• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • अफगानिस्तान में गायब हुआ 2000 साल पुराना सोने का खजाना, पागलों की तरह ढूंढ रहा तालिबान

अफगानिस्तान में गायब हुआ 2000 साल पुराना सोने का खजाना, पागलों की तरह ढूंढ रहा तालिबान

2000 साल पुराने खजाने के लेकर चर्चा है (TOLO NEWS)

2000 साल पुराने खजाने के लेकर चर्चा है (TOLO NEWS)

जिसे तालिबान ढूंढ रहा है. यह प्राचीन बैक्ट्रियन खजाना (Bactrian treasure) है, जिसमें गोल्ड (Gold) की चीजें हैं. चार दशक पहले इस खजाने की खोज अफगानिस्तान के टेला टापा रीजन (Tela Tapa area) में हुई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) में नियंत्रण के बाद से तालिबान निजाम (Taliban government) के लिए देश को चलाना एक चुनौती से कम नहीं है. ऐसे में एक 2000 साल पुराने खजाने के लेकर चर्चा है, जिसे तालिबान ढूंढ रहा है. यह प्राचीन बैक्ट्रियन खजाना (Bactrian treasure) है, जिसमें गोल्ड (Gold) की चीजें हैं. चार दशक पहले इस खजाने की खोज अफगानिस्तान के टेला टापा रीजन (Tela Tapa area) में हुई थी.

    कल्चरल कमिशन के डिप्टी हेड अहमदुल्लाह वासिक (Ahmadullah Wasiq) ने टोलो न्यूज (Tolo news) को बताया कि उन्होंने इस खजाने की खाेज के लिए संबंधित विभाग को टास्क दे दिया है. ये जांच का विषय है कि आखिर बैक्ट्रियन खजाना अफगानिस्तान में है या फिर उसे बाहर ले जाया जा चुका है. अगर ऐसा है तो ये राजद्रोह होगा. तालिबान इस पर गंभीर कार्रवाई करेगा.

    क्या है बैक्ट्रियन खजाने में?
    नेशनल जियोग्राफिक के मुताबिक, बैक्ट्रियन खजाने में प्राचीन दुनिया भर से हजारों सोने के टुकड़े होते हैं और यह पहली शताब्दी ईसा पूर्व से पहली शताब्दी ईसवी तक छह कब्रों के अंदर पाए गए थे. इन कब्रों में 20,000 से अधिक वस्तुएं थीं, जिनमें सोने की अंगूठियां, सिक्के, हथियार, झुमके, कंगन, हार, हथियार और मुकुट शामिल थे. सोने के अलावा इनमें से कई को फिरोजा, कारेलियन और लैपिस लाजुली जैसे कीमती पत्थरों से तैयार किया गया था.

    पुरातत्वविदों किस चीज ने हैरत में डाला
    एक्सपर्ट्स का मानना है कि कब्रें छह अमीर एशियाई खानाबदोशों की थीं, जिनमें पांच महिलाएं और एक पुरुष शामिल है. नेशनल जियोग्राफिक ने 2016 में कहा था कि उनके साथ मिली 2,000 साल पुरानी कलाकृतियां सौंदर्य प्रभावों (फारसी से शास्त्रीय ग्रीक तक) का एक दुर्लभ मिश्रण प्रदर्शित करती हैं. बड़ी संख्या में कीमती वस्तुओं, विशेष रूप से छठे मकबरे में पाया गया जटिल सुनहरा मुकुट ने पुरातत्वविदों को आश्चर्यचकित कर दिया था. बैक्ट्रियन खजाना अफगानिस्तान की एक महत्वपूर्ण धरोहर है, जिसे फरवरी 2021 में राष्ट्रपति भवन में लोगों के देखने के लिए खोल दिया था और लोगों के लिए प्रदर्शित किया गया था.

    ऐतिहासिक स्मारकों के संरक्षण देगा तालिबान
    वासिक ने कहा है कि प्राचीन और ऐतिहासिक स्मारकों के संरक्षण पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ जो भी अनुबंध किया गया है, वह यथावत रहेगा. टोलो न्यूज के अनुसार, वासिक ने यह भी कहा कि उनके आंकलन से पता चलता है कि राष्ट्रीय संग्रहालय, राष्ट्रीय संग्रह और राष्ट्रीय गैलरी और अन्य ऐतिहासिक और प्राचीन स्मारकों की वस्तुएं अपनी जगहों पर सुरक्षित हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज