Home /News /world /

सऊदी अरब में पहली बार महिलाएं चला सकेंगी कार

सऊदी अरब में पहली बार महिलाएं चला सकेंगी कार

सऊदी शाह सलमान का ये आदेश 24 जून 2018 तक लागू होगा.

सऊदी शाह सलमान का ये आदेश 24 जून 2018 तक लागू होगा.

सऊदी शाह सलमान का ये आदेश 24 जून 2018 तक लागू किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    सऊदी अरब में पहली बार महिलाओं को ड्राइविंग की इजाजत दी गई है. सऊदी अरब के सरकारी मीडिया के मुताबिक, सऊदी शाह मोहम्मद बिन सलमान ने एक आदेश जारी करते हुए, महिलाओं को ड्राइविंग का अधिकार दिया है. सऊदी शाह सलमान का ये आदेश 24 जून 2018 तक लागू किया जाएगा.

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सऊदी अरब के इस फैसले की तारीफ की है. व्हाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी ऑफिस की ओर से जारी बयान में कहा गया कि सऊदी अरब ने महिलाओं के लिए एक सकारात्मक फैसला लिया है. ये फैसला महिलाओं के अधिकार को प्रोत्साहित करेगा. साथ ही महिलाओं को तरक्की के नए मौके मिलेंगे.

    सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी दी. इसके लिए एक कमिटी बनाई गई है, जो एक महीने के अंदर रिपोर्ट तैयार करेगी. बता दें कि सऊदी अरब एकमात्र ऐसा देश है, जहां महिलाओं के गाड़ी चलाने पर बैन है.

    बता दें कि सऊदी अरब में महिलाओं पर कई तरह की पाबंदियां हैं. उन्हें अभी तक वो अधिकार भी नहीं मिले हैं, जो दुनिया के बाकी देशों की महिलाओं को हैं. यहां महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस का अधिकार दिलाने के लिए लंबे समय से अभियान चलाया जा रहा था. कई महिलाओं को तो नियम तोड़ने के लिए सजा तक दी गई.

    प्रिंस खालिद बिन सलमान ने सऊदी शाह के इस फैसले को 'विजन 2030' का हिस्सा बताया है. 32 वर्षीय सऊदी शाह मोहम्मद बिन सलमान के इस फैसले से सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था और महिलाओं की काम करने की योग्यता बढ़ने की उम्मीद की जा रही है. हालांकि, इस आदेश में शरिया कानून का भी ध्यान रखने की बात कही गई है.

    सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक, इस फैसले से ट्रैफिक नियमों के कई प्रावधानों को लागू किया जाएगा, जिसमें महिलाओं और पुरुषों के लिए एक जैसे ड्राइविंग लाइसेंस जारी करना भी शामिल है.

    सऊदी अरब में महिलाओं की स्थिति
    -सऊदी अरब में महिलाओं के प्रति होने वाली घरेलू हिंसा और यौन शोषण को रोकने के लिए कोई कानून नहीं है. एक स्टडी में यहां के 53 फीसदी पुरुषों ने माना था कि उन्होंने घरेलू हिंसा की है. वहीं, 32 फीसदी ने यह भी माना कि उन्होंने अपनी पत्नी को बुरी तरह चोट पहुंचाया.

    -सऊदी में महिलाएं अकेले प्रॉपर्टी भी नहीं खरीद सकतीं. यहां एक महिला के तौर पर प्रॉपर्टी खरीदने या बेचने के लिए दो पुरुष गवाह जरूरी हैं.

    -पुरुष गवाह के बिना महिलाओं की पहचान की पुष्टि नहीं हो सकती. इसके साथ ही उन दो पुरुषों की विश्वसनीयता की पुष्टि करने के लिए चार और पुरुष गवाहों की जरूरत होती है.

    -सऊदी अरब में पुरुषों की तरह महिलाओं को कानूनी तौर पर बराबरी हासिल नहीं है. ऐसे कई काम जिन्हें पुरुष कर सकते हैं, लेकिन महिलाओं के लिए वो काम प्रतिबंधित हैं.

    -यहां महिलाएं विदेश यात्रा नहीं कर सकतीं. पसंदीदा रहने की जगह नहीं चुन सकतीं. पासपोर्ट या फिर नेशनल आईडी कार्ड के लिए अप्लाई नहीं कर सकतीं.

    ये भी पढ़ें:  खुलासाः ब्रिटिश राजकुमारी के साथ सोना चाहते थे ट्रंप

    ट्रैवल बैन के बाद अब US ने 8 उत्तर कोरियाई बैंकों, 26 अफसरों को किया बैन

    Tags: Saudi arabia

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर