• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • दक्षिण अफ्रीका ने चीनी टीके के परीक्षण के लिए कुछ बच्चों को टीका लगाया 

दक्षिण अफ्रीका ने चीनी टीके के परीक्षण के लिए कुछ बच्चों को टीका लगाया 

दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे वैश्विक चरण के तहत चीनी टीके का परीक्षण किया.  (सांकेतिक फोटो)

दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे वैश्विक चरण के तहत चीनी टीके का परीक्षण किया. (सांकेतिक फोटो)

चीन (China) के कोविड-19 टीके (Covid-19 Vaccines) साइनोवैक बायोटेक के क्लिनिकल परीक्षण के तीसरे वैश्विक चरण के तहत दक्षिण अफ्रीका (South Africa) ने शुक्रवार को कुछ बच्चों और किशोरों को टीका लगाया. चीन ने यह टीका छह महीने के शिशु से लेकर 17 साल के किशोर तक के लिए विकसित किया है. इस वैश्विक परीक्षण में दक्षिण अफ्रीका से 2,000 जबकि केन्या, फिलीपीन, चिली और मलेशिया से 12,000 प्रतिभागी शामिल होंगे.

  • ए पी
  • Last Updated :
  • Share this:

    जोहानिसबर्ग . चीन (China) के कोविड-19 टीके (Covid-19 Vaccines) साइनोवैक बायोटेक के क्लिनिकल परीक्षण के तीसरे वैश्विक चरण के तहत दक्षिण अफ्रीका (South Africa) ने शुक्रवार को कुछ बच्चों और किशोरों को टीका लगाया. चीन ने यह टीका छह महीने के शिशु से लेकर 17 साल के किशोर तक के लिए विकसित किया है. इस वैश्विक परीक्षण में दक्षिण अफ्रीका से 2,000 जबकि केन्या, फिलीपीन, चिली और मलेशिया से 12,000 प्रतिभागी शामिल होंगे. साइनोवैक कंपनी ने शुक्रवार को एक बयान में बताया कि दक्षिण अफ्रीका में सबसे पहले राजधानी प्रिटोरिया की सेफाको मगातो हेल्थ साइंस यूनिवर्सिटी में बच्चों को टीका लगाया गया, उसके बाद अब देश के छह अन्य शहरों में भी बच्चों को टीका लगाया जाएगा.

    कंपनी ने कहा, ‘अध्ययन का प्राथमिक लक्ष्य बच्चों और किशोरों में लक्षणयुक्त कोविड-19 के मामलों में कोरोनावैक की दो खुराकों के प्रभाव का आकलन करना है.’ साइनोवैक ने कहा, ‘कोविड-19 के गंभीर मामलों और अस्पताल में भर्ती होने के मामलों में भी प्रभाव की समीक्षा की जाएगी.’ दक्षिण अफ्रीका में अब तक कोरोना वायरस के 28 लाख मामले सामने आ चुके हैं, जबकि यहां 84,327 लोॉगों की मौत हो चुकी है. बीते 24 घंटे में दक्षिण अफ्रीका में 6,270 नए मामले सामने आए जबकि 175 लोगों की संक्रमण से मौत हुई.

    ये भी पढ़ें :  UAE ने दी भारत समेत 15 देशों से लोगों को वापसी की मंजूरी, लेकिन पूरी करनी होगी ये शर्त

    ये भी पढ़ें :  सोने की तस्करी के लिए अपनाया ऐसा तरीका, अधिकारी भी देखकर रह गए हैरान; पकड़े गए दो उज्बेक नागरिक

    चीन के दो टीकों- साइनोफार्म टीका और कोरोनावैक टीका- का फिलहाल दुनियाभर में उपयोग किया जा रहा है. कोरोनावैक टीके को साइनोवैक बायोटेक कंपनी ने विकसित किया है और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा आपात इस्तेमाल के लिए अधिकृत किया गया यह नवीनतम टीका है. इस वजह से, महामारी का रुख पलटने में कोरोनावैक टीका एक बड़ी भूमिका अदा कर सकता है.

    डब्ल्यूएचओ की मंजूरी मिलने का मतलब है कि अब इस टीका का इस्तेमाल ‘कोवैक्स’ में आपूर्ति के लिए किया जा सकता है.  कोवैक्स पहल को दुनिया भर में टीकों की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए शुरू किया गया है. इसके अलावा 37 देशों ने भी इसके इस्तेमाल को मंजूरी दी है. करोड़ों लोग इस टीके को प्राप्त करने के लिए कतार में हैं तो करोड़ों लोगों को यह लग चुका है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज