Home /News /world /

Afghanistan Crisis: अलकायदा ने तालिबान को दी बधाई, कश्मीर को मुक्त कराने का किया आह्वान

Afghanistan Crisis: अलकायदा ने तालिबान को दी बधाई, कश्मीर को मुक्त कराने का किया आह्वान

अलकायदा ने बयान में कहा है कि 'बुराई के अमेरिकी साम्राज्य' की हार दुनिया भर में उत्पीड़ितों के लिए प्रेरणा का एक जबरदस्त स्त्रोत है. फाइल फोटो

अलकायदा ने बयान में कहा है कि 'बुराई के अमेरिकी साम्राज्य' की हार दुनिया भर में उत्पीड़ितों के लिए प्रेरणा का एक जबरदस्त स्त्रोत है. फाइल फोटो

Aghanistan Crisis: Al-Qaeda ने कहा, 'अफगानिस्तान की भूमि साम्राज्यों के लिए कब्रगाह और इस्लाम के लिए अजेय किला रही है. अमेरिकियों की हार के बाद ये तीसरी बार है, जब अफगान राष्ट्र ने दो सदियों के बीच सफलतापूर्वक तीन बार साम्राज्यवादी ताकतों को हराया और खदेड़ा है.'

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) की जीत पर अपने बधाई संदेश में आतंकी संगठन अलकायदा (Al-Qaeda) ने कश्मीर (Jammu and Kashmir) और अन्य तथाकथित इस्लामी भूमि (Islamic Lands) को ‘इस्लाम के दुश्मनों के चंगुल से मुक्त’ कराने की बात की है. तालिबान द्वारा अफगानिस्तान में ‘पूर्ण स्वतंत्रता’ हासिल करने की घोषणा के कुछ ही घंटे बाद अलकायदा ने यह ऐलान किया. अलकायदा ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी को तथाकथित इस्लामिक इलाकों की स्वतंत्रता से जोड़ते हुए फिलीस्तीन, लेवंत, सोमाविया और यमन को भी मुक्त कराने की बात की है.

    अफगानिस्तान में अल्लाह द्वारा दी गई जीत पर इस्लामिक उम्मा को बधाई शीर्षक से लिखे अपने संदेश में आतंकी संगठन ने कहा, ‘ओ अल्लाह, लेवंत, सोमालिया, कश्मीर और अन्य इस्लामी भूमि को इस्लाम के दुश्मनों के चंगुल से मुक्त कराएं. ओ, अल्लाह, दुनिया भर में मुस्लिम कैदियों को आजादी प्रदान करो. 15 अगस्त को अफगानिस्तान पर ताबिलान के कब्जे के बाद क्षेत्रीय विश्लेषकों और सुरक्षा अधिकारियों को इस बात को चिंता है कि आतंकी समूह की जीत ने दक्षिण एशिया के सभी आतंकी संगठनों को नई ऊर्जा दी है.

    फरवरी 2020 में अमेरिका और तालिबान के बीच हुए शांति समझौते में कहा गया था कि अफगानिस्तान का मिलिटेंट ग्रुप सभी आतंकी समूहों के साथ अपने संबंधों को खत्म करेगा और खासतौर पर अलकायदा से. हालांकि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद पाबंदी निगरानी टीम की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बात के कोई सबूत नहीं है कि तालिबान ने अलकायदा के साथ अपने लिंक और संपर्क खत्म कर दिए हैं.

    अलकायदा ने अपने संदेश में कहा, ‘हम सर्वशक्तिमान की प्रशंसा करते हैं, जिन्होंने अविश्वास के मुखिया अमेरिका को अपमानित और पराजित किया. हम अमेरिका की रीढ़ तोड़ने, उसकी वैश्विक प्रतिष्ठा को धूमिल करने और अफगानिस्तान की इस्लामी भूमि से अपमानित, पराजित कर खदेड़ने के लिए सर्वशक्तिमान की प्रशंसा करते हैं.’

    आतंकी संगठन ने आगे कहा, ‘अफगानिस्तान की भूमि साम्राज्यों के लिए कब्रगाह और इस्लाम के लिए अजेय किला रही है. अमेरिकियों की हार के बाद ये तीसरी बार है, जब अफगान राष्ट्र ने दो सदियों के बीच सफलतापूर्वक तीन बार साम्राज्यवादी ताकतों को हराया और खदेड़ा है.’ बयान में कहा गया है कि ‘बुराई के अमेरिकी साम्राज्य’ की हार दुनिया भर में उत्पीड़ितों के लिए प्रेरणा का एक जबरदस्त स्त्रोत है. साथ ही तालिबान की लीडरशिप और खासतौर पर हैबतुल्लाह अखुंदजादा (Haibatullah Akhundzada) को बधाई दी गई है.

    पढ़ेंः अफगान सेना के अधिकारियों में खौफ, बोले- हम तालिबान-पाकिस्तान दोनों के निशाने पर

    अल-कायदा ने अपने बयान में कहा है कि ‘ये घटनाक्रम साबित करते हैं कि जीत हासिल करने का एकमात्र रास्ता जिहाद है. और अब अगले संघर्ष के लिए तैयारी करने का समय आ गया है, जिसके लिए अफगान राष्ट्र की विजय ने रास्ता तैयार कर दिया है.

    Tags: Afghanistan, Al-Qaeda, Haibatullah Akhundzada, Islamic Lands, Jammu and kashmir, Taliban, अफगानिस्तान, अलकायदा, जम्मू और कश्मीर, तालिबान, हैबतुल्लाह अखुंदजादा

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर