Home /News /world /

श्रीलंका में खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान पर, 200 रु. किलो आलू, हरी मिर्ची की कीमत 710 रु किलो

श्रीलंका में खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान पर, 200 रु. किलो आलू, हरी मिर्ची की कीमत 710 रु किलो

श्रीलंका में महंगाई ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. ( प्रतीकात्‍मक फोटो )

श्रीलंका में महंगाई ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. ( प्रतीकात्‍मक फोटो )

Economic emergency in Sri Lanka: लंका (sri lanka) में खाने-पीने की वस्‍तुओं की कीमतों में बेतहाशा तेजी देखी जा रही है. राष्‍ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) ने देश में आर्थिक आपातकाल (Economic emergency) लागू कर दिया है. यहां मिर्च 710 रु, बींस 320 रु, गाजर 200 रु, कच्‍चा केला 120 रु, भिंडी 200 और टमाटर 200 रु प्रति किलो की दर से बिक रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. श्रीलंका (sri lanka) में खाने-पीने की वस्‍तुओं की कीमतों में बेतहाशा तेजी देखी जा रही है. महंगाई ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. राष्‍ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) ने देश में आर्थिक आपातकाल (Economic emergency)  लागू कर दिया है. इसके तहत सरकार द्वारा तय की गई कीमत पर खाने-पीने की चीजे लोगों को मुहैया कराने के लिए सेना को अधिकार दिया गया है. यहां मिर्च 710 रु, बींस 320 रु, गाजर 200 रु, कच्‍चा केला 120 रु, भिंडी 200 और टमाटर 200 रु प्रति किलो की दर से बिक रहे हैं.

श्रीलंका (sri lanka) में खाद्यान्‍न सामानों की कीमत में एक माह के भीतर ही करीब 15 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. देश में कई चीजों की किल्‍लत हो गई है और इसका आम जनजीवन पर सीधा असर देखा जा रहा है. टैक्‍सी ड्राइवर अनिरुद्धा परागमा ने गार्डियन न्‍यूज पेपर को बताया कि उसका परिवार आर्थिक तंगी (economic crisis) से गुजर रहा है. लोन चुकाने के लिए पर्याप्‍त धन नहीं है इसलिए उन्‍हें अपने भोजन की कटौती करनी पड़ रही है.

ये भी पढ़ें :  श्रीलंका पर अपनी पकड़ खोने से बौखलाया चीन, फिर से भारत के करीब जाता देख हुआ आग बबूला

ये भी पढ़ें : इस देश के पास नहीं पेट्रोल-डीजल खरीदने के भी पैसे, भारत से मांगे 50 करोड़ डॉलर, जानें पूरा मामला

विशेषज्ञों का कहना है कि इन हालात के पीछे श्रीलंका में कोरोना महामारी, बढ़ता सरकारी खर्च और टैक्‍स में जारी कटौती जैसे बड़े कारण जिम्‍मेदार हैं. चीन के कर्जजाल में बुरी तरह से फंसे श्रीलंका ने ड्रैगन से ऋण को पुनर्गठित करने में मदद करने का आह्वान किया है. चीन के विदेश मंत्री वांग यी की श्रीलंका यात्रा के दौरान राष्‍ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने यह मदद मांगी.

श्रीलंका ने बेहद ज्‍यादा ब्‍याज दर पर चीन से कर्ज लिया है और अब यह उसके लिए गले की फांस बन गया है. श्रीलंका को इस साल 1.5 से 2 अरब डॉलर चीन को लौटाना है. वह भी तब जब वह डॉलर के लिए तरस रहा है.  इस बीच श्रीलंका के एक सांसद ने चीनी राष्‍ट्रपति को पत्र लिखकर देश में आर्थिक हमले को बंद करने के लिए कहा है.

Tags: Economic crisis, Emergency, Sri lanka

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर