होम /न्यूज /दुनिया /

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में सऊदी कोर्ट ने 5 को सुनाई मौत की सजा

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में सऊदी कोर्ट ने 5 को सुनाई मौत की सजा

सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी का फाइल फोटो (फोटो- AP)

सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी का फाइल फोटो (फोटो- AP)

सरकारी वकील (Public prosecutor) ने एक बयान में बताया, 'कोर्ट (Court) ने इस हत्या में सीधे तौर पर शामिल रहे पांच लोगों को मौत की सजा (Death Sentence) सुनाई है.'

    रियाद. सऊदी पत्रकार (Saudi Journalist) जमाल खशोगी (Jamal Khashoggi) की हत्या (Murder) के जुर्म में पांच लोगों को मौत की सजा सुनाई गई है. लेकिन इस मामले में दो बड़े अधिकारियों को बरी कर दिया गया है. सऊदी कोर्ट (Saudi Court) के इस फैसले की जानकारी इस मामले के सरकारी वकील ने सोमवार को दी.

    सरकारी वकील (Public prosecutor) ने एक बयान में बताया, 'कोर्ट (Court) ने इस हत्या में सीधे तौर पर शामिल रहे पांच लोगों को मौत की सजा सुनाई है.'

    बरी हुए मोहम्मद बिन सलमान के सलाहकार
    शलान-अल-शलान नाम के सरकारी वकील ने कहा कि सउद अल-कहतानी, जो कि सऊदी अरब के  शासक मोहम्मद बिन सलमान के उच्चस्तरीय सलाहकार (High-level Advisor) हैं, उनकी जांच भी इस मामले में की गई थी लेकिन उनके ऊपर आरोप साबित नहीं हो सके और उन्हें छोड़ दिया गया.

    शलान ने यह भी बताया कि पहले भी इस मामले में तीन लोगों को कुल 24 साल की सजा दी गई थी. हालांकि सभी इस फैसले के खिलाफ अपील (Appeal) कर सकते हैं.

    मोहम्मद बिन सलमान का हाथ होने से किया था सऊदी ने इनकार
    गौरतलब है कि सऊदी की ओर से बार-बार इनकार किया गया है कि खशोगी की हत्या के पीछे प्रिंस मोहम्मद थे. पीबीएस डॉक्यूमेंट्री में प्रिंस मोहम्मद ने जोर दिया कि उनकी जानकारी के बिना हत्या को अंजाम दिया गया था. CIA ने कथित तौर पर कहा है कि हत्या के आदेश प्रिंस मोहम्मद ने दिए थे, लेकिन सऊदी अभियोजन पक्ष ने राजकुमार के नाम को खारिज किया और कहा कि हत्या में फंसे लगभग दो दर्जन लोग हिरासत में लिए गए थे, जिनमें से पांच लोगों के खिलाफ मौत की सजा मांगी गई थी.

    सऊदी दूतावास में की गई थी खशोगी की हत्या
    वॉशिंगटन पोस्ट से जुड़े खशोगी की 2 अक्टूबर को हत्या कर दी गई थी. उन्हें उस वक्त मार डाला गया, जब वह तुर्की स्थित सऊदी दूतावास (Saudi Embassy) में अपनी शादी के लिए जरूरी दस्तावेज लेने गए थे. तुर्की के अधिकारियों और अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सऊदी सरकार के आलोचक रहे खशोगी की हत्या के लिए 15 लोग सऊदी अरब से ही आए थे.

    यह भी पढ़ें: होंडुरास की जेल में एक बार फिर कैदियों के बीच झड़प, 18 कैदियों की मौत

    Tags: CIA, Murder, Saudi, Saudi arabia, Saudi Crown Prince, Suspicious death

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर