियों के साथ भी बातचीत चल रही है जो भारत में यह वैक्सीन बनाएंगी. आरडीआईएफ ने एक बयान में कहा कि उसके और डॉ. रेड्डीज के बीच हुआ समझौता इस बात का प्रमाण है कि विभिन्न देशों और संस्थाओं के बीच यह समझ बढ़ रही है कि कोरोनावायरस के लोगों को बचाने के लिए कई वैक्सीन पर काम करना जरूरी है.

ये भी पढ़ें: VIDEO: पाकिस्तान एयरफोर्स का फाइटर जेट क्रैश हुआ, बाल-बाल बचा पायलट

चीन लद्दाख में बिछा रहा है ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क, बीजिंग ने किया खंडन

पुतिन के विरोधी नवेलनी ने अस्पताल से पहली फोटो जारी की, कहा- अब सांस ले पा रहा हूं 

कंपनी ने कहा कि रूसी वैक्सीन एडिनोवायरल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित है और दशकों तक इस पर 250 से अधिक क्लिनिकल स्टडीज हो चुकी हैं. इसे सुरक्षित पाया गया है और इससे दीर्घकालिक दुष्प्रभाव देखने को नहीं मिले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज