पाकिस्तान में एक और सिख लड़की का अपहरण, जबरन धर्मांतरण के बाद निकाह

पाकिस्तान में एक और सिख लड़की का अपहरण
पाकिस्तान में एक और सिख लड़की का अपहरण

Sikh girl kidnapped in Pakistan: पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाली लड़कियों की सुरक्षा के तमाम दावे फेल होते नज़र आ रहे हैं. राजधानी इस्लामाबाद से सिर्फ 40 किलोमीटर दूर हासन अब्दाल में शुक्रवार को एक सिख लड़की को अगवा कर उसका धर्मांतरण कर मुस्लिम लड़के से निकाह करा दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 7:39 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यक लड़कियों के अपहरण के बाद जबरन धर्मांतरण (Converted to Islam) के बाद शादी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान में शुक्रवार को एक और सिख लड़की अगवा कर ली गई है. इस लड़की का जबरन धर्मांतरण पराया गया और एक मुस्लिम युवक से इसका निकाह करा दिया गया है. ये घटना हासन अब्दाल क्षेत्र की बताई जा रही है जो कि राजधानी इस्लामाबाद से सिर्फ 40 किलोमीटर दूर है. बीते ९ महीनों में ये इसे तरह का 55वां मामला बताया जा रहा है.

डॉन के मुताबिक लड़की की उम्र 22 साल बताई जा रही है लेकिन इससे जुड़ी और कोई भी जानकारी पुलिस ने देने से इनकार कर दिया है. बीते साल भी ननकाना में गुरुद्वारा तंबू साहिब के मुख्य ग्रंथी की बेटी को भी अगवा कर लिया गया था. इसके बाद उसका भी जबरन धर्मांतरण कर एक मुस्लिम लड़के से उनकी शादी करा दी गयी थी. रिपोर्ट के मुताबिक ये सिख लड़की शुक्रवार को घर से किसी काम के लिए निकली थी और फिर लापता हो गई. डीएसपी राजा फैयाज उल हसन ने बताया- हासन अब्दाल पुलिस स्टेशन में अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया गया है. लड़की के पिता ने इस बारे में लिखित शिकायत दी थी. हम लड़की की तलाश कर रहे हैं.

परिवार के पास भिजवाया गया मैसेज
रिपोर्ट के मुताबिक लड़की के मोबाइल फोन से एक मैसेज किया गया है जिसमें कहा गया है कि वो अपनी मर्जी से इस्लाम कबूल कर चुकी है. इसके अलावा किसी पसंद के लड़के से निकाह भी कर चुकी है. हालांकि पुलिस लड़की की तलाश कर रही है जिससे उसका बयान दर्ज किया जा सके. सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अमीर सिंह ने घटना की पुष्टि की और बताया- पीड़ित परिवार गुरुद्वारा पुंजा साहिब के करीब रहता था. लड़की के पिता और चाचा ने पंजाब प्रांत के एक मंत्री से मुलाकात कर उनसे मदद मांगी है.



बता दें कि पाकिस्तान में गैर-मुस्लिम लड़कियों का जबरन अपहरण के सैंकड़ों मामले सामने आ चुके हैं. यूनाइटेड स्टेट्स कमिशन ऑन इंटरनेशनल रिलिजियस फ्रीडम के डेटा की मानें तो पाकिस्तान में हर साल 1 हजार से ज्यादा (12 से 28 साल के बीच) लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराया जाता है. उनसे इस्लाम कबूलवाया जाता है. उन्हें अगवा किया जाता है, बलात्कार किया जाता है और फिर जबरन उनकी शादी की जाती है. इनमें ज्यादातर हिंदू और ईसाई लड़कियां ही होती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज