• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • तालिबान से चल रही लड़ाई के बीच अफगानिस्तान के 31 प्रांतों में लगा नाइट कर्फ्यू

तालिबान से चल रही लड़ाई के बीच अफगानिस्तान के 31 प्रांतों में लगा नाइट कर्फ्यू

फोटो सौ. (Reuters)

फोटो सौ. (Reuters)

अफगानिस्तान सरकार ने देश में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) का ऐलान किया है. यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि विभिन्न प्रांतों की राजधानी में तालिबानी घुसपैठियों (Talibani Intruders) का पता लगाया जा सके.

  • Share this:
    काबुल. तालिबान (Taliban) से चल रही लड़ाई के बीच अफगानिस्तान सरकार ने वहां पर नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) का ऐलान किया है. यह नाइट कर्फ्यू काबुल, पंजशीर और नांगरहार को छोड़ अन्य 31 प्रांतों में लगाया गया है. इस कर्फ्यू के लिए समय भी तय किया है, जिसके मुताबिक रात 10 बजे से सुबह 4 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा. टोलो समाचार एजेंसी ने आंतरिक मंत्रालय के हवाले से शनिवार देर रात इस बात की जानकारी दी. यह नया प्रावधान उस वक्त आया है जब अफगान सरकार देश के 21 प्रांतों में तालिबान के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है.

    यह फैसला लेने के पीछे भी वजह भी बेहद अहम है. अफगानिस्तान रेडियो टेलीविजन के मुताबिक यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि विभिन्न प्रांतों की राजधानी में तालिबानी घुसपैठियों का पता लगाया जा सके. अफगानी सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक सुरक्षा बलों ने पिछले 24 घंटे में 262 तालिबानी लड़ाकों को मार गिराया है. वहीं इस दौरान 176 तालिबानी घायल भी हुए हैं. हालांकि तालिबान ने इन आंकड़ों से इंकार किया है. मई में अमेरिकी नेतृत्व वाली विदेशी फौजों द्वारा अफगानिस्तान छोड़ना शुरू करने के बाद से तालिबान ने यहां काफी कहर ढाया है. रिपोर्टों में दावा किया गया है कि तालिबान ने देश के 170 जिलों पर कब्जा जमा लिया है.

    ये भी पढ़ें: जब अशरफ गनी बोले- अफगानिस्तान का राष्ट्रपति होना धरती की सबसे खराब जॉब

    गौरतलब है कि अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने के निर्णय के बाद यहां पर तालिबान तेजी से उभरा है. पूरे देश के विभिन्न इलाकों में जमकर खून-खराबा हुआ है. सिपाहियों के साथ-साथ आम लोगों को भी अपने जान-माल से हाथ धोना पड़ा है. इस बीच पिछले सप्ताह कांधार के बाहरी इलाकों में तालिबान की अफगानी फौज के साथ जबर्दस्त लड़ाई हुई थी. इसके जवाब में अमेरिका ने 22 जुलाई को आतंकियों के कब्जे वाले क्षेत्रों पर हवाई हमले किए थे. हालांकि तालिबान ने अमेरिकी हमलों का विरोध करते हुए इसे दोहा समझौते का उल्लंघन बताया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज