Home /News /world /

काबुल: तालिबान ने एक और गुरुद्वारे में की तोड़फोड़, कई लोगों को बंधक बनाया

काबुल: तालिबान ने एक और गुरुद्वारे में की तोड़फोड़, कई लोगों को बंधक बनाया

तालिबान आतंकियों ने गुरुद्वारे में मौजूद कई लोगों को बंधक बना लिया. (तस्वीर-ANI)

तालिबान आतंकियों ने गुरुद्वारे में मौजूद कई लोगों को बंधक बना लिया. (तस्वीर-ANI)

बंदूकधारियों के अज्ञात समूह ने कर्ते परवान गुरुद्वारे (Karte Parwan Gurudwara) में तोड़फोड़ की है. इन हमलावरों ने गुरुद्वारे में मौजूद लोगों को बंधक बना लिया. हमलावरों ने सीसीटीवी कैमरे तोड़ दिया और हरतरफ तोड़फोड़ की.

    काबुल. अफगानिस्तान की सत्ता पर काबिज होने के बाद भले ही तालिबान (Taliban) बार-बार दुनिया को अपना नर्म चेहरा दिखाने की कोशिश कर रहा है लेकिन सच्चाई सामने आ ही जाती है. राजधानी काबुल (Kabul) से मंगलवार को एक और गुरुद्वारे में तोड़फोड़ और लोगों को बंधक बनाए जाने की खबर सामने आई है. काबुल के कर्ते परवान स्थित गुरुद्वारे में सशस्त्र अज्ञात तालिबानियों के एक समूह ने तोड़फोड़ की. प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरुद्वारे में मौजूद कई लोगों को बंधक बना लिया गया.

    इंडियन वर्ल्ड फोरम के अध्यक्ष पुनीत सिंह चंडोक ने कहा है-मैंने काबुल से बेहद चिंताजनक खबरें सुनी हैं. बंदूकधारियों के अज्ञात समूह ने कर्ते परवान गुरुद्वारे में तोड़फोड़ की है. इन हमलावरों ने गुरुद्वारे में मौजूद लोगों को बंधक बना लिया. हमलावरों ने सीसीटीवी कैमरा तोड़ दिया और हरतरफ तोड़फोड़ की.

    इससे पहले गुरुद्वारे से निशान साहेब हटा दिया था
    कर्ते परवान गुरुद्वारा काबुल के दक्षिणपश्चिमी हिस्से में स्थित है. इससे पहले अफगानिस्तान के पूर्वी हिस्से में तालिबानियों द्वारा एक गुरुद्वारे से पवित्र निशान साहेब हटाए जाने की खबरें आई थीं. देश के पाकिता स्थित इलाके में मौजूद इस गुरुद्वारे में एक बार गुरु नानक ने भी यात्रा की थी.

    अल्पसंख्यकों पर हमले की आती रही हैं खबरें
    तालिबान के सत्ता पर काबिज होने के बाद से अल्पसंख्यक समुदाय पर अत्याचार की खबरें अक्सर सामने आती रही हैं. हालांकि तालिबान की टॉप लीडरशिप की तरफ से दुनिया को बार-बार भरोसा दिया गया कि वो अल्पसंख्यकों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएंगे. इसी तरह तालिबान शासन में महिलाओं की स्थिति को लेकर भी दुनियाभर में चिंता जाहिर की जा रही है. शासन आने के साथ ही महिलाओं पर कट्टरपंथी संगठन ने कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं. यही कारण है कि देशभर में महिलाओं ने सड़कों पर निकलकर इसके खिलाफ प्रदर्शन भी किया है.

    Tags: Kabul, Sikh Community

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर