म्यांमार जुंटा ने तख्तापलट का विरोध करने वाले पश्चिमी कस्बे पर हमला किया

फोटो सौ. (Reuters)

फोटो सौ. (Reuters)

म्यांमार (Myanmar) में अमेरिका और ब्रिटेन (America And Britain) के दूतावासों ने पश्चिमी चिन राज्य में एक कस्बे पर सरकार की तरफ से किये गए भीषण हमलों की खबरों पर चिंता जाहिर की है.

  • Share this:

बैंकॉक. म्यांमार (Myanmar) में अमेरिका और ब्रिटेन (America And Britain) के दूतावासों ने पश्चिमी चिन राज्य में एक कस्बे पर सरकार की तरफ से किये गए भीषण हमलों की खबरों पर चिंता जाहिर की है जहां सत्तारूढ़ जुंटा ने सैन्य शासन के खिलाफ सशस्त्र विद्रोह के कारण ‘मार्शल लॉ’ घोषित कर दिया है. चिनलैंड डिफेंस फोर्स के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह संघर्ष शनिवार को सुबह छह बजे से शुरू हुआ जब सरकारी सैनिकों ने हेलिकॉप्टर के माध्यम से मिनदात कस्बे के पश्चिमी हिस्से में गोलाबारी की जिससे कई घर तबाह हो गए.

चिनलैंड डिफेंस फोर्स आंग सान सू ची की निर्वाचित सरकार को सत्ता से बेदखल करने वाले फरवरी के तख्तापलट के खिलाफ स्थानीय तौर पर बनाया गया मिलिशिया समूह है. प्रवक्ता ने सुरक्षा कारणों से नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि हमले में हेलिकॉप्टरों ने भी हिस्सा लिया था. चिन मानवाधिकार संगठन ने एक बयान में कहा, “मिनदात कस्बे में अब घेराबंदी है और जुंटा सैनिकों द्वारा हवा एवं जमीन से हर तरीके से हमले का शिकार हो रहा है.”

ये भी पढ़ें: नेपाल में फंसे विदेशी नागरिकों को राहत, स्पेशल फ्लाइट्स चलाने की मिली मंजूरी

सांसदों द्वारा गठित छद्म नेशनल यूनिटी सरकार ने चेतावनी दी है कि, “अगले 48 घंटों में, मिनदात संभवत: युद्धभूमि में तब्दील हो सकता है और हजारों लोग विस्थापित होने के खतरे का सामना कर रहे हैं.”

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज