इजराइल से दोस्ती के मामले पर प्रिंस सलमान के खिलाफ गए प्रिंस फैसल, कड़ी आलोचना की

प्रिंस सलमान के खिलाफ सामने आए प्रिंस फैसल (फोटो- AFP)

Saudi Arabia-Israel Reletions: संबंध सुधारने की बातचीत के बीच सऊदी के एक अन्य प्रिंस फैसल (Prince Turki bin Faisal Al Saud) ने इजराइल की कड़ी आलोचना की है. इससे पहले क्राउन प्रिंस बिन सलमान (Crown Prince Bin Salman) ने इजराइल से बातचीत और व्यापार को लेकर सकारात्मक बातचीत की थी.

  • Share this:
    रियाद. सऊदी अरब ( Saudi Arabia) के साथ इजराइल (Israel) के रिश्ते सामान्य होने की उम्मीदों के बीच इस मामले पर शाही परिवार में ही दो फाड़ होती नजर आ रही है. एक तरफ क्राउन प्रिंस सलमान (Crown Prince Bin Salman) की तरफ से इजराइल-सऊदी की बातचीत को आगे बढ़ाने पर सकारात्मक माहौल देखने को मिला है वहीं सऊदी के एक अन्य ताकतवर प्रिंस तुर्की अल फैसल (Prince Turki bin Faisal Al Saud) ने बहरीन सम्मलेन में इजराइल की कड़ी आलोचना की है.

    प्रिंस फैसल ने इजरायल को पश्चिमी औपनिवेशक शक्ति तक करार दिया जिसके बाद दोनों देशों में फिर से तनाव बढ़ता नज़र आ रहा है. बता दे कि 1948 में इजरायल की स्थापना के बाद से आजतक सऊदी ने मान्यता नहीं दी है. सऊदी के खुफिया विभाग की दो दशक से भी ज्यादा वक्त तक कमान संभाल चुके और अमेरिका तथा ब्रिटेन में राजदूत रह चुके प्रिंस तुर्की अल फैसल ने कहा कि इजरायल ने सुरक्षा संबंधी आरोपों में- युवा और बुजुर्ग, महिलाओं और पुरुषों (फलस्तीनियों) को शिविरों में कैद कर रखा है, जो वहां बिना न्याय के हैं. वे अपनी मर्जी के घरों को गिरा रहे हैं,और अपनी मर्जी से लोगों को मार रहे हैं.

    किसी आधिकारिक पर पर नहीं हैं प्रिंस फैसल
    प्रिंस तुर्की अल फैसल वर्तमान में किसी आधिकारिक पद पर नहीं हैं लेकिन उनका रुख शाह सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद से काफी मिलता देखा जा रहा है. वहीं इससे ठीक विपरीत सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान ने ऐसे संकेत दिए हैं कि वह देश में विदेशी निवेश को बढ़ाने और दोनों देशों के साझा शत्रु ईरान से निपटने के लिए इजरायल के साथ काम करने के इच्छुक हैं.

    सम्मेलन में शामिल इजराइल के विदेश मंत्री ने प्रिंस के संबोधन के बाद कहा कि 'मैं सऊदी प्रतिनिधि के बयानों पर खेद व्यक्त करना चाहता हूं। मुझे नहीं लगता कि वे मध्य पूर्व में हो रहे बदलावों को दर्शाते हैं.' बहरीन सुरक्षा सम्मेलन में शामिल इजरायल के विदेश मंत्री ने प्रिंस के संबोधन के बाद पलटवार किया. उन्होंने कहा कि मैं सऊदी प्रतिनिधि के बयानों पर खेद व्यक्त करना चाहता हूं. मुझे नहीं लगता कि वे मध्य पूर्व में हो रहे बदलावों को दर्शाते हैं.

    दोनों देशों के बीच सुधर रहे संबंध!
    इजरायल और सऊदी के बीच हाल के कुछ साल में द्विपक्षीय संबंध बेहतर हुए हैं. सऊदी अरब और इजरायल दोनों ईरान के परमाणु हथियार बनाने का विरोध करते हैं. इसके अलावा ये दोनों देश यमन, सीरिया, इराक और लेबनान में ईरान की आकांक्षाओं के विस्तार को लेकर भी चिंतित हैं.



    हिजबुल्लाह को लेकर भी इजरायल और सऊदी एक रुख रखते हैं. माना जा रहा है कि सऊदी और इजरायल खुफिया जानकारी, प्रौद्योगिकी और साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में मिलकर काम कर रहे हैं. वहीं इजरायली खुफिया एजेंसी मोसाद के प्रमुख अपने सऊदी समकक्षों और अन्य सऊदी नेताओं के साथ गुप्त रूप से मिलते रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.