Home /News /world /

पंजशीर में तालिबान के लिए लड़ रहा पाकिस्तान? NRF का दावा- हुए ड्रोन अटैक

पंजशीर में तालिबान के लिए लड़ रहा पाकिस्तान? NRF का दावा- हुए ड्रोन अटैक

पाकिस्तान अपने फायदे के लिए अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार खड़ी करने की पुरजोर कोशिश कर रहा है.

पाकिस्तान अपने फायदे के लिए अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार खड़ी करने की पुरजोर कोशिश कर रहा है.

पंजशीर (Panjshir Valley) पर हमले के दौरान तालिबान (Taliban) के साथ पाक सैनिकों (Pakistan Soldiers) की मौजूदगी का सबूत भी मिला है. रिपोर्ट के मुताबिक नॉर्दन अलायंस ने हमले में मारे गए एक पाक सैनिक के आइडेंटिटी कार्ड की तस्वीर जारी की है, जिससे यह साफ होता है कि वह पाक सेना इसमें शामिल थी. इस कार्ड पर पाक नागरिक मोहम्मद वसीम का नाम लिखा है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) के पंजशीर (Panjshir Valley) में रेजिस्टेंस फोर्स यानी नॉर्दर्न अलाएंस और तालिबान (Taliban) के भीषण जंग के बीच तालिबान की पूरे पंजशीर पर कब्जे की खबर आ रही है. हालांकि, नॉर्दन अलायंस ने इससे इनकार किया है. नॉर्दन अलायंस (Northern Alliance) का दावा है कि पाकिस्तान भी तालिबान की तरफ से जंग में उतर आया है. ताजा जानकारी के मुताबिक, पंजशीर में पाकिस्तानी एयरफोर्स के ड्रोन से हमला (Drone Attack) किया गया है. अफगानिस्तान के सामंगन प्रांत से पूर्व सांसद जिया अरियनजादो ने भी इसकी पुष्टि की है.

    अल अरबिया के सूत्रों ने पंजशीर आंदोलन के नेता अहमद मसूद की सेना के हवाले से दावा किया है कि पंजशीर घाटी पर हमले में अल-कायदा भी तालिबान के साथ खड़ा है. पाकिस्तानी ड्रोन हमलों को लेकर सामंगन प्रांत से पूर्व सांसद जिया अरियनजादो ने कहा, ‘पंजशीर पर पाकिस्तानी वायुसेना ने ड्रोन की मदद से बमबारी की. इसमें स्मार्ट बमों का इस्तेमाल किया गया है.’

    खुलकर सामने आया पाकिस्तान, तालिबान सरकार के लिए दुनिया से मदद मांग रहे इमरान

    एक्सपर्ट्स का मानना है कि पाकिस्तान अपने फायदे के लिए अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार खड़ी करने की पुरजोर कोशिश कर रहा है. अल-कायदा के आतंकी इस काम में मदद कर रहे हैं.

    पंजशीर पर हमले के दौरान तालिबान के साथ पाक सैनिकों की मौजूदगी का सबूत भी मिला है. रिपोर्ट के मुताबिक नॉर्दन अलायंस ने हमले में मारे गए एक पाक सैनिक के आइडेंटिटी कार्ड की तस्वीर जारी की है, जिससे यह साफ होता है कि वह पाक सेना इसमें शामिल थी. इस कार्ड पर पाक नागरिक मोहम्मद वसीम का नाम लिखा है.

    अहमद मसूद ने तालिबान से की शांति वार्ता की पेशकश
    इस बीच खबर है कि तालिबान के खिलाफ विद्रोह की आवाज बुलंद करने वाले अहमद मसूद ने तालिबान से बातचीत की पेशकश की है. मतलब साफ है शेर की तरह दहाड़ने वाले अहमद मसूद बैकफुट पर आ गए हैं. हो सकता है सोमवार को तालिबान के सामने अहमद मसूद घूटने टेक दें. इससे पहले आज दिनभर तालिबान और पंजशीर के लड़ाकों के बीच जंगी जारी रही.

    कई बड़े कमांडर मारे गए
    रविवार को लड़ाई में पंजशीर के कई शीर्ष कमांडर मारे गए हैं. इनमें सबसे प्रमुख फहीम दश्ती हैं. पत्रकार रह चुके फहीम पंजशीर के प्रवक्ता भी थे. उनके अलावा मसूद परिवार से जुड़े कमांडर भी मारे गए हैं. इनमें गुल हैदर खान, मुनीब अमीरी और जनरल वूदाद शामिल हैं.

    सालेह के घर पर भी हेलिकॉप्टर से अटैक
    अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह जिस घर में ठहरे थे, उस पर हेलिकॉप्टर से हमला हुआ है. सालेह को सुरक्षित ठिकाने पर ले जाया गया है.

    क्या तालिबान के नेता मुल्ला बरादर के पास है पाकिस्तान का पासपोर्ट? वायरल हो रही है ये फोटो

    सालेह बोले- तालिबान को ISI चला रहा
    अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति और रेजिस्टेंस फोर्स की अगुवाई कर रहे अमरुल्लाह सालेह ने पाकिस्तान को लेकर बड़ा दावा किया है. ब्रिटिश अखबार डेली मेल के लिए लिखे आर्टिकल में सालेह ने कहा है कि तालिबान को पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी ISI चला रही है और तालिबानी प्रवक्ता को पाकिस्तानी दूतावास से हर घंटे निर्देश मिल रहे हैं.

    Tags: Afghanistan, Afghanistan Crisis, Afghanistan Taliban conflict, Panjshir Province

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर