Home /News /world /

सऊदी अरब की महिला अधिकार कार्यकर्ता को करीब छह साल जेल की सजा सुनाई गई

सऊदी अरब की महिला अधिकार कार्यकर्ता को करीब छह साल जेल की सजा सुनाई गई

सऊदी अरब में लुजैल अल हथलौल को 6 साल की जेल की सजा सुनाई गई है.  (फोटो: इंस्टाग्राम)

सऊदी अरब में लुजैल अल हथलौल को 6 साल की जेल की सजा सुनाई गई है. (फोटो: इंस्टाग्राम)

Women Activist Loujain al-Hathloul Jailed For Six Years: विशेषज्ञों के अनुसार लोजैन अल-हथलौल को लगातार कैद में रखने से सऊदी अरब और अमेरिका के रिश्तों पर असर पड़ सकता है. मानवाधिकार संगठन 'प्रिजनर्स ऑफ कॉन्शन्स' के अनुसार अल-हथलौल को मार्च 2021 में रिहा किया जा सकता है, क्योंकि सजा की अधिकतर अवधि वह काट चुकी हैं.

अधिक पढ़ें ...
    दुबई. सऊदी अरब (Saudi Arabia) की प्रमुख महिला कार्यकर्ताओं में शुमार लोजैन अल-हथलौल (Loujain al-Hathloul) को देश के अस्पष्ट आतंकवाद रोधी कानून के तहत करीब छह साल जेल की सजा सुनायी गयी है. इस फैसले की अंतरराष्ट्रीय जगत में आलोचना हो रही है. लोजैन अल-हथलौल पहले से ही कैद में थीं और उन्हें कई बार नजरबंद भी किया गया था.

    विशेषज्ञों के अनुसार लोजैन अल-हथलौल को लगातार कैद में रखने से सऊदी अरब और अमेरिका के रिश्तों पर असर पड़ सकता है. मानवाधिकार संगठन 'प्रिजनर्स ऑफ कॉन्शन्स' के अनुसार अल-हथलौल को मार्च 2021 में रिहा किया जा सकता है, क्योंकि सजा की अधिकतर अवधि वह काट चुकी हैं. वह मई 2018 से कैद में हैं, इसके आधार पर 34 महीने की उनकी सजा खत्म की जा सकती है.

    उनके परिवार ने एक बयान में कहा कि अल-हथलौल पर पांच साल तक देश से बाहर नहीं जाने की पाबंदी होगी और रिहाई के बाद तीन साल तक उन्हें परिवीक्षा पर रहना होगा.

    नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवान ने अल-हथलौल की सजा को 'अन्यायपूर्ण' बताया है. उन्होंने ट्वीट किया, 'जैसा कि हमने कहा है कि बाइडन-हैरिस प्रशासन मानवाधिकार उल्लंघनों के खिलाफ खड़ा रहेगा, चाहे ये उल्लंघन कहीं भी हो रहे हों.'

    लुजैन उन चंद सऊदी महिलाओं में शुमार थीं, जिन्होंने महिलाओं को गाड़ी चलाने की अनुमति देने और 'पुरुष अभिभावक कानून' को हटाने की मांग उठाई थी. ये दोनों ही कानून महिलाओं की आजादी पर प्रतिबंध की तरह है.

    लुजैन पर लगाए गए हैं ये आरोपी...

    सऊदी अरब की सरकारी मीडिया के अनुसार, आतंकवाद-रोधी अदालत ने अल-हथलौल को विभिन्न आरोपों में दोषी पाया, जिनमें बदलाव के लिए आंदोलन, विदेशी एजेंडा चलाना, लोक व्यवस्था को नुकसान पहुंचाने के लिए इंटरनेट का उपयोग आदि शामिल हैं. इसके अलावा अदालत ने लुजैन को उन व्यक्तियों एवं प्रतिष्ठानों का सहयोग करने का भी दोषी ठहराया, जिन्होंने आतंकवाद-रोधी कानून के तहत अपराध किया. लुजैन के पास इस फैसले के खिलाफ चुनौती देने के लिए करीब एक महीने का समय है.

    ये भी पढ़ें: पाकिस्तान: सालाना 1,000 अल्पसंख्यक लड़कियों से जबरन कबूल कराया जाता है इस्लाम धर्म

    चीन: वुहान में फैले कोरोना की लाइव रिपोर्टिंग पर महिला पत्रकार को 4 साल की जेल

    लुजैन पर वर्ष 2018 में विदेशी राजनयिकों, पत्रकारों और मानवाधिकार संगठनों के साथ संवाद करके और महिलाओं के अधिकारों के लिए दबाव डालकर साम्राज्‍य के हितों और उसके राजनीतिक व्‍यवस्‍था को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया गया था.undefined

    Tags: Driving Licence, Saudi arabia, Women rights

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर