कोरोना: सिंगापुर में 'फेक न्यूज़' के निशाने पर भारतीय कामगार, भड़क सकती है हिंसा

कोरोना: सिंगापुर में 'फेक न्यूज़' के निशाने पर भारतीय कामगार, भड़क सकती है हिंसा
सिंगापुर में बड़ी संख्या में भारतीय कामगार भी संक्रमित पाए गए हैं.

बड़ी संख्या में संक्रमण (Covid-19) के मामले सामने आने के बाद सिंगापुर के सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म्स पर भारतीय कामगारों के खिलाफ फेक न्यूज़ (Fake News) और भ्रामक जानकारियां फैलाई जा रहीं हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 8:02 AM IST
  • Share this:
सिंगापुर. सिंगापुर (Singapore) में बड़ी संख्या में दूसरे देशों से आकर काम कर रहे लोग कोरोना संक्रमित (Coronavirus) पाए गए हैं. इनमें बड़ी संख्या में भारतीय (Indian Worker) भी शामिल हैं. इन्हें क्वारंटीन और सेल्फ आइसोलेशन में डॉरमिट्रीज में रखा गया है. हालांकि बड़ी संख्या में संक्रमण (Covid-19) के मामले सामने आने के बाद सिंगापुर के सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म्स पर इन कामगारों के खिलाफ फेक न्यूज़ (Fake News) और भ्रामक जानकारियां फैलाई जा रहीं हैं. सिंगापुर सरकार ने बुधवार को प्रवासी कामगारों से जुड़ी फर्जी खबरें और वीडियो फैलाने वालों के लिए कड़ी चेतावनी जारी की है.

स्ट्रेटटाइम्स के मुताबिक सिंगापुर में काम कर रहे प्रवासी कामगारों में सबसे बड़ी संख्या में भारतीय हैं उसके बाद बंगलादेशी, पाकिस्तानी और अन्य दक्षिण एशियाई देशों के लोग भी शामिल हैं. इनमें से ज्यादातर लोग डॉरमिट्रीज में रहते हैं क्योंकि ये अपेक्षाकृत तौर पर सस्ती भी हैं. बीते दिनों सिंगापुर में संक्रमण के मामलों में अचानक बढ़ोत्तरी आई क्योंकि डॉरमिट्रीज में रहने वाले भारतीय समेत तमाम विदेशी कामगारों में बड़ी संख्या में लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. कामगारों के लिए काम कर रहे कई संगठनों ने सरकार से कहा है कि हेट स्पीच वाले ऐसे फर्जी मैसेज कामगारों के खिलाफ हिंसा भड़का सकते हैं.

फेक न्यूज़ के जरिए फैलाई जा रही घृणा
सिंगापुर के कानून एवं गृह मामलों के मंत्री के षण्मुगम ने बुधवार को चेतावनी दी है कि ऐसे फर्जी वीडियो या संदेश कानून-व्यवस्था संबंधी गंभीर दिक्कतें पैदा हो सकती हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे वीडियो फैलाने वालों पर प्रशासन नजर रखे हुए है. जानबूझकर फर्जी वीडियो फैलाने वालों को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. समाचार चैनल न्यूज एशिया की बुधवार की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय मूल के मंत्री की चेतावनी तब आई है जब कोविड-19 के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए सैकड़ों विदेशी कामगारों को उनकी डॉरमिट्रीज छोड़ने से रोक दिया गया है, क्योंकि सिंगापुर में रोज जो नए मामले आ रहे हैं, उसमें से ज्यादातर इन विदेशी कामगारों के ही हैं.
देश के कुल संक्रमितों में 75% से ज्यादा विदेशी कामगार


खबरों के मुताबिक, इन डॉरमिट्रीज में रहने वाले 3,23,000 प्रवासी कामगारों में अब तक कुल 12,183 लोग संक्रमित पाए गए हैं. इस बीच, सिंगापुर में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 690 नये मामले सामने आये. इसके साथ ही यहां कोविड-19 मरीजों की कुल संख्या बढ़ कर 15,641 पहुंच गई, जिनमें ज्यादातर विदेशी कामगार हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी. मंत्रालय ने बताया कि 690 मामलों में सिंगापुर के छह नागरिक हैं या स्थायी निवासी हैं जबकि शेष लोग वर्क परमिट वाले विदेशी नागरिक हैं.

 

ये भी पढ़ें:

700 साल पहले काला अजार बीमारी से लड़ने के लिए शुरू हुई थी सोशल डिस्टेंसिंग

वुहान के दो अस्‍पतालों की हवा में पाया गया कोरोना वायरस

राजा रवि वर्मा ने बनाईं थीं पौराणिक किरदारों की न्यूड पेंटिग्स, हुए थे विवाद

इब्तिदा-ऐ-इश्क है रोता है क्या, पढ़ें मीर तक़ी 'मीर' के शेर और शायरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज