होम /न्यूज /दुनिया /मलेशिया के पूर्व PM नजीब रजाक की पत्नी रोसमा को भ्रष्टाचार के आरोप में 10 साल की सजा, जानें पूरा केस

मलेशिया के पूर्व PM नजीब रजाक की पत्नी रोसमा को भ्रष्टाचार के आरोप में 10 साल की सजा, जानें पूरा केस

अदालत ने गुरुवार को रोसमा मंसूर को सरकारी कॉन्ट्रैक्ट्स के बदले रिश्वत मांगने के आरोप में 10 साल की सजा सुनाई है. (फोटो रॉयटर्स)

अदालत ने गुरुवार को रोसमा मंसूर को सरकारी कॉन्ट्रैक्ट्स के बदले रिश्वत मांगने के आरोप में 10 साल की सजा सुनाई है. (फोटो रॉयटर्स)

मलेशिया की एक अदालत ने गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक की पत्नी रोसमा मंसूर को सरकारी कॉन्ट्रैक्ट्स के बदले रिश ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

रोसमा को रिश्वत के तीन आरोपों में 216.45 मिलियन डॉलर का जुर्माना भी देना होगा.
रोसमा इस फैसले के खिलाफ दो उच्च न्यायालयों में अपील कर सकती हैं.
2016 और 2017 के बीच रिश्वत मांगने और प्राप्त करने का आरोप है.

कुआलालंपुर. मलेशिया की एक अदालत ने गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक की पत्नी रोसमा मंसूर को सरकारी कॉन्ट्रैक्ट्स के बदले रिश्वत मांगने और रिश्वत लेने के लिए 10 साल की जेल की सजा सुनाई है. कुछ दिनों पहले ही उनके पति और पूर्व प्रधानमंत्री नजीब को भ्रष्टाचार के मामले में जेल में डाल दिया गया था.

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक कुआलालंपुर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश मोहम्मद जैनी मजलान ने कहा कि रोसमा को रिश्वत के तीन आरोपों में 970 मिलियन रिंग्गित (216.45 मिलियन डॉलर) का जुर्माना भी देना होगा. न्यायाधीश ने रोसमा की सजा पर रोक लगा दी, इसलिए रोसमा गुरुवार को जेल नहीं जाएंगी. वह इस फैसले के खिलाफ दो उच्च न्यायालयों में अपील कर सकती हैं.

फैसले के बाद रोने लगीं रोसमा 
अदालत के फैसले के बाद रोसमा रोने लगीं. रोते हुए पूर्व पीएम की पत्नी ने न्यायाधीश से कहा कि मुझे यह स्वीकार करना होगा कि आज जो हुआ उससे मैं बहुत दुखी हूं. उन्होंने आगे कहा कि किसी ने मुझे पैसे लेते हुए नहीं देखा, किसी ने मुझे पैसे गिनते नहीं देखा. लेकिन अगर यह निष्कर्ष है, तो मैं इसे भगवान पर छोड़ देती हूं. उनके वकीलों ने एक दिन की जेल की सजा मांगी थी, जबकि अभियोजकों ने “अधिकतम या अधिकतम के करीब” सजा की मांग की थी.

पूर्व प्रथम महिला, जिसे नजीब के पीछे एक शक्तिशाली व्यक्ति के रूप में देखा जाता रहा है, को मलेशिया में उनकी ऐशो आराम वाली जीवन शैली और हेमीज बिर्किन बैग के लिए व्यापक रूप से आलोचना का सामना करना पड़ा. 70 वर्षीय रोसमा ने नजीब की सरकार में 279 मिलियन डॉलर की सौर ऊर्जा आपूर्ति परियोजना को पाने में एक कंपनी की मदद करने के लिए 2016 और 2017 के बीच रिश्वत मांगने और प्राप्त करने के तीन आरोपों के लिए अदालत से दोषमुक्त करने का अनुरोध किया था.

अभियोजकों का कहना है कि रोसमा ने 187.5 मिलियन रिंग्गित (41.80 मिलियन डॉलर) की रिश्वत मांगी, और उन्होंने परियोजना पाने वाली कंपनी के एक अधिकारी से 6.5 मिलियन रिंग्गित प्राप्त किया था. रोसमा ने तर्क दिया है कि उसे उसके पूर्व सहयोगी के साथ-साथ परियोजना में शामिल कई सरकारी और कंपनी के अधिकारियों ने फंसाया है.

Tags: Malaysia, World news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें