जर्मनी में सेक्स वर्कर्स ने किया प्रदर्शन, कहा- काम दोबारा शुरू करने की दें इजाजत

जर्मनी में सेक्स वर्कर्स ने किया प्रदर्शन, कहा- काम दोबारा शुरू करने की दें इजाजत
जर्मनी में रेड लाइट एरिया दोबारा खोलने की मांग (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जर्मनी के लगभग 400 वेश्याओं (Sex Workers) और वेश्यालय संचालकों ने शनिवार को कोरोनोवायरस (Coronavirus) के प्रकोप के कारण महीनों से बंद वेश्यालयों (Red Light Area) को फिर से खोलने की मांग करते हुए हैम्बर्ग के रेड लाइट जिले में प्रदर्शन किया.

  • Share this:
हैम्बर्ग. जर्मनी के लगभग 400 वेश्याओं (Sex Workers) और वेश्यालय संचालकों ने शनिवार को कोरोनोवायरस (Coronavirus) के प्रकोप के कारण महीनों से बंद वेश्यालयों (Red Light Area) को फिर से खोलने की मांग करते हुए हैम्बर्ग के रेड लाइट जिले में प्रदर्शन किया. जर्मनी में दुकानों, रेस्तरां और बार सभी को कई महीनों के बाद फिर से खोलने की अनुमति दे दी गई है. ऐसे में जर्मनी की यौन कर्मियों का कहना है कि क्योंकि जर्मनी में वेश्यावृत्ति कानूनी रूप से वैध है और उनके काम से कथित तौर पर किसी के लिए कोई बड़ा स्वास्थ्य जोखिम भी नहीं है इसलिए सरकार को हमें अपना काम फिर से शुरू करने की इजाजत देनी चाहिए.

हर्बर्टस्ट्रास सड़क पर जोरदार प्रदर्शन

शनिवार को एक रेड लाइट एरिया में हर्बर्टस्ट्रास नाम की एक सड़क यौनकर्मियों और वेश्यालय संचालकों से भर गई थी.ये लोग अलग अलग तरह से अपना विरोध दर्ज करा रहे थे. कोरोना महामारी के कारण लगे प्रतिबंधों के कारण मार्च से यह इलाका पूरी तरह से बंद था.एक वेश्यालय की खिड़की पर एक यौनकर्मी ने एक बोर्ड लटका रखा था जिस पर लिखा था कि सबसे पुराने पेशे को आपकी मदद की जरूरत है. कुछ प्रदर्शनकारियों ने थिएटर मास्क पहने थे.



यौनकर्मियों ने वायलिन पर गाए गाने
एक अन्य यौनकर्मी ने अपनी नाइटलाइफ़ के लिए मशहूर रेपरबैन नाम की गली के कोने पर वायलिन पर गाने गाए. विरोध प्रदर्शन का यह आयोजन एसोसिएशन ऑफ सेक्स वर्कर्स द्वारा किया गया था. इस संगठन का कहना है कि लाइसेंस प्राप्त परिसरों के लगातार बंद होने से वेश्याओं को सड़कों पर काम करने के लिए मजबूर होना पड़ा है और यह एक गैरकानूनी तरीका है जो अधिक खतरनाक और स्वास्थ्य की दृष्टि से भी ठीक नहीं है.

सेक्स वर्करों की हालत हो रही है खराब

इस संगठन की सदस्य जोहाना वेबर ने समाचार एजेंसी डीपीए को बताया की जिस तरह युवा इस मामले में राजनैतिक रूप से जुड़ रहे हैं वह कबीले तारीफ है और उनका समर्थन स्थिति की गंभीरता को दर्शाता है. सेक्स वर्करों ने बहुत लंबे समय तक कोरोनोवायरस प्रतिबंधों को लेकर धैर्य दिखाया लेकिन अब स्थिति हाथ से निकलती जा रही है.

ये भी पढ़ें: चमगादड़ के इम्यून सिस्टम को समझने से कोविड-19 की दवा बनाने में मिलेगी मदद!

नेपाल के गृहमंत्री ने कहा, भारत ने बांध, तटबंध और सड़क बनाकर हमें डुबा दिया

जर्मनी के आसपास के कई देशों में कामुक और यौन सेवाओं को पहले से ही अनुमति मिली हुई है और कई पड़ोसी देशों में वेश्यालय फिर से खुल गए हैं. स्विट्जरलैंड में वेश्यावृत्ति को अब चार सप्ताह के लिए फिर से अनुमति दी गई है और तब से वहाँ वेश्यालय के संबंध में कोरोना का कोई मामला सामने नहीं आया है.सेक्स वर्कर्स के संगठन ने कहा कि अन्य उद्योगों की तरह वेश्यालयों के लिए भी कोरोनवायरस सुरक्षा उपायों को शामिल किया जाना होगा. जैसे फेस मास्क के उपयोग की आवश्यकता, हवादार कमरे और वेश्यालय में आने वाले लोगों का रिकार्ड रखना जरुरी होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading