स्पेन के पूर्व किंग ने दुबई में बनाया ठिकाना, वित्तीय धांधली का चल रहा है मामला

स्पेन के पूर्व किंग ने दुबई में बनाया ठिकाना, वित्तीय धांधली का चल रहा है मामला
स्पेन के पूर्व किंग जुआन कार्लोस दबई में रूके हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 8:17 AM IST
  • Share this:
मेड्रिड/दुबई. स्पेन के पूर्व राजा जुआन कार्लोस (Former King Juan Karlos) दुबई के एमिरात पैलेस होटल में रूके हुए हैं. जुआन सोमवार को स्पेन छोड़ने के बाद एक प्राइवेट जेट (Private Jet) में दुबई पहुंचे. उनपर एक वित्तीय धांधली (Financial Scam) का आरोप का मामला चल रहा है जिसमें सउदी अरब भी शामिल है. यह जानकारी एबीसी न्यूज ने दी.

स्पेन में इस बात को लेकर मंगलवार को अटकलबाजियों का बाजार गर्म हो गया कि देश के पूर्व राजा जुआन कार्लोस कहां हैं? वित्तीय घोटाले की जांच के बीच एक दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि वह देश छोड़ कर जा रहे हैं. शाही परिवार की वेबसाइट पर सोमवार को प्रकाशित एक पत्र से यह जानकारी मिली है जिसे जुआन कार्लोस ने अपने बेटे राजा फिलीप षष्टम को लिखा है. पत्र में उन्होंने कहा कि मैं तुम्हें इस दौर में स्पेन से बाहर जाने के फैसले की जानकारी दे रहा हूं.

स्पेन और स्विट्जरलैंड में चल रही है उनपर जांच



उन्होंने कहा कि वह अपने निजी जीवन की कुछ खास घटनाओं की सार्वजनिक प्रतिक्रिया के तहत यह फैसला ले रहे हैं. उन्होंने पत्र में कहा है कि वह अपने बेटे के लिए मुश्किलें नहीं खड़ी करना चाहते हैं. जुआन कार्लोस स्पेन और स्विट्जरलैंड में आधिकारिक जांच के दायरे में हैं. जांचकर्ता संभावित वित्तीय धोखाधड़ी की जांच कर रहे हैं.
दुबई में ठहरे हुए हैं जुआन कार्लोस

कार्लोस की इस घोषणा से स्पेन के ज्यादातर लोग अचंभित हैं. न तो शाही परिवार ने और न ही सरकार ने उनके ठिकाने की जानकारी दी है. समाचार पत्र ‘एबीसी’ ने मंगलवार को बताया था कि कार्लोस रविवार को स्पेन से जा चुके हैं और वह पड़ोसी देश पुर्तगाल के पोर्टो से हो कर डोमिनिकन रिपब्लिक गए हैं. वहीं ‘ला वैनगार्डिया’ का कहना है कि कार्लोस अस्थायी तौर पर कैरिबियाई देश में थे. लेकिन ‘अल कॉन्फिडेनशियल‘ अखबार का कहना है कि वह पुर्तगाल में हो सकते हैं क्योंकि यहां उन्होंने अपना बचपन व्यतीत किया था या फिर वह फ्रांस या इटली में हो सकते हैं, जहां उनके परिवार के सदस्य और दोस्त हैं. हालांकि अब एबीसी ने बताया कि वे दुबई में ठहरे हुए हैं.

ये भी पढ़ें: लेबनान के राष्ट्रपति ने कहा-बेरूत विस्फोट में बाहरी हाथ, यूएन ने स्वतंत्र जांच की मांग की

भोपाल गैस त्रासदी के लिए आजतक किसी को नहीं ठहराया जिम्मेदार: पूर्व ब्रिटिश उच्चायुक्त

पूर्व राजा को 1975 में तानाशाह फ्रांसिस्को फ्रैंकों की मौत के बाद स्पेन में शांतिपूर्ण तरीके से लोकतंत्र बहाल का श्रेय दिया जाता है. स्पेन में उच्चतम न्यायालय ने इस साल की शुरुआत में इस संबंध में जांच शुरू की थी। स्पेन के मीडिया में अलग से स्विट्जरलैंड की जांच के बयान छपे थे जिसमें यह आरोप लगाया गया था कि सऊदी अरब के दिवंगत शाह अब्दुल्ला ने जुआन कार्लोस को लाखों डॉलर दिए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading