• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • कई अफगानों की मौत का जिम्मेदार आतंकी बना काबुल यूनिवर्सिटी का VC, अलकायदा और लश्कर से भी है अच्छा रिश्ता

कई अफगानों की मौत का जिम्मेदार आतंकी बना काबुल यूनिवर्सिटी का VC, अलकायदा और लश्कर से भी है अच्छा रिश्ता

तालिबान ने एक आतंकी को  काबुल विश्वविद्यालय का नया वीसी नियुक्त किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

तालिबान ने एक आतंकी को काबुल विश्वविद्यालय का नया वीसी नियुक्त किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Kabul University New Vice Chancellor: अशरफ़ ग़ैरत के पाकिस्तानी खुफ़िया एजेंसी ISI, अल कायदा, लश्कर ए तैय्यबा और आर्मी ऑफ मोहम्मद से अच्छे रिश्ते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. सिराजुद्दीन हक़्क़ानी समेत जिस तालिबान सरकार के कई मंत्री अमेरिका की मोस्ट वांटेड लिस्ट में हो, उससे और क्या ही उम्मीद की जा सकती है. तालिबान की सरकार में हक़्क़ानी नेटवर्क का दबदबा है और हक़्क़ानी नेटवर्क ISI के हाथों की कठपुतली है. लिहाज़ा एक साजिश के तहत हक़्क़ानी नेटवर्क के एक सदस्य और ISI के गुर्गे को काबुल यूनिवर्सिटी का वाइस चांसलर (VC) बनाया गया है.

सीनियर काउंटर टेरर एक्सपर्ट डॉक्टर ऋतुराज माटे के मुताबिक “काबुल यूनिवर्सिटी को एक रेडिकल सेंटर में तब्दील करने,अफ़ग़ानिस्तान के युवाओं को कट्टरपंथी बनाने और उनका ब्रेनवॉश करने के मक़सद से तालिबान ने हक़्क़ानी नेटवर्क के एक खास सदस्य को काबुल यूनिवर्सिटी का वाईस चांसलर बनाया है.”

अफगानिस्तान में बच्चे बेचने को मजबूर गरीब परिवार, मार्केट में लगा रहे बोली, VIDEO वायरल

इस शख्स का नाम अशरफ़ ग़ैरत है. इसकी उम्र 45 साल के करीब बताई जाती है. सैकड़ों स्टिकी बम/मेग्नेटिक IED के इस्तेमाल के जरिए इस शख्स को अफगानिस्तान के कई पढ़े लिखे युवाओं की जान लेने का जिम्मेदार माना जाता है. अशरफ़ ग़ैरत के पाकिस्तानी खुफ़िया एजेंसी ISI, अल कायदा, लश्कर ए तैय्यबा और आर्मी ऑफ मोहम्मद से अच्छे रिश्ते हैं.

अफगानिस्तान में बिगड़े हालात, तालिबान ने शख्स को पब्लिकली मारकर लटकाया, VIDEO वायरल

अशरफ को VC बनाने के पीछे तालिबान का मकसद काबुल यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से आये स्टूडेंट्स का ब्रेनवॉश करना है, ताकि वो यहां से वापस अपने देश जाकर वहां की सरकार को चुनौती दे सकें.

अफगानिस्तान में जिस तरह से हालात लगातार बदल रहे हैं, उससे ये साफ हो चुका है कि हक़्क़ानी नेटवर्क भी अल कायदा और ISIS जैसे आतंकी संगठनों की तरह ही Global  Khalifate बनाना चाहता है और अशरफ़ ग़ैरत जैसे लोगों को इसी मक़सद से शिक्षण संस्थानों की कमान सौंपी जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज