जर्मनी में इस नर्स ने 100 मरीजों का किया कत्ल, कोर्ट में कबूला गुनाह

file photo
file photo

नर्स होजेल अपने मरीजों को ऐसे इंजेक्शन दिया करता था, जिससे उन्हें दिल का दौरा पड़ता और फिर वह उन्हें बचाने की कोशिश करता, जो हमेशा नाकाम साबित होती थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2018, 3:26 AM IST
  • Share this:
जर्मनी में नील्स होजेल नाम के पूर्व नर्स ने 100 लोगों की हत्या का जुर्म कबूल किया है. जर्मनी के इतिहास में इसे दूसरे विश्व युद्ध के बाद का सबसे बड़ा सीरियल किलिंग केस माना जा रहा है.

होजेल की उम्र 41 साल है और वह कुछ अन्य मरीज़ों की हत्या के जर्म में उम्र कैद की सजा के तहत पिछले 10 साल से जेल में बंद है. इस पूर्व नर्स पर आरोप है कि उसने अपने मरीज़ों को जानबूझकर दवाओं को ओवरडोज़ दिया, ताकि वह आखिर वक्त में उन्हें मौत से बचा सके. वह अपने मरीजों को ऐसे इंजेक्शन दिया करता था, जिससे उन्हें दिल का दौरा पड़ता और फिर वह उन्हें बचाने की कोशिश करता, जो हमेशा नाकाम साबित होती थी.

इस मामले में सरकारी वकील का कहना है कि होजेल ने बस बोरियत दूर करने और इंसानी जिंदगी को बचाने में अपना जौहर दिखाने के लिए इन तमाम लोगों की जान ले ली. वहीं जज ने जब होजेल से इन आरोपों के बारे में सवाल किया तो उसने बस 'हां' कहकर अपना जुर्म कबूल कर लिया.



ये भी पढ़ें: ‘आखिरी सांस तक करूंगी उन 6 मौतों का रहस्य सुलझाने की कोशिश’
जज सबैस्टियन ब्यूहरमैन ने इस मामले में अस्पतालों की सुरक्षा प्रणाली पर भी सवाल उठाए और पूछा कि आखिर दो अस्पतालों में वह कैसे बेरोकटोक काम करता रहा. उन्होंने कहा, 'हम इस मामले की तह तक जाने के लिए पूरी कोशिश करेंगे. यह एक अंधेरे कमरे जैसा लग रहा है और हम इस अंधियारे में रोशनी लाना चाहते हैं.'

होजेल को 2005 में पहली बार पकड़ा गया था. तब वह डेलमेनहोर्स्ट के अस्पताल में एक मरीज को गलत इंजेक्शन दे रहा था. इस मामले में उसे हत्या के प्रयास का दोषी करार देते हुए वर्ष 2008 में सात साल की सजा सुनाई गई थी.

ये भी पढ़ें: एक थी सादिया! बेल्जियम के पहले 'आॅनर किलिंग' केस की कहानी

वहीं पीड़ित परिवारों के दबाव में वर्ष 2014-15 में होजेल के खिलाफ एक और मामले में सुनवाई हुई, जिसमें उसे पांच अन्य लोगों की हत्या का दोषी पाया गया और 15 साल की सजा हुई.

जज ने इस मामले में होजेल को मनोवैज्ञानिक से दिखाने का आदेश दिया. वहीं अपने मनोवैज्ञानिक से बातचीत में उसने 30 और लोगों के कत्ल की बात कही. होजेल की इस बात से जांचकर्ताओं के कान खड़े हुए और उन्होंने उन दोनों अस्पतालों के रिकॉर्ड की जांच की तो इस नृशंस सीरियल किलिंग की जानकारी सामने आई.

ये भी पढ़ें: VIDEO- भोपाल: 33 कत्ल कबूल चुके सीरियल किलर गैंग ने क्या 50 कत्ल किए?

होजेल के शिकार इन मरीजों की उम्र 34 से 96 साल के बीच है. वहीं जांचकर्ताओं का कहना है कि उसके शिकार लोगों की संख्या 200 के पार हो सकती है, लेकिन यहां ज्यादातर लोगों को दफ्नाया जा चुका है इसलिए उनकी मौत की हकीकत अब शायद ही सामने आ सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज