Home /News /world /

हांगकांग यूनिवर्सिटी से हटाई गई चीन की 'पिलर ऑफ शेम' प्रतिमा, रातभर चला ऑपरेशन

हांगकांग यूनिवर्सिटी से हटाई गई चीन की 'पिलर ऑफ शेम' प्रतिमा, रातभर चला ऑपरेशन

करीब 8 मीटर ऊंची ये प्रतिमा यूनिवर्सिटी कैंपस में साल 1997 से थी. इसे पिलर्स ऑफ द शेम (Pillars Of The Shame) नाम से जाना जाता था.

करीब 8 मीटर ऊंची ये प्रतिमा यूनिवर्सिटी कैंपस में साल 1997 से थी. इसे पिलर्स ऑफ द शेम (Pillars Of The Shame) नाम से जाना जाता था.

China Tiananmen Square Victim Pillar of Shame Removed: इस प्रतिमा में 50 पीड़ित चेहरे थे. इन्हें एक दूसरे पर ढेर करके बनाया गया था. ये 1989 में तियानमेन स्क्वॉयर में चीनी सैनिकों की गोली से मारे गए प्रदर्शकारियों के प्रतीक थे. हांगकांग में इस प्रतिमा की उपस्थिति चीन की अपेक्षा हांगकांग की स्वतंत्रता का एक ज्वलंत उदाहरण थी. बता दें कि चीन में तियानमेन स्क्वॉयर से जुड़ी खबरों या फोटो को बड़ी मात्रा में सेंसर किया जाता है.

अधिक पढ़ें ...

    हांगकांग. हांगकांग (Hong Kong) के सबसे पुरानी यूनिवर्सिटी ने गुरुवार को बीजिंग के तियानमेन स्क्वॉयर (Tiananmen Square) में मारे गए लोगों की याद में बनाई गई प्रतिमा को हटा दिया. प्रतिमा को नष्ट करने के लिए रातभर ऑपरेशन चला. करीब 8 मीटर ऊंची ये प्रतिमा यूनिवर्सिटी कैंपस में साल 1997 से थी. इसे पिलर्स ऑफ द शेम (Pillars Of The Shame) नाम से जाना जाता था. 1997 में ही ब्रिटिश उपनिवेश से हांगकांग को चीन को सौंप दिया गया था.

    समाचार एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों ने प्रतिमा को कोई देख न सके, इसके लिए छत तक की चादरों और प्लास्टिक शीट का इस्तेमाल हुआ. रातभर ड्रिलिंग की आवाजें सुनी जा सकती थी.

    वो शहर जो -83 डिग्री तापमान में ठिठुरता है, कैसे रहते हैं यहां के लोग

    इस प्रतिमा में 50 पीड़ित चेहरे थे. इन्हें एक दूसरे पर ढेर करके बनाया गया था. ये 1989 में तियानमेन स्क्वॉयर में चीनी सैनिकों की गोली से मारे गए प्रदर्शकारियों के प्रतीक थे. हांगकांग में इस प्रतिमा की उपस्थिति चीन की अपेक्षा हांगकांग की स्वतंत्रता का एक ज्वलंत उदाहरण थी. बता दें कि चीन में तियानमेन स्क्वॉयर से जुड़ी खबरों या फोटो को बड़ी मात्रा में सेंसर किया जाता है.

    चोर ने रातों-रात चुरा लिया 58 फीट लंबा ब्रिज! सुबह खाली पुलिया देख जनता हैरान

    बीते दो सालों में चीन हांगकांग में हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर सतर्क हो गया है. इसलिए शी जिनपिंग सरकार हांगकांग को अपने स्वरूप में ढालना चाहती है. चीन ने यहां दो बड़े अखबारों को बंद कर दिया है. बीते अक्टूबर में यूनिवर्सिटी प्रशासन ने प्रतिमा को हटाने का आदेश दिया था.

    Tags: China, Hong kong

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर