कोझिकोड़ विमान हादसा: बाल-बाल बचे दुबई में रहने वाले एक ही परिवार के सात लोग

फाइल फोटो.

फाइल फोटो.

शेमिर की पत्नी अपनी दो बेटियों और एक बेटे के साथ यात्रा कर रही थीं. उनके भाई सफवान की पत्नी और उनकी बेटी तथा एक बेटा भी दुबई (Dubai) से कोझिकोड़ आ रही इस उड़ान में सवार थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 6:57 PM IST
  • Share this:
दुबई. दुबई (Dubai) में रहने वाले भारतीय प्रवासी शेमिर वडक्कन पथाप्पिरियम ने उस समय राहत की सांस ली जब उन्हें पता चला कि केरल (Kerala) के कोझिकोड़ में हुई विमान दुर्घटना में उनके और उनके भाई के परिवार के सभी सात सदस्य बाल-बाल बच गए हैं. दुबई सिलिकॉन ओएसिस कंपनी में लॉजिस्टिक मैनेजर शेमिर (41) शुक्रवार शाम से ही विमान में सवार अपने परिवार के सदस्यों के बारे में पता करने के लिये कोझिकोड़ हवाई अड्डे के निकट अलग-अलग ट्रामा सेंटर में बार-बार फोन कर रहे थे.

दुबई से उड़ान भरने के बाद एयर इंडिया एक्सप्रेस का आईएक्स 1344 विमान शुक्रवार शाम सात बजकर 41 मिनट पर भारी बारिश के बीच कोझिकोड में हवाईपट्टी पर उतरते समय फिसलकर 35 फुट गहरी खाई में गिर गया था, जिसके बाद उसके दो टुकड़े हो गए. विमान में 190 लोग सवार थे, जिनमें से पायलट-इन-कमांड कैप्टन दीपक साठे और उनके सहयोगी पायलट अखिलेश कुमार समेत कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई. शेमिर ने कहा, 'यह खबर सुनकर हमें धक्का लगा. हम काफी समय तक उनसे बात नहीं कर पाए.' उन्होंने दुर्घटनास्थल पर पहुंचकर उनके परिवार के सदस्यों को बचाने वाले अधिकारियों और स्थानीय लोगों को धन्यवाद देते हुए कहा, 'काफी जद्दोजहद के बाद मैं अपनी पत्नी से बात कर पाया. उन्होंने मुझे बताया कि स्थानीय लोगों ने उन्हें और परिवार के अन्य सदस्यों को बचा लिया.'

ये भी पढ़ें: अकेले दम पर ड्रैगन को चुनौती देने का भारत को विश्वास, चीन भी हैरान



ट्रॉमा सेंटर में करवाया भर्ती
शेमिर की पत्नी अपनी दो बेटियों और एक बेटे के साथ यात्रा कर रही थीं. उनके भाई सफवान की पत्नी और उनकी बेटी तथा एक बेटा भी दुबई से कोझिकोड़ आ रही इस उड़ान में सवार थे. शेमिर ने कहा कि दुर्घटना में उनके परिवार के सदस्यों को चोट आई है लेकिन यह चोट जानलेवा नहीं है. उन्हें केरल के कालीकट और मलप्पुरम में तीन अलग-अलग अस्पतालों को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज