लाइव टीवी

रूस के 11वें सबसे अमीर व्‍यक्ति का बेटा 500 डॉलर महीना किराए के फ्लैट में रहता है

News18Hindi
Updated: January 30, 2020, 1:37 PM IST
रूस के 11वें सबसे अमीर व्‍यक्ति का बेटा 500 डॉलर महीना किराए के फ्लैट में रहता है
अलेक्जेंडर फ्रिडमैन अभी मात्र 19 वर्ष के हैं इसके बावजूद वह अपने पिता से किसी तरह की मद्द लिए बिना अपने दम पर अपना कारोबार चला रहे हैं. फोटो साभार/ इंस्‍टाग्राम

फ्रिडमैन का कहना है कि आज उसकी मेहनत का ही फल है कि लोग उसके पिता की वजह से नहीं, बल्कि उनकी अपनी मेहनत की वजह से माल खरीद रहे हैं. वह अपने खाने, पहनने का खर्च खुद ही उठाते हैं और वह जिस पर सोते हैं सारा सामान भी उन्‍होंने ही अपने पैसे से खरीदा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2020, 1:37 PM IST
  • Share this:
शायद आपको यह जानकर हैरानी हो कि अलेक्जेंडर फ्रिडमैन (Alexander Fridman) रूस के 11 वें सबसे अमीर व्यक्ति का बेटा है. मगर एक अमीर पिता का बेटा होने के बावजूद वह आत्‍मनिर्भर हैं और आज के युवाओं के लिए एक मिसाल कहा जा सकता है. उसकी यह बात लोगों को आकर्षित करती है कि अपने पिता के अरबपति होने के बावजूद खुद मास्को (Moscow) के बाहरी इलाके में दो कमरों के फ्लैट में 500 डॉलर महीने के किराए पर रहता है. उसके पास अपनी कोई गाड़ी नहीं है और वह ऑफिस जाने के लिए मेट्रो से सफर करता है.

ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक 19 साल के फ्रिडमैन ने बताया कि वह अपने खाने, पहनने का खर्च खुद ही उठाते हैं और वह जिस पर सोते हैं सारा सामान भी उन्‍होंने ही अपने पैसे से खरीदा है. गौरतलब है कि फ्रिडमैन के पिता मिखैल फ्रिडमैन (Mikhail Fridman) की 13.17 बिलियन डॉलर की संपत्ति है. उनका बेटा अलेक्जेंडर फ्रिडमैन लंदन के पास एक हाई स्कूल से स्नातक करने के बाद पिछले साल ही मास्को से लौटा है.

इसके बाद उन्‍होंने अपना बिजनस करने की सोची. इसके लिए उन्‍होंने पांच महीने पहले 05 कर्मचारियों के साथ मिलकर 405,000 डॉलर से अपना बिजनस शुरू किया. वहीं उन्‍होंने मास्‍को के कई रेस्तरां को हुक्का उत्पादों की सप्लाई करना भी शुरू की. उनका कहना है कि अगले महीने से वह एक ऑनलाइन मार्केटिंग फर्म की शुरुआत भी करेंगे.

यह किसी भी पिता के लिए गर्व की बात है कि वह अपने पिता की किसी तरह की मद्द के बिना अपने दम पर अपने बिजनस को आगे बढ़ा रहा है. फिलहाल वह अपने पिता की खुदरा दुकानों को भी उत्पाद सप्लाई करने का काम कर रहा है. फ्रिडमैन का कहना है कि आज उसकी मेहनत का ही फल है कि लोग उसके पिता की वजह से नहीं, बल्कि उसकी अपनी मेहनत की वजह से माल खरीद रहे हैं.

वह कहते हैं कि 'मेरे पिता ने मुझे बताया कि हमारे देश में व्यापार और राजनीति का गहरा संबंध है. मेरे पिता ने हमेशा मुझे बताया कि वह अपने धन को दान में स्थानांतरित करने की योजना बना रहे हैं. "मैं इस समझ के साथ जी रहा था कि कोई भाग्‍य का चमत्‍कार नहीं होगा, बल्कि मुझे खुद अपने आप को आत्‍मनिर्भर बनाना है.'

विरासत में मिला कारोबार
हालांकि ऐसे लोगों की लंबी फेहरिस्‍त है जिन्‍होंने अपने बेटों को अपना कारोबार विरासत में सौंपा. पिछले साल 54 साल के स्टील मैग्नेट एलेक्सी मोर्डशोव ने अपने बेटों किरील और निकिता को 1.7 अरब डॉलर दिए. 71 साल के व्लादिमीर इवतुशेनकोव ने सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली सिस्तेमा पीजेएससी में अपने बेटे फेलिक्स (Felix) को 05 फीसदी हिस्सेदारी दी.फिलहाल अलेक्जेंडर फ्रिडमैन अपना कारोबार अपने दम पर चलाते हैं. उन्‍होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि मैंने यह अपने पिता से सीखा है. मेरे पिता ने भी हमेशा मुझसे कहा, 'आप मेरे हर प्रोजेक्ट में भागीदार हो सकते हैं. अगर आप कमाना चाहते हैं, तो आपको साझा करने में सक्षम होना चाहिए.'

ये भी पढ़ें- बरमूडा ट्राएंगल में गायब होने वाले जहाज का मलबा 100 साल बाद खोज लिया गया

            फेसबुूक और गूगल को यूजर डेटा दे रहा Amazon का रिंग ऐप, रिपोर्ट में खुलासा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 1:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर