होम /न्यूज /दुनिया /

ऐसी दिखेगी वर्ल्ड की पहली बिटकॉइन सिटी, अल साल्वाडोर ने शेयर किया डिजाइन

ऐसी दिखेगी वर्ल्ड की पहली बिटकॉइन सिटी, अल साल्वाडोर ने शेयर किया डिजाइन

बिटक्वाइन सिटी की घोषणा पहली बार छह महीने पहले लैटिन अमेरिकी बिटक्वाइन और ब्लॉकचेन सम्मेलन के दौरान की गई थी.

बिटक्वाइन सिटी की घोषणा पहली बार छह महीने पहले लैटिन अमेरिकी बिटक्वाइन और ब्लॉकचेन सम्मेलन के दौरान की गई थी.

Bitcoin City: अल साल्वाडोर दुनिया का पहला देश है, जिसने पिछले साल बिटकॉइन को आधिकारिक मुद्रा के रूप में मान्यता दी है. इसके तहत लाखों डॉलर के सरकारी फंड का निवेश क्रिप्टोकरेंसी में किया गया है. इसी सोमवार को यहां की सरकार की ओर से 30 हजार डॉलर का निवेश किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

सान साल्वाडोर. मध्य अमेरिका के सबसे छोटे देश अल साल्वाडोर के राष्ट्रपति नायब बुकेले ने निर्माणाधीन बिटकॉइन शहर (Bitcoin City) का डिजाइन जारी किया है. उन्होंने कहा कि विकास का यह रूप बेहद खूबसूरत है. राष्ट्रपति बुकेले ने सोशल मीडिया पर क्रिप्टो शहर के मॉडल की तस्वीरें शेयर कीं, जिसका निर्माण मध्य अमेरिकी देश के दक्षिण-पूर्व में फोन्सेका की खाड़ी पर कोंचगुआ ज्वालामुखी के पास किया जाएगा.

बिटकॉइन सिटी राष्ट्रपति की प्रमुख परियोजनाओं में से एक है. बिटकॉइन सिटी की घोषणा पहली बार छह महीने पहले लैटिन अमेरिकी बिटकॉइन और ब्लॉकचेन सम्मेलन के दौरान की गई थी. यह डिजाइन ऐसे समय में दुनिया के सामने आई है, जब क्रिप्टो बाजार में मंदी का दौर जारी है और यह पिछले साल नवंबर में अपने उच्चतम स्तर से 50 प्रतिशत तक गिर गया है.

इस साल के अंत तक निर्माण शुरू होने की संभावना
अल सल्वाडोर के राष्ट्रपति नायब बुकेले ने संभावना जताई है कि इस साल के आखिरी तक बिटकॉइन सिटी का निर्माण शुरू हो जाएगा. बुकेले ने क्रिप्टो-संचालित सिटी का एक स्केल मॉडल और कुछ डिजाइन सोशल मीडिया पर शेयर की हैं.

बिटकॉइन को अपनाने वाला पहला देश
बुकेले बिटकॉइन प्रेमी हैं. अल सल्वाडोर ने सितंबर में बिटकॉइन को कानूनी मान्यता दी थी. यह ऐसा करने वाला दुनिया का पहला देश है. इस देश ने क्रिप्टो में लाखों डॉलर का निवेश किया है. हालांकि यह अलग बात है कि यह डिजाइन ऐसे समय में लॉन्च किया गया, जब नवंबर, 2021 में अपने सर्वकालिक उच्च स्तर के बाद बिटकॉइन के मूल्य में 50 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई है.

सिर्फ 20% लोग कर रहे बिटकॉइन का इस्तेमाल
उधर, अमेरिका स्थित नेशनल ब्यूरो ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च के एक हालिया सर्वेक्षण के आंकड़ों के मुताबिक, केवल 20 प्रतिशत सल्वाडोरियन बिटकॉइन का उपयोग कर रहे हैं. यहां के अधिकांश लोग अभी भी अमेरिकी डॉलर पर निर्भर हैं. वहीं अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भी चेतावनी दी है कि बिटकॉइन को आधिकारिक रूप से अपनाने से वित्तीय स्थिरता और उपभोक्ता संरक्षण के लिए बड़े जोखिम हो सकते हैं.

बिटक्‍वाइन शहर होगा शानदार
राष्ट्रपति ने कहा कि शहर को पहले टेकापा प्‍लांट से चलाया जाएगा फिर बाद में कोंचागुआ प्‍लांट को शुरू किया जाएगा. इस प्रॉजेक्‍ट को फंड करने के लिए एल सल्‍वाडोर 1 अरब डॉलर का बिटकॉइन बॉन्‍ड साल 2022 में जारी करेगा. यानी इस शहर की शुरुआत ही बिटकॉइन से होगी. ब्‍लॉकस्‍ट्रीम के मुख्‍य रणनीतिकार सैमसन मोउ ने राष्‍ट्रपति के साथ मंच पर यह घोषणा की कि आधा ‘ज्‍वालमुखी बांड’ बिटकॉइन में इस्‍तेमाल किया जाएगा.

नहीं भरना होगा इनकम टैक्स
राष्‍ट्रपति ने कहा कि इस बिटकॉइन शहर में रहने वाले लोगों को केवल वैट देना होगा. यानी यहां काभी भी कोई इनकम टैक्‍स नहीं लगेगा. यहां कैपिटल गेन टैक्‍स, प्रॉपर्टी टैक्‍स ,पेरोल टैक्‍स लगेगा ज़ीरो होगा. हालांकि इसका निर्माण कब शुरू होगा और कब यह बन कर तैयार होगा यह अभी तय नहीं हुआ है.

बिटकॉइन है क्या?
बिटकॉइन एक वर्चुअल यानी आभासी मुद्रा है, आभासी मतलब कि अन्य मुद्रा की तरह इसका कोई भौतिक स्वरुप नहीं है यह एक डिजिटल करेंसी है. यह एक ऐसी मुद्रा है जिसको आप ना तो देख सकते हैं और न ही छू सकते हैं. यह केवल इलेक्ट्रॉनिकली स्टोर होती है. अगर किसी के पास बिटकॉइन है तो वह आम मुद्रा की तरह ही सामान खरीद सकता है.

Tags: Bitcoin, Price of one bitcoin

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर