सोमालिया में पहली बार DNA टेस्ट से पकड़ में आया रेपिस्ट, हुई जेल

demo pic.
demo pic.

ब्यूरो ऑफ फॉरेंसिक साइंस ने कहा ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी अपराधी को पकड़ने के लिए इस तरह का टेस्ट कराया गया है.

  • Share this:
सोमालिया में दुष्कर्म के बाद हत्या के एक मामले में पहली बार डीएनए साक्ष्यों का इस्तेमाल किया गया. इस बात की जानकारी देते हुए ब्यूरो ऑफ फॉरेंसिक साइंस ने कहा ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी अपराधी को पकड़ने के लिए इस तरह का टेस्ट कराया गया है.

जानकारी के मुताबिक फरवरी में एक 12 वर्षीय किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था. इसके साथ आरोपियों ने किशोरी की हत्या कर उसे सुनसान जगह पर फेंक दिया था. इस घटना के बाद से क्षेत्र में व्यापक तनाव पैदा हो गया था. ये मामला इतना गंभीर हो गया कि ब्यूरो ऑफ फॉरिंसिक साइंस को आगे आना पड़ा. बताया जाता है कि पुंटलैंड में साल 2017 में देश की पहली फॉरेंसिक प्रयोगशाला का निमार्ण किया गया था. इस प्रयोगशाला का निर्माण इसलिए किया गया था जिससे देश में यौन हिंसा जैसे आपराध पर लगाम लगाई जा सके.

इसे भी पढ़ें :- आपकी मौत का दिन-तारीख बता देगी ये 'मशीन', शोध में हुआ दावा



किशोरी से दुष्कर्म के आरोप में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. तीनों का ही डीएनए टेस्ट कराया गया और सही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. इस टेस्ट के बाद सोमालिया दुनिया के उन देशों में शामिल हो गया है जहां साइंस का इस्तेमाल कर किसी अपराध को सुलझाया गया है.
ये भी पढ़ें: इन सात तरीकों से हो सकता है पृथ्वी का सर्वनाश, आंधी-तूफान हैं इशारे?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज