होम /न्यूज /दुनिया /तालिबान का नया फरमान- सिर्फ पुरुष रिश्तेदार के साथ ही बाहर निकलेंगी महिलाएं

तालिबान का नया फरमान- सिर्फ पुरुष रिश्तेदार के साथ ही बाहर निकलेंगी महिलाएं

मंत्रालय ने ये भी कहा था कि महिला टीवी पत्रकारों को न्यूज पढ़ते समय हिजाब पहनना होगा.

मंत्रालय ने ये भी कहा था कि महिला टीवी पत्रकारों को न्यूज पढ़ते समय हिजाब पहनना होगा.

Taliban New Rule for Afghan Women: अफगानिस्तान के कई प्रांतों में स्थानीय तालिबान अधिकारियों को स्कूलों को फिर से खोलने ...अधिक पढ़ें

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) के तालिबान (Taliban) अधिकारियों ने रविवार को कहा कि कम दूरी को छोड़कर लंबी दूरी की यात्रा करने वाली महिलाओं को अकेले यात्रा की इजाजत नहीं दी जाएगी. महिलाओं के साथ किसी करीबी पुरुष रिश्तेदार के होने पर ही उन्हें लंबी दूरी तक यात्रा करने की इजाजत दी जाएगी. ‘मिनिस्ट्री फॉर द प्रमोशन ऑफ वर्चु एंड प्रीवेंशन ऑफ वाइस’ द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि सभी वाहन मालिक केवल उन्हीं महिलाओं को अपने वाहन में बैठकर यात्रा करने दें, जिन्होंने इस्लामिक हिजाब पहना हो. इस तरह एक बार फिर साफ हो गया है कि तालिबान महिलाओं को लेकर क्या विचार रखता है.

    मंत्रालय के प्रवक्ता सादिक अकिफ मुहाजिर ने समाचार एजेंसी एएफपी से कहा, ’72 किलोमीटर से अधिक की यात्रा करने वाली महिलाओं को सवारी की पेशकश नहीं की जानी चाहिए, अगर उनके साथ परिवार का कोई करीबी सदस्य नहीं है. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि करीबी सदस्य पुरुष ही होना चाहिए.’ ये दिशा-निर्देश ऐसे समय पर आया है, जब कुछ हफ्ते पहले ही तालिबान ने अफगानिस्तान के टेलीविजन चैनलों को महिलाओं वाले सीरियल और फिल्मों को दिखाने पर रोक लगा दी थी. मंत्रालय ने ये भी कहा था कि महिला टीवी पत्रकारों को न्यूज पढ़ते समय हिजाब पहनना होगा.

    करजई बोले-अफगान मामलों में दखल न दें इमरान खान, PAK ने ही आतंकवाद फैलाया

    मुहाजिर ने रविवार को कहा कि सार्वजनिक परिवहन में सवारी करने वाली महिलाओं के लिए भी हिजाब पहनना अनिवार्य होगा. मंत्रालय के निर्देश में लोगों से अपने वाहनों में संगीत बजाना बंद करने के लिए भी कहा गया है. तालिबान की हिजाब को लेकर की गई उसकी व्याख्या अभी पूरी तरह से अस्पष्ट है. यहां गौर करने वाली बात ये है कि अधिकांश अफगान महिलाएं पहले से ही सिर पर स्कार्फ पहनती हैं. हिजाब बालों को ढंकने से लेकर चेहरे को ढंकने या पूरे शरीर को ढंकने तक हो सकता है. अगस्त में सत्ता संभालने के बाद से तालिबान ने दावा किया है कि वह 90 के दशक जैसे नियमों को लागू नहीं करेगा, लेकिन अभी तक ऐसा हुआ है.

    अंतरराष्ट्रीय मान्यता के लिए महिलाओं को अधिकार दे सकता है तालिबान
    अफगानिस्तान के कई प्रांतों में स्थानीय तालिबान अधिकारियों को स्कूलों को फिर से खोलने के लिए राजी किया गया है. लेकिन इन सबके बाद भी कई लड़कियां अभी भी स्कूल पढ़ने नहीं आ रही हैं. इस महीने की शुरुआत में, तालिबान ने अपने सर्वोच्च नेता के नाम पर एक फरमान जारी कर सरकार को महिलाओं के अधिकारों को लागू करने का निर्देश दिया गया.

    तालिबान ने गलती से ताजिकिस्तान भेजे 8 लाख डॉलर, मिन्नतों के बाद भी नहीं मिल रहा वापस

    हालांकि, इस फरमान में लड़कियों की शिक्षा को लेकर कुछ नहीं कहा गया. एक्टिविस्ट को उम्मीद है कि तालिबान को अंतरराष्ट्रीय मान्यता हासिल करने और विदेशी मदद के लिए महिलाओं को उनके अधिकार देने होंगे. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    Tags: Afghanistan Crisis, Afghanistan Taliban conflict, Pakistan

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें