अमेरिकी सैन्‍य बेस की इजाजत के खिलाफ तालिबान ने पड़ोसी देशों को धमकाया

तालिबान ने बयान जारी करके चेतावनी दी. (File pic)

तालिबान ने बयान जारी करके चेतावनी दी. (File pic)

Taliban: ऐसा उन रिपोर्ट के बाद हुआ है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि पाकिस्‍तान अमेरिका के साथ एक ऐसी डील कर रहा था.

  • Share this:

काबुल. अमेरिकी सेना (US Military) अब अफगानिस्‍तान (Afghanistan) से लौट रही है. इस बीच तालिबान (Taliban) ने बुधवार को पड़ोसी देशों को अमेरिका को अपने यहां सैन्‍य बेस (US Military Base) बनाने की इजाजत देने के खिलाफ धमकाया है. ऐसा उन रिपोर्ट के बाद हुआ है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि पाकिस्‍तान अमेरिका के साथ एक ऐसी डील कर रहा था.

अफगानी मीडिया के अनुसार तालिबान ने एक बयान के जरिये यह चेतावनी जारी की है. यह चेतावनी अमेरिका की ओर से अफगानिस्‍तान के पड़ोसी देशों में आतंकवादियों के खिलाफ नए सैन्‍य बेस बनाने को लेकर बनाई जा रही योजना को लेकर दी गई है. बता दें कि अमेरिका 11 सितंबर तक अफगानिस्‍तान से अपनी सेना को वापस बुला रहा है.

अफगान ऑनलाइन प्रेस के मुताबिक अफगानिस्‍तान में अमेरिकी सैन्‍य प्रवक्‍ता सोनी लेजेट ने कहा है कि अमेरिका की ओर से पाकिस्‍तान में सैन्‍य बेस बनाने संबंधी खबरें झूठी हैं.

इस बीच पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पाकिस्तानी सीनेट में मंगलवार को कहा कि उनका मुल्क अपनी धरती पर अमेरिका के अड्डे नहीं बनने देगा. उन्होंने कहा, 'अतीत को भूल जाएं, लेकिन मैं पाकिस्तानियों से कहना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री इमरान खान जब तक सत्ता में हैं वह अमेरिकी अड्डे को इजाजत नहीं देंगे.'


अप्रैल में राष्ट्रपति जो बाइडन ने अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध को खत्म करने का ऐलान किया था. एक बयान में तालिबान ने पड़ोसी देशों को अमेरिका को सैन्य अड्डा बनाने की इजाजत देने के खिलाफ चेताया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज