इतिहास की सबसे बड़ी डेटा चोरी, रूस की खुफिया एजेंसी की वेबसाइट हैक

कहा जा रहा है कि एक हफ्ते पहले 13 जुलाई को 0v1ru$ नाम के एक हैकर ग्रुप ने FSB को हैक किया था.

News18Hindi
Updated: July 22, 2019, 2:07 PM IST
इतिहास की सबसे बड़ी डेटा चोरी, रूस की खुफिया एजेंसी की वेबसाइट हैक
अमेरिका की फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टीगेशन की तरह ही FSB भी काम करती है
News18Hindi
Updated: July 22, 2019, 2:07 PM IST
खबर है कि रूस की फेडरल सिक्योरिटी सर्विस (FSB) की वेबसाइट को हैक कर लिया गया है. हैकर्स ने करीब 7.5 टेराबाइट्स डेटा की चोरी कर ली है. ये सारे डेटा बेहद गोपनीय थे. बाद में इन डेटा को अलग-अलग मीडिया ग्रुप्स को बांट दिया गया. इस घटना के बाद रूस की राजधानी मास्को में हड़कंप मच गया है.

क्या है फेडरल सिक्योरिटी सर्विस (FSB)
अमेरिका की फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टीगेशन की तरह ही FSB भी काम करती है. FSB घरेलू खुफिया जानकारी जुटाने के अलावा विदेशों से भी जानकारी इकट्ठा करती है. इसके बाद FSB इन डेटा को KGB यानी कमेटी ऑफ स्टेट सिक्योरिटी से साझा करती है. बता दें कि KGB सीधे इन डेटा को रूस के राष्ट्रपति तक पहुंचाती है.

डेटा की चोरी

कहा जा रहा है कि एक हफ्ते पहले 13 जुलाई को 0v1ru$ नाम के एक हैकर ग्रुप ने FSB को हैक किया था. इस ग्रुप ने बाद में इन डेटा को एक बड़े हैकिंग ग्रुप Digital Revolution को ट्रांसफर कर दिया.  इसके बाद इस ग्रुप ने अलग-अलग मीडिया हाउस को डेटा भेज दिए. बता दें कि Digital Revolution ने 2018 में रशियन रिसर्च इन्स्टिट्यूट के डेटा को भी हैक करने का दावा किया था.



FSB को हैक करने की खबर सबसे पहले BBC रशिया ने दी थी. बीबीसी के मुताबिक रशियन इंटेलिजेंस के इतिहास में ये सबसे बड़ी हैकिंग है.

ये भी पढ़ें: रघुराम राजन बन सकते हैं IMF के अगले चीफ, रेस में हैं आगे

देखिए हिमा दास की रोंगटे खड़े कर देने वाली रोमांचक रेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 12:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...