लाइव टीवी

14 साल की लड़की से 4 लोगों ने किया गैंगरेप, कोर्ट ने कहा- लड़की थी 'बेहोश' तो नहीं हुआ रेप


Updated: November 2, 2019, 4:53 PM IST
14 साल की लड़की से 4 लोगों ने किया गैंगरेप, कोर्ट ने कहा- लड़की थी 'बेहोश' तो नहीं हुआ रेप
स्पेन में एक लड़की के गैंग रेप के फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं (News18 क्रिएटिव)

इस फैसले में कहा गया है कि आरोपियों के अपराध को गैंगरेप (Gang Rape) नहीं कहा जा सकता है क्योंकि लड़की इसके दौरान शराब और ड्रग्स (Alcohol and Drugs) के नशे के चलते बेहोश थी. इसके चलते आरोपियों ने उसके साथ हिंसा या जबरदस्ती (Violence or Intimidation) नहीं की.

  • Last Updated: November 2, 2019, 4:53 PM IST
  • Share this:
बार्सिलोना (स्पेन). स्पेन (Spain) में लोगों के बीच एक गैंगरेप (Gang Rape) केस पर आए फैसले के बाद काफी गुस्सा है. लोग इस फैसले के खिलाफ अपने गुस्से का इजहार विरोध प्रदर्शनों के जरिए कर रहे हैं. इस मामले में रेप के आरोपियों को इस आधार पर बरी कर दिया गया है कि जिस 14 साल की लड़की (Minor Girl) के रेप का आरोप उन पर था, वह लड़की रेप (Rape) के समय बेहोश थी.

बार्सिलोना (Barcelona) की एक कोर्ट ने गुरुवार को इस मामले में फैसला सुनाते हुए इन चार लोगों को यौन शोषण (Sexual Assault) का आरोपी माना जबकि उन्‍होंने गैंगरेप किया था. उन्हें मात्र 10 से 12 साल की सजा सुनाई जबकि गैंगरेप के मामले में सख्‍त सजा का प्रावधान है. इसके अलावा उन पर 12,000 यूरो यानि करीब 9 लाख 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.

स्पेन के उप प्रधानमंत्री ने दिए कानून में बदलाव किए जाने के संकेत
इस फैसले में कहा गया है कि आरोपियों के अपराध को बलात्कार नहीं कहा जा सकता है क्योंकि लड़की इसके दौरान शराब और ड्रग्स (Alcohol and Drugs) के चलते बेहोश थी. इसके चलते आरोपियों ने उसके साथ हिंसा या जबरदस्ती नहीं की. स्पेन के कानून के मुताबिक बलात्कार के अपराध को सिद्ध करने के लिए ऐसी परिस्थितियां होना जरूरी है.

स्पेन (Spain) के उप प्रधानमंत्री, कारमेन काल्वो ने इस मामले में कहा है कि भले ही सरकार कोर्ट के फैसले पर कुछ भी न कहे लेकिन इसने कानून में बदलावों को अपनी प्राथमिकता में शामिल कर लिया है. ताकि कानूनी रूप से यह साफ किया जा सके कि शारीरिक संबंध बनाए जाने के लिए सहमति का होना जरूरी है.

एक खाली फैक्ट्री में शराब पीने गए थे चार लड़के और लड़की
यह बलात्कार की घटना 2016 की है. बार्सिलोना के पास मनरेसा नाम के कस्बे का ये मामला है. यहां पर एक खाली पड़ी फैक्ट्री (Abandoned Factory) में लड़के इस लड़की को लेकर शराब पीने के लिए गए हुए थे.
Loading...

कोर्ट ने कहा है कि रेप की शिकार लड़की रेप के दौरान बेहोश थी जो वह शारीरिक संबंधों (Sexual Relations) को स्वीकार या अस्वीकार नहीं कर सकती थी. और साथ ही जिन लड़कों ने लड़की का रेप किया उन्होंने भी उसके साथ किसी जोर-जबरदस्ती या हिंसा का प्रयोग नहीं किया.

स्पेन में चारों ओर हो रही है आलोचना
बार्सिलोना के मेयर ने भी इस फैसले की आलोचना की है और इसे एक बुद्धिहीन फैसला कहा है. उन्होंने इस घटना को साफ गैंगरेप (Gang Rape) बताया है. स्पेन में महिला अधिकारों (Women Rights) के एक ग्रुप की सदस्य मारिसा सोलेटो ने कहा है कि यह एक और सुबूत है कि कानून में बदलाव किया जाना चाहिए.

साल 2017 में आए एक ऐसे ही फैसले के खिलाफ बड़े स्तर पर तब विरोध प्रदर्शन हुए थे. इसमें पमप्लोना नाम के शहर में रेप के आरोप के पांच आरोपियों को रेप के अपराध से बरी करते हुए सिर्फ यौन शोषण का अपराधी बताया गया था. हालांकि इस मामले में बाद में स्पेन की सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने उन्हें रेप का आरोपी माना था.

यह भी पढ़ें: महिला ने घर में पाल रखे थे 140 सांप, अब अजगर में लिपटी मिली लाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 4:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...