Home /News /world /

मेरी नाक ज़मीन पर रगड़ी, मुझे लात मारी- डर के साये में जी रहे अफगान पत्रकार

मेरी नाक ज़मीन पर रगड़ी, मुझे लात मारी- डर के साये में जी रहे अफगान पत्रकार

काबुल की सड़कों पर हथियारों के साथ तालिबानी लड़ाके. (फाइल फोटो)

काबुल की सड़कों पर हथियारों के साथ तालिबानी लड़ाके. (फाइल फोटो)

Afghan Journalist in Taliban Regime: अफगानिस्तान पर नियंत्रण हासिल करने के बाद से ही पत्रकारों को धमकाने और तालिबानियों द्वारा उन्हें पीटे जाने की खबरें आ रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. अफगानिस्तान में पाकिस्तान के हस्तक्षेप के खिलाफ निकाली गई रैली को तितर-बितर करने के लिए तालिबान ने हवाई फायर किये और कई पत्रकारों को गिरफ्तार करने के बाद उन्हें दूर ले जाकर छोड़ दिया गया. इसके बाद कई न्यूज एजेंसियों ने खबर प्रसारित की है कि विद्रोही समूह ने दर्जनों पत्रकारों को छोड़ा तो जरूर, लेकिन उसके पहले उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया गया.

    अफगान की राजधानी में पाकिस्तान दूतावास के बाहर देश पर पाकिस्तान के लगातार हस्तक्षेप को लेकर विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ, विरोध की अहम वजह पंजशीर प्रांत में तालिबान विरोधी लड़ाकों को खदेड़ने में इस्लामाबाद का कथित समर्थन देना है.

    अफगानिस्तान में मारा गया ISI एजेंट, लड़ाई से लेकर सरकार बनाने तक साथ यूं तालिबान के साथ है पाकिस्तान

    हालात का जायजा
    एक अफगान पत्रकार जो पकड़े गए पत्रकारों में से एक है, उन्होंने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि उसे तालिबान ने सजा दी, उन्होंने मेरी नाक ज़मीन पर रगड़ी और मुझे विरोध-प्रदर्शन कवर करने के लिए माफी मांगने को कहा गया. अपना नाम छिपाने की शर्त पर उन्होंने बताया कि अफगानिस्तान में अब पत्रकारिता मुश्किल हो गई है.

    अफगान शरणार्थियों को गहन जांच प्रक्रिया से गुजरना होगा, पूरा इतिहास खंगालने की तैयारी

    टोलो न्यूज कैमरामैन भी गिरफ्तार पत्रकारों में थे: अफगानिस्तान के टोलो न्यूज टीवी चैनल ने बताया कि उनके कैमरामैन वाहिद अहमादी भी गिरफ्तार लोगो में थे. न्यूज एजेंसी ने बताया कि तालिबानी सेना ने अहमादी और उनके कैमरे को तीन-चार घंटे रखने के बाद छोड़ दिया था. चैनल प्रमुख लोतफुल्ला नाजाफिजादा ने बताया कि तालिबान ने अहमादी का कैमरा और पिक्चर वापस लौटा दिया. उनका कहना है कि वाहिद अहमादी ने पूरे साल मोर्चे पर कवर किया. उन्होंने बताया अहमादी के साथ दर्जनों पत्रकार को छोड़ दिया गया, लेकिन कुछ उपकरण अभी नहीं मिले हैं.

    तालिबान की अफगानिस्तान पर जीत से पाकिस्तान और चीन के रिश्ते में दरार

    एरियाना न्यूज के पत्रकार भी गिरफ्तार: अफगान के एक और अहम न्यूज नेटवर्क एरियाना न्यूज के पत्रकार बैस हायत ने बयान दिया कि उनके साथी सामी जहेश और कैमरामेन शमीम को रैली कवर करने के दौरान बंदी बना लिया गया. दो घंटे तक हमारा उनसे कोई भी संपर्क नहीं था. हमें कुछ भी नहीं पता था कि वो किस हाल में हैं. बाद में उन्होंने ट्वीट करके बताया कि उनके साथी काबुल और बाल्ख में हैं और तालिबान ने उन्हें छोड़ दिया है.

    एक अफगान पत्रकार ने एएफपी को बताया कि उनका प्रेस आईडी और कैमरा तालिबानियों ने जब्त कर लिया और मुझे लात मार कर दूर रहने को कहा. पिछले महीने अफगानिस्तान पर नियंत्रण हासिल करने के बाद से ही पत्रकारों को धमकाने और तालिबानियों द्वारा उन्हें पीटे जाने की खबरें आ रही हैं. जानकारी में आए एक मामले में जर्मन ब्रॉ़डकास्टर डोएचे वैले ने बताया कि तालिबान ने घर-घर जाकर उनके एक पत्रकार की तलाश की और उसके परिवार के एक सदस्य को गोली मार दी और दूसरे को घायल कर दिया था.

    Tags: Afghanistan, Journalist, Taliban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर