अफगानिस्तान: तालिबान का दावा- ईरानी सीमा से सटे व्यापार के सबसे बड़े इलाके पर जमाया कब्जा

ताजिकिस्तान (Tajikistan) और उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) के साथ लगने वाली सीमा पर कब्जा करने के बाद यह पिछले एक हफ्ते में तालिबान द्वारा कब्जा की गई तीसरी सीमा है.

एक अफगान अधिकारी ने कहा कि तालिबान ने गुरुवार को पश्चिमी हेरात प्रांत (Herat province) में इस्लाम कला क्रॉसिंग प्वाइंट पर कब्जा कर लिया. हेरात में मौजूद एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर इसकी जानकारी दी.

  • Share this:
    काबुल. अफगानिस्तान में हालात हर दिन खराब होते जा रहे हैं. अमेरिकी सैनिकों (US Troops) के अफगानिस्तान (Afghanistan) छोड़ने के ऐलान होने के बाद से तालिबान (Taliban) तेजी से देश के कई इलाकों पर अपनी पकड़ मजबूत करने में जुटा है. एक अफगान अधिकारी (Afghan official) और ईरानी मीडिया (Iranian media) के मुताबिक, तालिबान ने गुरुवार को ईरान (Iran) के साथ लगने वाली एक और महत्वपूर्ण अफगान सीमा (Afghan border) पार कर ली.

    न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, एक अफगान अधिकारी ने कहा कि तालिबान ने गुरुवार को पश्चिमी हेरात प्रांत (Herat province) में इस्लाम कला क्रॉसिंग प्वाइंट पर कब्जा कर लिया. हेरात में मौजूद एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर इसकी जानकारी दी.

    लीथियम-गोल्ड से लेकर यूरेनियम तक, अफगानिस्तान में है 1 ट्रिलियन खजाना

    तालिबान ने की इस्लाम कला पर कब्जा करने की पुष्टि 
    तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद (Zabihullah Mujahid) ने इस्लाम कला को कब्जे में लेने की पुष्टि की और ट्वीट कर कहा कि तालिबान लड़ाके इस्लाम कला शहर में प्रवेश कर चुके हैं. स्थानीय निवासियों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया है. मुजाहिद ने एक वीडियो भी पोस्ट किया जिसमें तालिबान के लड़ाकों को इस्लाम कला में ट्रकों के पीछे सवार होकर और जश्न में हवा में गोली चलाते हुए देखा गया.

    अफगान सैनिक अपने पॉजिशन छोड़कर भागे
    ईरानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लाम कला के सीमावर्ती क्षेत्र में अफगान सैनिक अपने पॉजिशन छोड़कर भाग गए. वो ईरान में शरण लेने के लिए चले गए. इस्लाम कला अफगानिस्तान और ईरान एक प्रमुख पारगमन मार्ग है. ये क्रॉसिंग प्रांतीय राजधानी हेरात शहर के पश्चिम में लगभग 120 किलोमीटर (75 मील) की दूरी पर है.

    अमेरिकी सैन्य मिशन 31 अगस्त तक होगा खत्म
    ताजिकिस्तान (Tajikistan) और उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) के साथ लगने वाली सीमा पर कब्जा करने के बाद यह पिछले एक हफ्ते में तालिबान द्वारा कब्जा की गई तीसरी सीमा है. तालिबान द्वारा ये कार्रवाई ऐसे समय पर की गई है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने कहा है कि अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्य मिशन 31 अगस्त को समाप्त हो जाएगा.

    अफगानिस्तान में फिर से फैल रहा तालिबान का आतंक, भारत ने लिया ये बड़ा फैसला

    कई देशों ने अफगानिस्तान में बंद किए वाणिज्य दूतावास
    तालिबान की जीत ने कुछ देशों को अफगानिस्तान में अपने वाणिज्य दूतावासों को बंद करने पर मजबूर कर दिया है. वहीं, ताजिकिस्तान ने अफगानिस्तान से लगने वाली सीमा पर निगरानी बढ़ाने का आदेश दिया है. अमेरिका और NATO सैनिकों की वापसी के बाद से ही अफगानिस्तान में तालिबान का आतंक बढ़ गया है. अभी तक 90 फीसदी अमेरिकी सैनिकों की वापसी हो चुकी है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.