Home /News /world /

'ओमिक्रॉन' पर दुनिया के बर्ताव से दक्षिण अफ्रीका दुखी, कहा- तारीफ नहीं सजा मिली

'ओमिक्रॉन' पर दुनिया के बर्ताव से दक्षिण अफ्रीका दुखी, कहा- तारीफ नहीं सजा मिली

दक्षिण अफ्रीका ने 24 नवंबर को डब्ल्युएचओ को पहली बार नए वेरिएंट के बारे में बताया था. (प्रतीकात्मक तस्वीर: AP)

दक्षिण अफ्रीका ने 24 नवंबर को डब्ल्युएचओ को पहली बार नए वेरिएंट के बारे में बताया था. (प्रतीकात्मक तस्वीर: AP)

Coronavirus New Variant: बयान के अनुसार, अफ्रीका में नए वेरिएंट को लेकर जिस तरह की प्रतिक्रिया दी जा रही है, वह अन्य देशों से अलग है. बीबीसी से बातचीत में अफ्रीकी संघ के अधिकारी ने कहा कि नए वेरिएंट के लिए विकसित देशों को दोषी बताया गया था. AU वैक्सीन डिलीवरी एलायंस के सह अध्यक्ष अयोदे अलकिजा ने कहा, 'जो चल रहा है वह दुनिया में एक जैसा टीकाकरण न होने का नतीजा है. यह धनी देशों की जमाखोरी का परिणाम है और यह किसी भी तरह से स्वीकार्य नहीं है.' उन्होंने प्रतिबंधों को राजनीति से प्रेरित बताया है.

अधिक पढ़ें ...

    केप टाउन. कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) की खोज के बाद कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) पर यात्राओं के संबंध में प्रतिबंध लगा दिए हैं. अन्य देशों से मिले इस व्यवहार पर अफ्रीका ने भी विरोध जताया है. अधिकारियों का कहना है कि इस तरह के प्रयास के लिए दंड के बजाए तारीफ मिलनी चाहिए. ओमिक्रॉन पहली बार दक्षिण अफ्रीका में ही पाया गया था. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी इस वेरिएंट पर चिंता जाहिर कर चुका है.

    बीबीसी के अनुसार, दक्षिण अफ्रीका के विदेश मंत्रालय की तरफ से नई पाबंदियों को लेकर बयान जारी किया गया है. सरकार का कहना है कि अफ्रीका ने नए वेरिएंट के बारे में दुनिया को जानकारी दी, इसके चलते उसपर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं. अफ्रीका ने 24 नवंबर को डब्ल्युएचओ को पहली बार नए वेरिएंट के बारे में बताया था. मंत्रालय ने कहा कि साइंस की इतनी अच्छी कोशिशों की तारीफ की जानी चाहिए, दंडित नहीं.

    यह भी पढ़ें: Coronavirus Omicron : कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर पीएम मोदी चिंतित, अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक का हो सकता है फैसला!

    बयान के अनुसार, अफ्रीका में नए वेरिएंट को लेकर जिस तरह की प्रतिक्रिया दी जा रही है, वह अन्य देशों से अलग है. बीबीसी से बातचीत में अफ्रीकी संघ के अधिकारी ने कहा कि नए वेरिएंट के लिए विकसित देशों को दोषी बताया गया था. AU वैक्सीन डिलीवरी एलायंस के सह अध्यक्ष अयोदे अलकिजा ने कहा, ‘जो चल रहा है वह दुनिया में एक जैसा टीकाकरण न होने का नतीजा है. यह धनी देशों की जमाखोरी का परिणाम है और यह किसी भी तरह से स्वीकार्य नहीं है.’ उन्होंने प्रतिबंधों को राजनीति से प्रेरित बताया है.

    कहां-कहां मिल चुके हैं मरीज
    भाषा के अनुसार, सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पाए जाने के महज कुछ दिनों बाद ही कोरोना वायरस के संभवत: अधिक संक्रामक नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ ने कई और यूरोपीय देशों को अपनी चपेट में ले लिया है, जिसके कारण दुनिया भर की सरकारों को इसे नियंत्रित करने के लिए कदम उठाने को मजबूर होना पड़ा है. ब्रिटेन ने ओमीक्रोन से संक्रमण के दो मामले आने के बाद शनिवार को मास्क पहनने और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के आगमन संबंधी नियमों को सख्त कर दिया. जर्मनी और इटली में भी शनिवार को ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमण की पुष्टि हुई. बेल्जियम, हांगकांग और इजराइल पहुंचने वाले यात्रियों में भी वायरस के इस स्वरूप का संक्रमण मिला है.

    Tags: Coronavirus, COVID 19, Omicron, South africa

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर