Home /News /world /

काबुल में 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' के नारे लगा रहे थे प्रदर्शनकारी, तालिबान ने बरसाई गोलियां

काबुल में 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' के नारे लगा रहे थे प्रदर्शनकारी, तालिबान ने बरसाई गोलियां

सोमवार रात से काबुल से लेकर वॉशिंगटन तक पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं (AFP)

सोमवार रात से काबुल से लेकर वॉशिंगटन तक पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं (AFP)

काबुल में मंगलवार को पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए तालिबान (Taliban) की तरफ से गोलीबारी की गई है. सोशल मीडिया पर शेयर वीडियो में सैकड़ों अफगान पुरुषों और महिलाओं को पाकिस्तान विरोधी बैनर लिए 'आजादी, आजादी' और 'पाकिस्तान मुर्दाबाद', 'ISI की मौत' जैसे नारे लगाते देखा जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल में तालिबान (Taliban) का क्रूर चेहरा एक बार फिर उजागर हुआ है. यहां पाकिस्तान विरोधी रैली में जमा हुई भीड़ को तितर-बितर करने के लिए तालिबान लड़ाकों ने फायरिंग कर दी. हालांकि इस गोलीबारी में किसी के हताहत होने की फिलहाल खबर नहीं.

    समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, काबुल स्थित पाकिस्तानी दूतावास के बाहर 70 से ज्यादा लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थीं.  इस विरोध प्रदर्शन के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें प्रदर्शनकारी ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ और ‘पंजशीर जिंदाबाद’ जैसे नारे लगाते सुने गए.

    काबुल के स्थानीय पत्रकारों द्वारा शेयर किए गए वीडियो में सैकड़ों अफगान पुरुषों और महिलाओं को पाकिस्तान विरोधी बैनर लिए ‘आजादी, आजादी’ और ‘पाकिस्तान की मौत’, ‘ISI की मौत’ जैसे नारे लगाते देखा जा सकता है.

    दरअसल, पंजशीर की जंग में तालिबान की तरफ से पाकिस्तान के ड्रोन अटैक करने और आईएसआई हेड फैज हामिद के काबुल दौरे से अफगानियों में आक्रोश है. अंतरराष्ट्रीय बिरादरी ने भी इसकी आलोचना की है. अफगानिस्तान के लोग काबुल में जगह-जगह पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

    पाकिस्तान के ‘पाप’ पर दुनिया में आक्रोश, पहली बार अफगान महिलाओं ने रात में किया प्रदर्शन

    वैसे तो अफगानिस्तान के अलग-अलग शहरों में महिलाएं पिछले कई दिनों से अपने अधिकारों के लिए प्रदर्शन कर रही हैं, लेकिन काबुल में पहली बार रात में प्रदर्शन हुए हैं.

    काबुल के अलावा अमेरिका के वॉशिंगटन में भी रैलियां निकालकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए गए हैं. लोगों ने पाकिस्तान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

    पंजशीर में नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स (NRF) यानी नॉर्दन अलांयस की अगुआई कर रहे अहमद मसूद ने भी कहा है कि पाकिस्तान वायुसेना लगातार हमले कर रही है, ताकि तालिबान आगे बढ़ सके. अब हमारी असली लड़ाई पाकिस्तान से है, क्योंकि पाक सेना और ISI तालिबानियों का जंग में नेतृत्व कर रही है. वहीं, अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह भी कई दफा कह चुके हैं कि पाकिस्तान तालिबान को हर तरह से मदद मुहैया करा रहा है. पाकिस्तान की मदद से ही तालिबान अफगानिस्तान पर कब्जा कर पाया.

    VIDEO: काबुल में पाकिस्तान के ISI चीफ फैज अहमद का क्या काम?

    पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) के प्रमुख फैज हामिद काबुल दौरे पर गए तो दूसरी तरफ उसकी स्पेशल बटालियन, तालिबान के साथ कंधे से कंधा मिलाकर नेशनल रेजिस्टेंस फ्रंट (NRF) के योद्धाओं पर कहर बरपा रही है. इससे दुनियाभर में पाकिस्तान के खिलाफ रोष पैदा हो गया है.

    सोशल मीडिया पर पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगाने तक की मांग उठ रही है. लोग इसे ‘पंजशीर में पाकिस्तान के पाप’ को युद्ध अपराध मान रहे हैं.

    Tags: Afghanistan Crisis, Afghanistan Taliban conflict, Afghanistan Terrorism, Pakistan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर