लाइव टीवी

चीन में 10 बजे तक बच्चों का सोना किया गया अनिवार्य, पैरेंट्स ने इसे कर्फ्यू बताया

News18Hindi
Updated: November 7, 2019, 1:25 PM IST
चीन में 10 बजे तक बच्चों का सोना किया गया अनिवार्य, पैरेंट्स ने इसे कर्फ्यू बताया
चीन में बच्चों के सोने का समय किया गया निर्धारित

शिक्षा विभाग (education Department) की ओर से जारी की गई नई गाइड लाइन के मुताबिक अगर कोई बच्चा होमवर्क (homework) नहीं कर पाता है तो भी उसे तय समय पर सोने की छूट दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 1:25 PM IST
  • Share this:
चीन (China) के झेजियांग प्रांत (Zhejiang region) में स्कूली बच्चों के सोने के समय को लेकर नए निर्देश जारी किए गए हैं. बदले नियम के मुताबिक सभी बच्चों के लिए 10 बजे से पहले सोना अनिवार्य कर दिया गया है. शिक्षा विभाग (education Department) की ओर से जारी की गई नई गाइड लाइन के मुताबिक अगर कोई बच्चा होमवर्क (homework) नहीं कर पाता है तो भी उसे तय समय पर सोने की छूट दी जाएगी. इसी तरह प्राइमरी स्कूल के छात्रों के लिए सोने का समय 9 बजे सुझाया गया है.

पूर्वी झेजियांग प्रांत के शिक्षा विभाग ने बाकायदा 33 बिंदुओं वाला मसौदा प्रकाशित किया है. इस मसौदे को लेकर अब बहस छिड़ गई है. अभिभावक नए नियम की आलोचना कर रहे हैं. नए नियम के मुताबिक बच्चे अगर होमवर्क नहीं कर पाते हैं तो भी उन्हें तय समय पर बिस्तर में जाने को कहा गया है. अभिभावकों ने शिक्षा विभाग के इस नए नियम को 'होमवर्क कर्फ्यू' का नाम दिया है. माता-पिता का तर्क है कि इससे बच्चे प्रतिस्पर्धा में पिछड़ जाएंगे.

इसे भी पढ़ें :- खराब है चीनी हथियारों की क्वालिटी, बढ़ा रहा है खतरा: एक्सपर्ट

शिक्षा विभाग की ओर से जारी मसौदे में बच्चों के सोने के लिए आदर्श समय का सुझाव दिया गया है. इसमें परिजनों को सुझाव दिया गया है कि वह अपने बच्चों की दूसरे बच्चों से प्रतिस्पर्धा न करें. वीकेंड और छुट्टियों के दिन बच्चों पर पढ़ने के लिए किसी भी तरह का दबाव न बनाया जाए और अतिरिक्त पढ़ाई न कराई जाए. बता दें कि चीन में बच्चों पर हमेशा से पढ़ाई का दबाव बनाया जाता रहा है. इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि चीन की यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए गाओकाओ परीक्षा देनी पड़ती है. इस परीक्षा को सबसे मुश्किल माना जाता है. चीन की यूनिवर्सिटी में प्रवेश का एकमात्र यही रास्ता है.

इसे भी पढ़ें :- सोने से बनी है यह टॉयलेट सीट, जड़े हैं 40,815 हीरे, कीमत कर देगी आपको हैरान

वीडियो गेम खेलने का भी तय किया गया नियम
चीन में 18 साल से कम उम्र के बच्चों के वीडियो गेम खेलने का भी नियम तय किया गया है. इस नियम के मुताबिक बच्चों को रात 10 बजे से सुबह आठ बजे के बीच ऑनलाइन गेम खेलने पर प्रतिबंध रहेगा. बच्चों को सप्ताह के दिनों में सिर्फ 90 मिनट और सप्ताहांत और छुट्टियों के दिन तीन घंटे तक गेम खेलने की अनुमति दी गई है. बच्चों में वीडियो गेम की बढ़ती लत से छुटकारा दिलाने के लिए इस तरह का कदम उठाया गया है.
Loading...

इसे भी पढ़ें :-

अमेरिका में मुस्लिम महिला समेत 4 भारतीय-अमेरिकियों ने चुनाव जीतकर रचा इतिहास
PAK नेता का दावा- नवाज शरीफ को यासिर अराफात की तरह दिया जा रहा धीमा जहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 11:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...