• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • राष्ट्रपति अशरफ गनी बोले- तालिबान से बातचीत करने को तैयार, लड़ाई से नहीं निकलेगा हल

राष्ट्रपति अशरफ गनी बोले- तालिबान से बातचीत करने को तैयार, लड़ाई से नहीं निकलेगा हल

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी (AP)

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी (AP)

अफगानिस्तान (Afghanistan) के राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) ने कहा कि हम शांति चाहते हैं. तालिबान (Taliban) के 5 हजार लड़ाकों को छोड़ने का हमारा फैसला भी शांति स्थापित करने के लिए ही था. उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले मैंने शांति के लिए एक रास्ता तैयार किया था.

  • Share this:

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) से अमेरिकी सेना (US Forces) की वापसी के बीच तालिबान (Taliban) की ताकत बढ़ गई है. तालिबान ने देश के 95 फीसदी इलाकों पर कब्जे का दावा किया है. इस बीच अफगानिस्तान की सरकार भी इस आतंकी संगठन से बातचीत के लिए तैयार हो गई है. राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) ने इसके संकेत दिए हैं. गनी ने कहा कि अफगानिस्तान के हालातों को सेना के जरिए ठीक नहीं किया जा सकता. इसलिए हमारी सरकार तालिबान से सीधे बातचीत करने के लिए तैयार है. हमारा मानना है कि लड़ाई से किसी भी परेशानी का हल नहीं निकलता है, मगर बातचीत से निकल सकता है.

    टोलो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को राष्ट्रपति भवन में जॉइंट कोऑर्डिनेशन और मॉनिटरिंग बोर्ड की बैठक हुई. इसमें अशरफ गनी ने कहा, “मैं अंतरराष्ट्रीय समुदाय को विश्वास दिलाता हूं, अफगानिस्तान के लोग सरकार विरोधी तालिबान को पसंद नहीं करते. आज का अफगानिस्तान काफी बदल चुका है, लेकिन हम अपने देश के भविष्य की बेहतरी चाहते हैं.”

    तालिबान अब अफगानिस्तान में वसूलने लगा टैक्स, आवाजाही पर देना पड़ा रहा इतना चार्ज

    शांति के लिए 5 हजार तालिबानियों को छोड़ा
    गनी ने कहा कि हम शांति चाहते हैं. तालिबान के 5 हजार लड़ाकों को छोड़ने का हमारा फैसला भी शांति स्थापित करने के लिए ही था. उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले मैंने शांति के लिए एक रास्ता तैयार किया था. अंतरराष्ट्रीय समुदाय के कहने पर हमने अपने कानूनों के खिलाफ जाकर 5 हजार कट्‌टर आतंकियों और ड्रग डीलरों को रिहा किया था.

    गजनी में तालिबान ने की 43 लोगों की हत्‍या
    90 फीसदी इलाके पर कब्‍जा करने का दावा करने वाले तालिबान का खूनी खेल जारी है. इससे पहले तालिबान आतंकियों ने गजनी में 43 लोगों की हत्‍या कर दी थी. तालिबान के भीषण हमले के खौफ से हजारों की तादाद में आम नागरिक घर छोड़कर काबुल चले गए हैं, जहां अभी सरकारी सेना का नियंत्रण है. तालिबान के खतरे को देखते अफगान सरकार ने कई इलाकों में रात का कर्फ्यू लगा दिया है.

    काबुल: तालिबान के डर के साए में दोबारा शुरू होंगे स्कूल, कोरोना के चलते लगे थे ताले

    तालिबान वसूल रहा टैक्स
    अफगानिस्तान (Afghanistan) के कई हिस्सों को अपने कब्जे में लेने के बाद तालिबान (Taliban) अब लोगों से टैक्स वसूलने लगा है. स्पिन बोल्डक (Spin Bodlak) पर कब्जा करने वाले तालिबान ने मंगलवार को नया टैक्स लगाया. तालिबान के लड़ाकों ने टोल प्लाजा जैसी चौकियां बना ली हैं और आने-जाने वाले लोगों से टैक्स ले रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज