पाकिस्तानी सेना और ISI ने मुझे हटाकर इमरान खान की 'कठपुतली सरकार' बनवाई: नवाज़ शरीफ

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि सेना प्रमुख कमर बाजवा ने उनकी सरकार गिराई. (File Photo)
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि सेना प्रमुख कमर बाजवा ने उनकी सरकार गिराई. (File Photo)

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaj Sharif) ने पाकिस्तान के सेना प्रमुख (Army Chief Qamar Bajwa) पर उनकी सरकार को गिराने का आरोप लगाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 1:48 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaj Sharif) ने पाकिस्तान के सेना प्रमुख (Army Chief Qamar Bajwa) पर उनकी सरकार को गिराने का आरोप लगाया. पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ ने लंदन से वीडियो लिंक के माध्यम से गुजरांवाला में पीडीएम की एक रैली (PDM Rally) को संबोधित करते हुए सेना प्रमुख जनरल क़मर बाजवा और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज़ हमीद पर कई आरोप लगाए. नवाज शरीफ़ ने इन दोनों पर चुनाव में धांधली करने, उनकी सरकार को हटाने, मीडिया का मज़ाक उड़ाने, न्यायपालिका पर दबाव बनाने और विपक्षी राजनेताओं को निशाना बनाने जैसे कई आरोप लगाए गए. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने देश की सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई पर उन्हें अपदस्थ करने और इमरान खान को सत्ता में ला कर अपनी ‘‘कठपुतली सरकार’’ बनवाने का आरोप लगाया.

'सेना प्रमुख ने मेरी सरकार गिरा कर इमरान को प्रधानमंत्री बनवाया'

नवाज़ शरीफ ने लंदन से वीडियो लिंक के माध्यम से शुक्रवार रात हुई इस चुनावी रैली में कहा कि देश के सेना प्रमुख जनरल क़मर बाजवा ही उनकी सरकार को गिराने और इमरान खान को प्रधानमंत्री बनवाने के लिए जिम्मेदार है. पूर्व प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान की इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस जासूस एजेंसी के प्रमुख पर उनकी सरकार के खिलाफ साजिश रचने में शामिल होने का भी आरोप लगाया.



शरीफ के भाषण को नहीं दिया ज्यादातर टीवी चैनलों ने जगह
शरीफ के भाषण का अधिकांश हिस्सा देश के ब्रॉडकास्ट रेगुलेटरी अथॉरिटी द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के कारण टीवी समाचार चैनलों द्वारा कवर नहीं किया गया. वर्तमान इमरान खान सरकार ने घोषित अपराधियों और फरार लोगों के भाषणों, बयानों और साक्षात्कारों के प्रसारण पर रोक लगाई हुई है. इस सबके बावजूद हजारों लोग पीडीएम की रैली में आये हुए थे.

रैली में शामिल हुए 20 हजार से अधिक लोग

एक अनुमान के अनुसार इस रैली में शामिल होने वाले लोगों की संख्या लगभग 20,000 है.
शरीफ ने अपने भाषण में बाजवा को संबोधित करते हुए कहा कि यह सब आपका काम है. आपने हमारी सरकार को उखाड़ कर फेंक दिया, जो अच्छी तरह से काम कर रही थी. आपने अपने लोगों सत्ता थमा दी. रोटी की कीमत अब दस रुपए है और दवा की कीमतें आसमान छू रही हैं. लोग अपने बिजली बिलों का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं.

नवाज अपने लोगों के लिए बोलता रहेगा: शरीफ

नवाज शरीफ ने यह भी कहा कि भले आप मुझे देशद्रोही कहो या बागी कहो या मुझे दोषी बनाओ. मेरे खिलाफ झूठे मामले दर्ज करो लेकिन नवाज शरीफ अपने लोगों के लिए बोलता रहेगा. प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार को हटाने के लिए एक देशव्यापी विरोध अभियान के तहत गुजरांवाला में पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट द्वारा आयोजित पहली सार्वजनिक रैली में हजारों लोग इकट्ठा हुए थे. पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM), 11 विपक्षी दलों का एक नया गठबंधन है, जिसमें पाकिस्तान मुस्लिम लीग का नवाज़ गुट (PML-N), पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP), और जमीयत उलेमा इस्लाम का फ़ज़ल गुट (JUI-F) शामिल है.

ये भी पढ़ें: थाईलैंड: रानी के खिलाफ हिंसा के आरोप में दो प्रदर्शनकारी गिरफ्तार, उम्रकैद की होगी सजा! 

फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर शिक्षक की गला रेतकर हत्या 

पिछले महीने इस गठबंधन के बनने के बाद शुक्रवार को इसका पहला बड़ा सार्वजनिक प्रदर्शन हुआ. सभी मुख्य विपक्षी दलों के महत्वपूर्ण नेताओं ने इस रैली को संबोधित किया जिनमें पीएमएल-एन प्रमुख नवाज शरीफ, पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी और जेयूआई-एफ प्रमुख फजल-उर-रहमान शामिल हैं. सभी ने खान सरकार की आलोचना की जिसे उन्होंने खराब शासन और अर्थव्यवस्था का कुप्रबंधन कहा. रैली में नेताओं ने खान के इस्तीफे और राजनीति में सैन्य हस्तक्षेप को समाप्त करने का आह्वान किया. हजारों की संख्या में विपक्षी समर्थकों ने गुजरांवाला स्टेडियम में प्रदर्शन किया और सभी ने 'जाओ इमरान जाओ, तुम्हारा वक़्त हो गया है' के नारे लगाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज