अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने तालिबान को दी चेतावनी, पाकिस्तान के लिए कही ये बात

अपने भाषण में, अशरफ गनी ने पड़ोसी पाकिस्तान पर भी निशाना साधा. (AP)

फगानिस्तान (Afghanistan) के राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) ने कहा कि तालिबान ने बहुत सी बातें स्पष्ट कर दी हैं. उन्होंने कहा, ‘अब्दुल्ला ने कुछ मिनट पहले मुझसे कहा कि तालिबान (Taliban) का शांति का कोई इरादा नहीं है. हमने अल्टीमेटम देने के लिए प्रतिनिधिमंडल को भेजा और यह दिखाया कि हम शांति चाहते हैं.

  • Share this:
    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) के राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) ने बकरीद पर एक भाषण में तालिबान को अल्टीमेटम दिया है. गनी ने कहा कि हाल ही में तालिबान (Taliban) की ओर से उठाए गए कदम से पता चलता है कि समूह का शांति के लिए ‘कोई इरादा नहीं है’.ऐसे में आगे चलकर सरकार इसी के आधार पर फैसला लेगी. राष्ट्रपति गनी ने कहा कि इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान के एक उच्च पदस्थ प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए दोहा (Doha) भेजने का फैसला ‘अंतिम चेतावनी’ थी.

    अशरफ गनी ने कहा कि तालिबान ने बहुत सी बातें स्पष्ट कर दी हैं. उन्होंने कहा, ‘अब्दुल्ला ने कुछ मिनट पहले मुझसे कहा कि तालिबान का शांति का कोई इरादा नहीं है. हमने अल्टीमेटम देने के लिए प्रतिनिधिमंडल को भेजा और यह दिखाया कि हम शांति चाहते हैं. इसके लिए हम बलिदान देने को भी तैयार हैं लेकिन तालिबान शांति के लिए कोई इच्छा नहीं रखता. लिहाजा हमें इसी आधार पर फैसला लेना चाहिए.’

    Afghan-Taliban: तालिबान के खिलाफ बोला, तो संसद में पाकिस्तानी सांसद का माइक कर दिया बंद

    अपने भाषण में, अशरफ गनी ने पड़ोसी पाकिस्तान पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, पाकिस्तान अपनी जमीन पर तालिबान शासन नहीं चाहता है लेकिन उनका मीडिया अफगानिस्तान में तालिबान शासन के लिए अभियान चला रहा है. उन्होंने पाकिस्तान पर तालिबान नेतृत्व को पनाह देने और सहायता मुहैया कराने का आरोप लगाया.

    गनी ने कहा कि ईद का नाम अफगान बलों के बलिदान और साहस के सम्मान करने के लिए रखा गया है, खासकर पिछले तीन महीनों में. उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के सुरक्षा और रक्षा बलों ने पिछले 20 सालों में, खासकर पिछले तीन महीनों में, इस धरती और इस मातृभूमि के सम्मान की रक्षा के लिए कई बलिदान दिए हैं.

    अशरफ गनी के मुताबिक उन्होंने पिछले हफ्ते मौजूदा स्थिति से उबरने के लिए ‘Urgent and Practice Plan’ पर काम किया. उन्होंने कहा कि अफगानों को साबित करना चाहिए कि वे एकजुट हैं. योजना तैयार हो गई है और इसे सुरक्षा के लिहाज से दो हिस्सों में बांटा गया है. इसके एक हिस्से में सुरक्षा और रक्षा बलों के लिए प्राथमिकताएं तय की गई हैं. उन्होंने कहा कि अगले तीन से छह महीनों के लिए लोगों के कड़े रुख से स्थिति बदल जाएगी.

    अफगानिस्तान ने पाकिस्तान से अपने राजनयिकों को वापस बुलाया, राजदूत की बेटी का हुआ था अपहरण

    5000 तालिबानी किए गए रिहा
    अफगान राष्ट्रपति ने कहा कि इस वक्त राष्ट्रीय समर्थन और राष्ट्रीय रक्षा की आवश्यकता है और कहा कि अफगानिस्तान का भविष्य अफगानिस्तान में और अफगानों द्वारा बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि आज का अफगानिस्तान वह नहीं है जो 20 साल पहले था. हर शहर में विकास के संकेत हैं. इस देश में मिलिशिया और मनमानी करने के लिए कोई जगह नहीं है. उन्होंने बताया कि तालिबान ने 260 सार्वजनिक इमारतों को नष्ट कर दिया है. सरकार ने 5,000 तालिबानी कैदियों को रिहा कर दिया है लेकिन समूह अब तक सार्थक बातचीत के लिए तैयार नहीं हुआ है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.