• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • अमेरिका ने अलकायदा और ISIS का खात्मा किया, अब अफगानिस्तान से निकलने का समय: जो बाइडन

अमेरिका ने अलकायदा और ISIS का खात्मा किया, अब अफगानिस्तान से निकलने का समय: जो बाइडन

बाइडन का कहना है कि अभी काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर 6 हजार तक अमेरिकी सैनिक है.

बाइडन का कहना है कि अभी काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर 6 हजार तक अमेरिकी सैनिक है.

Taliban in Afghanistan: अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने की अमेरिका की 31 अगस्त की समय सीमा से पहले हज़ारों लोगों को अभी निकाला जाना बाकी है.

  • Share this:

    वॉशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने शुक्रवार को कहा कि काबुल हवाई अड्डा पूरी तरह से नियंत्रण में है और वहां से नागरिकों को निकालने का काम लगातार जारी है. अफगानिस्तान में जारी संकट पर व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि इस दक्षिण एशियाई देश से निकलने का समय आ गया है.

    उन्होंने कहा, ‘अमेरिका ने 20 साल अफगानिस्तान में काम किया. अलकायदा और इस्लामिक स्टेट का खात्मा किया, अब यहां से निकलने का समय है.’ इसके साथ ही उन्होंने बताया कि अब तक अफगानिस्तान से 18 हजार लोगों को निकाला जा चुका है, जबकि राहत अभियान के लिए वहां अब भी 6000 अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं.

    भारतीय राजनयिकों की काबुल में मौजूदगी चाहता था तालिबान, सुरक्षा का दिया था भरोसा: रिपोर्ट

    जो बाइडन ने कहा, ‘हम जुलाई से अब तक 18,000 से अधिक लोगों और 14 अगस्त से शुरू हुए सैन्य एयरलिफ्ट अभियान के बाद लगभग 13,000 लोगों को काबुल से निकाल चुके हैं.’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान से निकासी मिशन को खतरनाक बताते हुए कहा, ‘इसमें सशस्त्र बलों के लिए काफी जोखिम है और इसे कठिन परिस्थितियों में संचालित किया जा रहा है. मैं यह वादा नहीं कर सकता कि अंतिम परिणाम क्या होगा.’

    ब्लैक हॉक्स समेत कई एडवांस सैन्य हथियारों पर तालिबान का कब्जा, अब अमेरिका को सता रहा ये डर

    बाइडन ने अफगानिस्तान में फंसे नागरिकों की एयरलिफ्टिंग को इतिहास के सबसे बड़े और सबसे कठिन एयरलिफ्टों में से एक बताया. उन्होंने कहा, ‘हमारे पास जमीन पर लगभग 6000 सैनिक हैं जो रनवे की हिफाजत करते हैं और हवाई अड्डे के आसपास (काबुल, अफगानिस्तान में) माउंटेन डिवीजन को खड़े गार्ड और नागरिक प्रस्थान में समुद्री सहायता प्रदान करते हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘हमने हवाईअड्डे (काबुल में) को सुरक्षित किया है जिससे न केवल सैन्य उड़ानें, बल्कि अन्य देशों के नागरिक चार्टर के साथ ही नागरिकों व कमजोर अफगानियों को बाहर निकालने वाले गैर सरकारी संगठनों की उड़ानें भी फिर से शुरू हो रही हैं.

    तालिबान के लिए अभेद्य रहा पंजशीर दिलाएगा अफगानिस्तान को आजादी! हो सकती है आमने-सामने की जंग

    तालिबान के हमले से अफगानिस्तान की जेलों में बंद इस्लामिक स्टेट के कैदियों के रिहा होने पर बाइडन ने चिंता जताई और कहा कि ये आतंकी बड़ा खतरा साबित होंगे. अफगानिस्तान के वर्तमान स्थिति पर उन्होंने कहा कि इस कठिन हालात में भी नाटो काम में जुटा है और अमेरिका ने ब्रिटेन व फ्रांस जैसे अन्य सहयोगी देशों से भी बात की है.

    अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने की अमेरिका की 31 अगस्त की समय सीमा से पहले हज़ारों लोगों को अभी निकाला जाना बाकी है. हालांकि अब इस अभियान में तेजी आई है. एक रक्षा अधिकारी ने कहा कि लगभग 250 अमेरिकियों सहित लगभग 5,700 लोगों को 16 सी-17 परिवहन विमानों से काबुल से बाहर निकाला गया. पिछले दो दिनों में, लगभग 2,000 लोगों को बाहर निकाला गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज