• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • अब UNGA में बोलना चाहता है तालिबान, महासचिव गुटेरेस को लिखी चिट्ठी

अब UNGA में बोलना चाहता है तालिबान, महासचिव गुटेरेस को लिखी चिट्ठी

तालिबान ने 15 अगस्त को काबुल पर कब्जा कर लिया था और राष्ट्रपति भवन में दाखिल हो गए थे (AP)

तालिबान ने 15 अगस्त को काबुल पर कब्जा कर लिया था और राष्ट्रपति भवन में दाखिल हो गए थे (AP)

सोमवार को तालिबान (Taliban) के विदेश मंत्री आमिर खान (Aamir Khan) ने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को चिट्ठी लिखी. खान ने यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली के सालाना हाई लेवल मीटिंग के दौरान बोलने की मांग की.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) में बंदूक के दम पर सत्ता हासिल कर चुका तालिबान (Taliban) अंतरराष्ट्रीय स्तर मान्यता पाने के लिए विश्व नेताओं को संबोधित करना चाहता है. तालिबान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में बोलने की इजाजत मांगी है. तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन को UN के लिए अफगानिस्तान का राजदूत बनाया गया है.

    कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी ने विश्व नेताओं से मांग की कि तालिबान को बॉयकॉट ना किया जाए. ऐसा करने से कोई नतीजा नहीं निकलेगा. अमीर शेख का इशारा उन नेताओं की तरफ है, जो तालिबान सरकार को अफगानिस्तान में मान्यता देने से कतरा रहे हैं.

    अफगानिस्तान में ISI को तालिबान ने दिया झटका! कुनार प्रांत के पाकिस्तानी मूल के गवर्नर को हटाया

    एंटोनियो गुटेरेस को तालिबान के विदेश मंत्री की चिट्ठी
    सोमवार को तालिबान के विदेश मंत्री आमिर खान ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को चिट्ठी लिखी. खान ने यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली के सालाना हाई लेवल मीटिंग के दौरान बोलने की मांग की.

    पाकिस्तान खुलकर कर रहा तालिबान की पैरवी
    इस बीच तालिबान की अंतरराष्ट्रीय मंचों पर एंट्री के लिए पाकिस्तान पूरा जोर लगा रहा है. यूएन में तालिबान के प्रतिनिधि को मान्यता देने की मांग के पीछे भी पाकिस्तान का ही दिमाग बताया जा रहा है. जानकारों का कहना है कि तालिबान को लेकर दुनिया की आशंकाओं के बीच पाकिस्तान की पैरोकारी उसके भी इरादों पर सवाल खड़ा कर रही है. फिलहाल भारत पुरजोर तरीके से पाकिस्तान की कवायद का विरोध कर रहा है.

    तालिबानी ने ट्रक से निकालकर फाड़ा पाकिस्तानी झंडा, फिर दी धमकी, VIDEO वायरल

    UN में अफगानिस्तान के प्रतिनिधि को बदलने की मांग
    अफगानिस्तान की ओर से इसी साल जुलाई में गुलाम एम इसाकजई को अफगानिस्तान का प्रतिनिधि बनाया गया था. हालांकि बाद में तालिबान ने अशरफ गनी की सरकार पर कब्जा कर लिया, जिससे हालात काफी बदल गए हैं. तालिबान के विदेश मंत्री ने अपने पत्र में लिखा की इसाकजई का काम अब खत्म हो चुका है. ऐसे में अब उन्हें हटाकर तालिबान के प्रतिनिधि को जगह देनी चाहिए. इस पर गुटेरेस के प्रवक्ता हक ने कहा कि जब तक कमेटी इस पर कोई फैसला नहीं करती, तब तक गुलाम ही अफगानिस्तान के प्रतिनिधि रहेंगे. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज