लाइव टीवी

लंदन ने बनाई ऐसी मशीन, 1 हफ्ते तक शरीर के बाहर लीवर को रखा जा सकता है जिंदा

भाषा
Updated: January 14, 2020, 1:47 PM IST
लंदन ने बनाई ऐसी मशीन, 1 हफ्ते तक शरीर के बाहर लीवर को रखा जा सकता है जिंदा
शरीर के बाहर भी रहेगा लीवर जिंदा

जख्मी लीवर नई टेक्नोलॉजी की मदद से कई दिनों तक पूरी तरह से काम कर सकते हैं. साथ ही उनमें लीवर बीमारी या कैंसर से पीड़ित मरीजों की जान बचाने की क्षमता भी है.

  • Share this:
लंदन. अनुसंधानकर्ताओं ने एक ऐसी नई मशीन डेवलेप की है जो मनुष्यों के जख्मी लीवर का इलाज कर सकती है और उसे एक हफ्ते तक शरीर के बाहर भी जिंदा रख सकती है. इस अनुसंधान से ट्रांसप्लांटेशन के लिए जो मानव अंगों को रखा जाता है उसकी संख्या बढ़ सकती है.

स्विट्जरलैंड में ईटीएच ज्यूरिख (ETH Zurich) समेत अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार, जख्मी लीवर नई टेक्नोलॉजी की मदद से कई दिनों तक पूरी तरह से काम कर सकते हैं. साथ ही उनमें लीवर बीमारी या कैंसर से पीड़ित मरीजों की जान बचाने की क्षमता भी है.

पत्रिका नेचर बायोटेक्नोलॉजी में छपे अनुसंधान में इस मशीन को जटिल ‘परफ्यूजन’ प्रणाली बताया गया है जो लीवर के कामों की नकल करती है.

ईटीएच ज्यूरिख के सह-लेखक पियरे एलें क्लेवें ने कहा, 'सर्जनों, जीव विज्ञानियों और इंजीरियरों के एक समूह की चार साल की मेहनत के बाद बनी अनोखी परफ्यूजन प्रणाली की सफलता ने प्रतिरोपण में कई नये अनुप्रयोगों का मार्ग प्रशस्त कर दिया है.'

जब 2015 में यह परियोजना शुरू हुई थी तो वैज्ञानिकों ने कहा था कि लीवर को मशीन पर केवल 12 घंटे तक जीवित रखा जा सकता है.

ये भी पढ़ें : शख्स ने खाई सांड की पावर बढ़ाने वाली दवा, डॉक्टरों को करनी पड़ी सर्जरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 1:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर