• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • SHOCKING: आंखों का रुटीन चेकअप कराने गई महिला, रिपोर्ट देखकर पैरों तले जमीन खिसकी

SHOCKING: आंखों का रुटीन चेकअप कराने गई महिला, रिपोर्ट देखकर पैरों तले जमीन खिसकी

हाल ही साराह नेशनल आइ हेल्थ अवयेरनेस के दौरान अपनी अनुसनी कहानी दुनिया को सुनाई.

हाल ही साराह नेशनल आइ हेल्थ अवयेरनेस के दौरान अपनी अनुसनी कहानी दुनिया को सुनाई.

साराह कार्डवेल 46 साल की हैं. दो बच्चों की मां चैरिटी ब्रेन ट्यून रिसर्च के साथ काम करती हैं. हाल ही उन्होंने नेशनल आइ हेल्थ अवयेरनेस के दौरान अपनी अनुसनी कहानी दुनिया को सुनाई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    लंदन. ब्रिटेन (Britain) में एक महिला आंखों का रुटीन चैकअप (Routine eye-test) कराने गई थी. कई महीनों से उसकी नजर धुंधली हो गई थी. लेकिन जब उसने चेकअप कराया तो उसे एक चौंकाने वाली बात पता चली, जिससे उसकी लाइफ में सब कुछ बदल गया. महिला को अपने जानलेवा ब्रेन ट्यूमर (Brain tumour) होने का पता चला. साराह कार्डवेल 46 साल की हैं. दो बच्चों की मां चैरिटी ब्रेन ट्यून रिसर्च के साथ काम करती हैं. हाल ही उन्होंने नेशनल आइ हेल्थ अवयेरनेस के दौरान अपनी अनुसनी कहानी दुनिया को सुनाई.

    साराह की आपबीती
    काफी महीनों से नजर धुंधली होने का कारण नवंबर 2018 में वह ऑप्टिशियंस के पास गईं. उससे पहले उसने काफी दिनों तक चश्मा भी पहना था. लेकिन कुछ फर्क नहीं पड़ा. ऑप्टिशियंस ने उसके कई टेस्ट लिए, कई ग्लास बदलने के बाद भी उसकी आंखों की रोशनी में अंतर नहीं आया. इसके बाद साराह को नेत्र रोग हॉस्पिटल जाने को कहा गया.

    वहां आइ स्पेशलिस्ट ने साराह के आंख के पिछले हिस्से की तस्वीरें लीं और कलर ब्लाइंडनेस टेस्ट करवाए. दो बच्चों की मां साराह ने बताया कि इसके बाद आइ स्पेशलिस्ट ने मुझसे कई तरह के सवाल पूछे, जैसे क्या वह जल्दी ही थक जाती है? या फिर उसे कोई अजीबोगरीब लक्षण नजर आया?

    साराह ने बताया, “मुझे एनीमिया के लिए आयरन की गोलियां दी गई थीं और कुछ बीमारी और चक्कर भी आए थे. मैं गंभीर सिरदर्द के कारण डॉक्टर के पास गई थी, लेकिन तब मुझे लगा था कि शायद बहुत ज्यादा काम इसकी वजह हो सकती है.

    shocking story of woman routine eye test uncovered brain tumour

    साराह ने रोते हुए अपने बच्चों को बताया कि कुछ दिनाें तक वह उनके साथ में नहीं रहेगी, उसे हॉस्पिटल में रहना होगा

    पैरों तले खिसक गई जमीन
    इसके बाद साराह को MRI स्कैन कराने को कहा गया. इस स्कैन में उसके ब्रेन में सिस्ट (ट्यूमर) नजर आया. अगले दिन उसे एक और MRI कराने को कहा गया. कुछ ही दिनों में वह एक न्यूरोसर्जन के पास बैठी थी. उसे बताया गया कि उसे ब्रेन ट्यूमर है जो उसकी ऑप्टिक नर्व पर बैठा हुआ है. सर्जन ने साराह से ऑपरेशन कराने को कहा. इतना सुनते ही साराह के पैरों तले जमीन खिसक गई. उसने रोते हुए अपने बच्चों को बताया कि कुछ दिनाें तक वह उनके साथ में नहीं रहेगी, उसे हॉस्पिटल में रहना होगा.

    परेशानियां खत्म नहीं हुईं
    डॉक्टर्स ने पांच घंटे की ब्रेन सर्जरी में ट्यूमर को निकाल दिया. उन्होंने साइनस के जरिए इस काम को अंजाम दिया. 22 दिसंबर 2018 में उसे हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई. लेकिन परेशानियां अभी खत्म नहीं हुई थीं. साराह ने बताया, “फरवरी के MRI स्कैन में सारी चीजें अच्छी जा रही थीं. लेकिन जून में MRI स्कैन में ट्यूमर फिर से उभर आया था. इससे मेरी आंखों में अजीब सी झुनझुनी हो रही थी. डॉक्टर्स ने ट्यूमर के रीग्रोथ के फिर से सर्जरी की. मुझे विश्वास नहीं हो रहा था.’

    साराह ने बताया, ‘इस बार मैं हॉस्पिटल से डिस्चार्ज तो हुई, लेकिन सेरेब्रोस्पाइनल फ्ल्यूड लीक और दिमाग में सूजन थी. मुझे एक बार फिर से हॉस्पिटल में जाना पड़ा. इस बार दो सर्जरी में लीक हाेने वाले फ्ल्यूड को फिक्स किया गया, ये वास्तव में भयानक अनुभव था. अब साराह साल में एक बार MRI स्कैन कराती है और उसकी स्थिति अब ठीक है. अब वह हर जगह अपने ब्रेन ट्यूमर के अनुभव को साझा करती है और बाकी लोगों को आंखों से जुड़ी प्रॉब्लम को हल्के में न लेने के लिए कहती हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज