होम /न्यूज /दुनिया /तालिबान ने कांधार चेकपॉइंट पर की गोलीबारी, महिला की मौत, 2 घायल

तालिबान ने कांधार चेकपॉइंट पर की गोलीबारी, महिला की मौत, 2 घायल

तालिबान ने बीते साल अगस्त महीने में काबुल को कब्जे में लेते हुए पूरे देश की सत्ता अपने हाथों में ले ली थी. (AP)

तालिबान ने बीते साल अगस्त महीने में काबुल को कब्जे में लेते हुए पूरे देश की सत्ता अपने हाथों में ले ली थी. (AP)

Taliban attack on Afghanistan Kandahar Checkpoints: तालिबान ने बीते साल अगस्त महीने में काबुल को कब्जे में लेते हुए प ...अधिक पढ़ें

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान के क्रूर शासन में एक और हिंसक घटना हुई है. यहां तालिबानी लड़ाकों ने एक चेकपॉइंट पर भीषण गोलीबारी की है, जिसमें एक महिला की मौत हो गई और अन्य घायल हुईं. मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि तालिबान (Taliban) ने एक रिक्शा पर गोलीबारी की, जो कथित तौर पर चेकपॉइंट (Afghanistan Checkpoints) पर नहीं रुका था. तीनों पीड़ित महिलाएं घर का सामान लेने के लिए बाहर निकली थीं लेकिन शनिवार की शाम उनपर गोलियों की बौछार कर दी गई.

    घटना के बाद पीड़ित महिलाओं के परिवार ने काफी विरोध प्रदर्शन किया है. वह उसके शव को गवर्नर ऑफिस के बाहर लेकर बैठ गए हैं. मृतक महिला के शव को गलियों से होते हुए ताबूत में लेकर आए स्थानीय लोगों ने प्रशासन से न्याय की मांग की. बता दें तालिबान की सरकार को अभी तक मान्यता नहीं मिली है. वो इसके लिए खुद को बदला हुआ दिखाने की कोशिश कर रहा है लेकिन फिर भी देश में महिलाओं की स्थिति दयनीय बनी हुई है. महिलाओं को उनके मूलभूत अधिकारों तक से वंचित रखा जा रहा है.

    हिजाब पर तालिबान का फरमान- पर्दे में रहेंगी महिलाएं तो ही मिलेगा शिक्षा-रोजगार, दूसरे देश न दें दखल

    तालिबान ने बीते साल अगस्त महीने में काबुल को कब्जे में लेते हुए पूरे देश की सत्ता अपने हाथों में ले ली थी. इस कट्टरपंथी संगठन ने वादा किया था कि महिलाओं और लड़कियों को नौकरी या शिक्षा का अधिकार दिया जाएगा. लेकिन फिर उनके कार्यालयों और स्कूल में प्रवेश पर रोक लगा दी गई. यहां तक कि तालिबान सरकार में शिक्षा मंत्री अब्दुल बकी हक्कानी ने इतना तक कह दिया कि विश्वविद्ययों को बंद करने के पीछे का कारण वहां लड़के और लड़कियों का साथ में पढ़ाई करना है.

    अफगानिस्तान का हक 9/11 हमले के पीड़ितों को बांटेगा अमेरिका, भड़का तालिबान

    महिला पत्रकारों की संख्या घटी
    अफगानिस्तान में महिला पत्रकारों की संख्या में 50 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है और ये आतंकी संगठन सार्वजनिक और सामाजिक क्षेत्रों में महिलाओं की भागीदारी कम करने के लिए सभी तरह के कदम भी उठा रहा है. असमानताओं के खिलाफ आवाज उठाते हुए कई अफगान महिलाओं ने लड़कियों की शिक्षा, महिला मंत्रालय को फिर से खोलने और वरिष्ठ सरकारी पदों पर महिलाओं के लिए नौकरियों की मांग के लिए सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन भी किया है. फिर भी महिलाओं को मनमाने ढंग से हिरासत में रखा जाता है और कई को गायब ही कर दिया जाता है. (एजेंसी इनपुट)

    Tags: Afghanistan, Afghanistan Live News, Afghanistan Taliban conflict, Afghanistan Terrorism, Taliban

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें