Home /News /world /

शख्स को लगी ऐसी बीमारी, डॉक्टर्स को बताने में आ रही थी शर्म, सीटी स्कैन देखकर उड़े होश

शख्स को लगी ऐसी बीमारी, डॉक्टर्स को बताने में आ रही थी शर्म, सीटी स्कैन देखकर उड़े होश

जब मुसीबत ज्यादा बढ़ गई तो उसने हॉस्पिटल जाना बेहतर समझा.

जब मुसीबत ज्यादा बढ़ गई तो उसने हॉस्पिटल जाना बेहतर समझा.

इस रिसर्च में बताया गया कि 33 साल के एक शख्स को बीते दो सालों से यह समस्या थी. लेकिन उसने किसी डॉक्टर से इसकी जांच नहीं कराई. जब मुसीबत ज्यादा बढ़ गई तो उन्होंने हॉस्पिटल जाना बेहतर समझा.

    वॉशिंगटन. अमेरिकी वैज्ञानिकों (American Scientist) के सामने एक बेहद शॉकिंग केस सामने आया है. इसमें एक मरीज के प्राइवेट पार्ट और गुदा (शरीर में पीछे का निचला हिस्सा rectum) दोनों गलत तरीके से काम कर रहे थे. यानी मरीज के प्राइवेट पार्ट से गैस पास होती थी और उसके गुदा से यूरिन निकलती है. हाल ही में ‘ए क्यूरियस केस ऑफ रेक्टल इजैक्युलेशन’ (‘A Curious Case of Rectal Ejaculation’) नामक शोध में इस अजीबाेगरीब कंडीशन (Rare Condition) का जिक्र किया गया है. इस रिसर्च में बताया गया कि 33 साल के एक शख्स को बीते दो सालों से यह समस्या थी. लेकिन उसने किसी डॉक्टर से इसकी जांच नहीं कराई. जब मुसीबत ज्यादा बढ़ गई तो उसने हॉस्पिटल जाना बेहतर समझा.

    रिपोर्ट के मुताबिक, शख्स नशीली दवाएं लेने का आदी था. पांच दिन तक उसके टेस्टिकुलर में दर्द (testicular pain) रहा. इसके बाद उसने नोटिस किया कि काफी मात्रा में यूरिन और स्पर्म उसके गुदा (मलाशय) के जरिए निकल रहा है और ये समस्या दो साल तक बनी रही. अमेरिकी वैज्ञानिकों ने रिसर्च पेपर में बताया कि वह इतनी गंभीर कंडीशन से गुजर रहा था, बावजूद उसे डॉक्टर्स के पास आने में करीब दो साल लगा गए.

    क्याें हुई ऐसी कंडीशन
    वैज्ञानिकों ने बताया कि अक्सर ऐसी कंडीशन में मानकर चलते हैं कि यह यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन है, जबकि उसके पेल्विस (pelvis) के सीटी स्कैन से खुलासा हुआ कि उसका दाएं टेस्टिकुलर ट्यूब में सूजन थी और प्रोस्टेट में गैस से भरी संरचना का पता चला, जो गुदा से जुड़ी हुई थी.

    गैस वाली संरचना की खोज में वैज्ञानिकों को अहसास हुआ कि पीड़ित शख्स के “रेक्टल-प्रोस्टेट फिस्टुला” (rectal-prostate fistul) था, यह प्रोस्टेट और मलाशय के बीच एक असामान्य कनेक्शन होता है. यह मलाशय को यूरिन से पास करने और मल को प्रोस्टेट से पास करने की इजाजत दे देता है. एक खास एक्स-रे में इसकी पुष्टि हो गई, जिसे वॉयडिंग सिस्टोयूरेथ्रोग्राम (VCUG) कहा जाता है.

    यानी दो शरीर के ऑर्गन इस तरह से जुड़ गए थे, जो सामान्य तो बिल्कुल नहीं थे. रिपोर्ट में वैज्ञानिकों ने बताया कि व्यक्ति कोकीन और मतिभ्रम वाली दवा, फेनसाइक्लिडीन के नशे में होने के कारण तीन सप्ताह तक कोमा में था. उस अस्पताल में भर्ती होने के दौरान उसे मूत्र नलिका (catheter) भी लगाई गई थी, जिसने उसे काफी नुकसान पहुंचाया. शुक्र है, एक सर्जरी के बाद शख्स को काफी आराम मिला और उसकी बॉडी नॉर्मल कंडिशन में आ गई.

    Tags: Bizarre news, Bizarre story, Medical, Research

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर