फ़ेज़ थ्री ह्यूमन ट्रायल में जाएगी रूस की वैक्सीन, मेक्सिको के राष्ट्रपति बोले- मैं लगवाऊंगा टीका

फ़ेज़ थ्री ह्यूमन ट्रायल में जाएगी रूस की वैक्सीन, मेक्सिको के राष्ट्रपति बोले- मैं लगवाऊंगा टीका
थर्ड फेज ह्यूमन ट्रायल में जाएगी रूस की वैक्सीन

Russian coronavirus vaccine Sputnik-V: सरकारी समाचार एजेंसी तास के मुताबिक रूस की कोरोना वैक्सीन सवालों में घिरने के बाद अगले हफ्ते से थर्ड फेज ह्यूमन ट्रायल में जा सकती है. हालांकि वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू हो गया है और सितंबर के पहले हफ्ते से डिस्ट्रीब्यूशन भी शुरू हो जाने की पूरी संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 12:00 PM IST
  • Share this:
मॉस्को. सवालों से घिरी रूस (Russia) की कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक-5 (Covid-19 Vaccine Sputnik-V) का फ़ेज़ थ्री ह्यूमन ट्रायल अगले 7 दिनों में शुरू हो सकता है. रूस ने इस वैक्सीन का एक वीडियो जारी किया है जिसमें दावा किया गया है कि ये वैक्सीन कोरोना वायरस (Coronavirus Vaccine) को ख़त्म करने में पूरी तरह सक्षम है. उधर मेक्सिको (Mexico) के राष्ट्रपति आंद्रेज़ मेनवेल लोपेज़ ओबराडोर ने कहा है कि यदि रूस की वैक्सीन प्रभावी साबित होती है तो वो इस लगवाने के लिए ख़ुद सामने आएंगे. इससे पहले फ़िलीपीन्स के राष्ट्रपति रोड्रिगो डुटेर्टे ने कहा था कि वो ख़ुद रूस की वैक्सीन लगाएंगे.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और वैज्ञानिकों के रूस के दावों पर चिंता जाहिर की है. रशियन डायरेक्ट इवेस्टमेंट फंड की ओर से जारी 38 सेकंड के वीडियो में दिखाया गया है कि कैसे वैक्सीन स्पुतनिक-5 परिदृश्य में आती है और कोरोना संक्रमण को ख़त्म कर देती है. रूस की तास न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक वैक्सीन का फ़ेज़ थ्री ह्यूमन ट्रायल अगले सात से दस दिनों के भीतर शुरू हो सकता है. रुस के मास्को क्षेत्र में होने वाले इस ट्रायल में दसियों हज़ार लोग हिस्सा लेंगे.


वैक्सीन का फ़ेज़-1 और फ़ेज़-2 ट्रायल बहुत तेज़ गति से हुआ है और इस प्रक्रिया को दो महीने के भीतर ही पूरा कर लिया गया है. सरकार ने वैक्सीन को मंज़ूरी फ़ेज़-3 ट्रायल शुरू होने से पहले ही दे दी थी. स्पुतनिक न्यूज़ के मुताबिक वैक्सीन के उत्पादन का एक वीडियो भी जारी किया गया है. बीते सप्ताह रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दावा किया था कि रूस के रक्षा मंत्रालय और गामेलया इंस्टीट्यूट की ये वैक्सीन खासी प्रभावी है और कोविड-19 महामारी के ख़िलाफ़ शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित करती है.



मेक्सिको भी आया रूस के सपोर्ट में
लोपेज़ ओबराडार ने वैक्सीन के बारे में कहा है, 'मैं सबसे पहले टीका लगवाने वालों में शामिल रहूंगा.' इसी बीच दुनियाभर के देशों में वैक्सीन बनाने की रेस जारी है. मेक्सिको और अर्जेंटीना की सरकार ने दवा निर्माता कंपनी एस्ट्राज़ेनेका के साथ वैक्सीन के उत्पादन के लिए क़रार किया है. मेक्सिको के उप विदेश मंत्री का कहना है कि यदि तीसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल कामयाब साबित होता है तो उनके देश को 20 करोड़ डोज़ की ज़रूरत पड़ेगी. वैक्सीन की पहली खेप अगले साल अप्रैल तक उपलब्ध हो सकती है. मेक्सिको में अब तक 522162 संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं. सरकारी डाटा के मुताबिक देश मों कोरोना वायरस की वजह से 56577 मौतें भी हुई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज